इंग्लैंड में टीम इंडिया का ड्राइवर बोला- मैं सुरेश रैना का अहसानमंद; ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर तो रात भर शराब पीते थे

एक घटना का जिक्र करते हुए गुडविन कहते हैं- मैं सुरेश रैना को कभी नहीं भूल सकता। उन्होंने बुरे वक्त पर मेरी मदद की थी।

DainikBhaskar.com| Last Modified - Jul 24, 2018, 10:50 AM IST

Indian team bus driver reveals interesting stuff about Dhoni, Kohli, Tendulkar, Raina
इंग्लैंड में टीम इंडिया का ड्राइवर बोला- मैं सुरेश रैना का अहसानमंद; ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर तो रात भर शराब पीते थे

मुंबई. इंग्लैंड के दौरे पर गई टीम इंडिया 1 अगस्त से टेस्ट सीरीज में उतरने जा रही है। विराट कोहली की कप्तानी वाली ये टीम यहां टी 20 सीरीज जीती जबकि वनडे में उसे 2-1 से हार का सामना करना पड़ा। टीम इंडिया को एक शहर से दूसरे शहर और एक मैदान से दूसरे मैदान तक ले जाने की जिम्मेदारी है उसके बस ड्राइवर जेफ गुडविन पर। उन्होंने एक इंटरव्यू में टीम इंडिया को दुनिया की सबसे अनुशासित टीम बताया है। गुडविन ने बीते वक्त को याद करते हुए कहा कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी को रात 2 बजे तक शराब ही पीते रहते थे। एक घटना का जिक्र करते हुए गुडविन कहते हैं- मैं सुरेश रैना को कभी नहीं भूल सकता। उन्होंने बुरे वक्त पर मेरी मदद की थी।

टीम इंडिया का रवैया दोस्ताना
- जेफ ने बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया (BCCI) के टीवी चैनल को एक इंटरव्यू दिया है। इसमें उन्होंने टीम के प्रोफेशनलिज्म की सराहना की है। गुडविन ने मदद के लिए सुरैश रैना का भी शुक्रिया अदा किया है। जेफ ने कहा- मैं इस टीम को बहुत पसंद करता हूं। सभी को बर्ताव बहुत दोस्ताना है। इतना ही नहीं वो बहुत प्रोफेश्नल भी हैं। अब क्रिकेट में काफी बदलाव हो गए। मेरे वक्त जो क्रिकेट था, वो अब नहीं है। ऑस्ट्रेलियाई खेल के बाद पूरे वक्त शराब पीते रहते थे। वो अपने चेंजिंग रूम या ड्रेसिंग रूम में ही रात 2 बजे तक रहते थे। लेकिन, अब इतना नहीं होता। 

1999 से टीम इंडिया के ड्राइवर
- गुडविन वर्ल्ड कप 1999 से ही टीम इंडिया के बस ड्राइवर हैं। जेफ के मुताबिक- एक बार मेरी पत्नी काफी बीमार पड़ गई थीं। उस वक्त सुरेश रैना लीड्स में थे। रैना ने मुझे अपनी जर्सी नीलामी के लिए देकर आर्थिक मदद की थी। मैं उस घटना को कभी नहीं भूल सकता। 
- गुडविन का एक बेटा है और वो भी कई टीमों को अपनी सेवाएं देता है। जेफ बताते हैं कि सचिन तेंडुलकर हमेशा ड्राइवर के ठीक पीछे वाली सीट पर ही बैठा करते थे। सचिन जेफ के बेटे से अकसर कहा करते थे कि तुम्हारे पिता बहुत बड़े स्टार हैं। जेफ के मुताबिक- स्टार तो मेरा बेटा 21 साल की उम्र में ही बन गया था। भारत सरकार ने मुझे और मेरे बेटे को एक धन्यवाद पत्र भेजा था। 

 

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now