फीफा: मेजबान रूस ने किए सबसे ज्यादा 95 फाउल, 6 यलो कार्ड मिले; कोलंबिया सबसे अनुशासनहीन टीम

टूर्नामेंट में अब तक 4 रेड कार्ड दिए गए हैं। 1982 के बाद यह पहला विश्वकप है, जिसमें 5 से कम रेड कार्ड दिए गए।

DainikBhaskar.com| Last Modified - Jul 09, 2018, 02:48 PM IST

1 of
Football World Cup Records Host Russia made the most fouls

- फाउल करने में क्रोएशिया दूसरे नंबर पर, उसने 78 फाउल किए

- कोलंबिया के कार्लोस सांचेज और स्विट्जरलैंड के माइकल लांग को रेड कार्ड दिया गया है

 

 

मॉस्को. फुटबॉल विश्वकप में इस बार 32 टीमें थीं। टूर्नामेंट 14 जून को शुरू हुआ था। अब 4 टीमें बची हैं। इनके बीच सोमवार और मंगलवार को दो सेमीफाइनल होंगे। अब तक हुए मैचों की बात करें तो कोलंबिया सबसे अनुशासनहीन टीम के रूप में सामने आई। उनके 1 खिलाड़ी को रेड और 9 खिलाड़ियों को यलो कार्ड दिए गए। हालांकि, स्विट्जरलैंड के खिलाड़ियों को भी इतनी ही संख्या में रेड और यलो कार्ड दिए गए, लेकिन कम फाउल के कारण उसके ऊपर यह दाग लगने से बच गया।

फाउल करने के मामले में रूस अव्वल रही। उसके खिलाड़ियों ने 95 फाउल किए। इनमें से एक पेनाल्टी में भी बदला। क्वार्टर फाइनल में क्रोएशिया के हाथों हारने वाले रूस के 6 खिलाड़ियों को यलो कार्ड दिखाए गए। उसके मिडफील्डर यूरी गैजिनस्काई को 2 बार यलो कार्ड दिखाया गया। 


क्रोएशिया के हिस्से में सबसे ज्यादा यलो कार्ड : इस विश्वकप में क्रोएशिया के 12 खिलाड़ियों को अब तक यलो कार्ड दिए जा चुके हैं। 11 जुलाई को सेमीफाइनल में उसका इंग्लैंड से मुकाबला होना है। क्रोएशिया के खिलाड़ियों ने 78 फाउल किए। एक फाउल पेनल्टी में भी बदला। इस विश्वकप में जिन टीमों को अब तक दहाई के अंकों में यलो कार्ड दिखाए गए, उनमें क्रोएशिया के अलावा अर्जेंटीना, पनामा और दक्षिण कोरिया भी शामिल हैं। अर्जेंटीना और पनामा के 11-11 और दक्षिण कोरिया के 10 खिलाड़ियों को यलो कार्ड दिखाए गए। तीनों ही टीमों के 2-2 खिलाड़ियों को 2-2 बार यलो कार्ड भी दिखाए गए। 

 

सऊदी अरब को मिला सिर्फ 1 यलो कार्ड : इस विश्वकप में सऊदी अरब को सबसे कम यलो कार्ड मिले। उसके मिडफील्डर तासीर अल-जासिम को ही यलो कार्ड दिया गया। कम फाउल करने के मामले में उसकी टीम दूसरे स्थान पर है। उसके खिलाड़ियों ने 30 फाउल किए। सऊदी अरब ने 3 मैच खेले, इस दौरान उसके खिलाफ खेलने वाली टीमों के खिलाड़ियों ने 45 फाउल किए। वहीं, 3 मैच में 2 यलो कार्ड पाने वाली जर्मनी की ओर से सबसे कम 29 फाउल किए गए। हालांकि, 2 बार यलो कार्ड मिलने के कारण उसके डिफेंडर जेरोम बोटेंग का यह कार्ड रेड में बदल गया। सबसे कम यलो कार्ड मिलने के मामले में स्पेन नंबर दो पर है। स्पेन के 2 खिलाड़ियों को यलो कार्ड दिए गए, जबकि उसके खिलाड़ियों ने 34 फाउल किए। हालांकि, उसके 2 फाउल पेनल्टी में बदले। मिस्र ऐसी टीम रही है, जिसके खिलाफ सबसे कम फाउल किए गए। उसने 3 मैच खेले और उसकी प्रतिद्वंद्वी टीमों की ओर से 21 फाउल किए गए।

 

रूस और जर्मनी के यलो कार्ड रेड में बदले

टीम मैच खेले यलो कार्ड रेड कार्ड फाउल दूसरा यलो कार्ड जो रेड में बदला
कोलंबिया 4 9 1 63 0
स्विट्जरलैंड 4 9 1 53 0
रूस 5 6 0 95 1
जर्मनी 3 2 0 29 1
क्रोएशिया 5 12 0 78 0
अर्जेंटीना 4 11 0 55 0
पनामा 3 11 0 49 0
दक्षिण कोरिया 3 10 0 63 0
मैक्सिको 4 9 0 54 0
सर्बिया 3 9 0 45 0
Football World Cup Records Host Russia made the most fouls
Football World Cup Records Host Russia made the most fouls
3 जुलाई को सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम में हुए स्वीडन के खिलाफ मैच में स्विट्जरलैंड के माइकल लांग को स्लोवानिया के रेफरी दामिर स्कोमिना ने रेड कार्ड दिखाया था। - फाइल
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now