फुटबॉलर को लगी चोट, मुस्लिम धर्मगुरु बोले- ऊपरवाले ने दी रोजा तोड़ने की सजा

रविवार 27 मई को हुए चैम्पियन्स लीग के फाइनल में खेलने के दौरान मो. सालेह गिर पड़े थे।

dainikbhaskar.com| Last Modified - May 31, 2018, 09:32 PM IST

1 of
Muslim preacher slams Mohamed Salah for breaking his fast

स्पोर्ट्स डेस्क. हाल ही में फुटबॉल की सबसे बड़ी लीग में से एक चैम्पियन्स लीग का फाइनल रियल मैड्रिड और लीवरपूल के बीच खेला गया। मैच शुरू होने के आधे घंटे बाद ही लीवरपूल के प्लेयर मोहम्मद सालेह को चोट लग और उन्हें मैदान से बाहर जाना पड़ा। इसके बाद उनकी टीम भी वो मैच हार गई। सालेह को लगी चोट को लेकर अब एक मुस्लिम धर्मगुरु ने अजीब तर्क दिया है। उनका कहना है कि ऊपरवाले ने सालेह को रोजा तोड़ने की सजा दी है। बता दें कि सालेह एक मुस्लिम प्लेयर हैं जिन्होंने मैच के दौरान भी रोजा रखने की बात कही थी। इस वजह से तोड़ दिया था रोजा...

 

- रविवार 27 मई को चैम्पियन्स लीग के फाइनल में खेलने के दौरान मो. सालेह गिर पड़े थे। जिसके कारण उन्हें कंधे में चोट आ गई थी और फिर उन्हें बेंच पर बैठना पड़ गया था। बाद में उनकी टीम लीवरपूल भी ये मैच 1-3 से हार गई थी।
- रियल मैड्रिड टीम के डिफेंडर सर्जियो रामोस के साथ हुई टक्कर के बाद सालेह को कंधे में चोट लग गई थी। जिसकी वजह से वे रूस में होने वाले वर्ल्ड कप से भी बाहर हो गए।
- सालाह ने पहले कहा था कि वे चैम्पियन्स लीग के फाइनल के दौरान भी रोजा रखेंगे। लेकिन टीम के फिजियोथेरेपिस्ट ने बाद में बताया कि क्लब के न्यूट्रीनिस्ट के साथ हुई बातचीत के बाद उनका मन बदल गया और उन्होंने रोजा नहीं रखा।
- दरअसल सालेह ब्रिटेन से यूक्रेन तक का सफर करके पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कुछ खाया भी नहीं था और वे काफी थके हुए भी थे। इसलिए उन्होंने रोजा तोड़ दिया।

 

धर्मगुरु ने दिया अजीब तर्क


- सालेह को मैच में लगी चोट को लेकर कुवैत के एक मुस्लिम धर्मगुरु ने अजीब वजह बताई है। मुबारक अल बथाली नाम के धर्मगुरु का कहना है कि सालेह ने पवित्र रमजान महीने में रोजा तोड़कर पाप किया था, इसी वजह से अल्लाह ने उन्हें सजा दी है।
- बथाली ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'अल्लाह ने रमजान के पवित्र महीने में रोजा तोड़ने की वजह से उन्हें ये सजा दी है। सालेह ने पाप किया है।' आगे उन्होंने लिखा, 'रोजा तोड़ने का ये कोई उचित कारण नहीं है। ऊपरवाले ने उन्हें सजा दी।'
- धर्मगुरु ने ये भी कहा कि, 'ये मत समझो कि जिंदगी बहानों या कोशिशों से चलती है, बल्कि सच तो ये है कि सबकुछ अल्लाह के हाथ में है। ऐसे में ये चोट भी उनके लिए ठीक है।'
- बता दें कि मोहम्मद सालेह मूल रूप से मिस्र के फुटबॉलर हैं। वे अपने देश की नेशनल टीम के अलावा मशहूर इंग्लिश फुटबॉल क्लब लिवरपूल से भी खेलते हैं।

 

Muslim preacher slams Mohamed Salah for breaking his fast
Muslim preacher slams Mohamed Salah for breaking his fast
Muslim preacher slams Mohamed Salah for breaking his fast
Muslim preacher slams Mohamed Salah for breaking his fast
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now