'रोनाल्डो भाई' बुलाते हैं दोस्त, दिक्कतों से जीतकर इंडियन सुपर लीग में शामिल हुआ चपरासी का बेटा

निशू कुमार को बेंगलुरु फुटबॉल क्लब में एक करोड़ रुपए का कॉन्ट्रैक्ट मिला है।

DainikBhaskar.com| Last Modified - Jul 08, 2018, 07:51 AM IST

1 of
Muzaffarnagar's boy get place in Indian Super League
निशू कई अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले चुके हैं। -फाइल

 

  • निशू कुमार ने चंडीगढ़ फुटबॉल एकेडमी से करियर शुरू किया था
  • अंडर-15 और अंडर-16 भारतीय टीमों का हिस्सा भी रह चुके हैं निशू
  • मलेशिया, इंडोनेशिया, थाईलैंड, जापान यूरोप में भी खेल चुके हैं

मुजफ्फरनगर. उत्तरप्रदेश के मुजफ्फरनगर में रहने वाले निशू कुमार को उनके दोस्त 'रोनाल्डो भाई' बुलाते हैं। दरअसल, अपनी दमदार 'किक' के दम पर उन्होंने बेंगलुरु फुटबॉल क्लब की इंडियन सुपर लीग में जगह बनाई है। इसके लिए उन्होंने एक करोड़ रुपए का कॉन्ट्रैक्ट किया है। वे 5 साल की उम्र से फुटबॉल के दीवाने हैं।

निशू के पिता कॉलेज में चपरासी हैं। इसके बावजूद उनहोंने अपनी तंगी को अपने सपनों की राह में कभी आड़े नहीं आने दिया। 21 साल के निशू ने अपना करियर चंडीगढ़ फुटबॉल एकेडमी से शुरू किया था। उन्हें बड़ा ब्रेक 2016 में एएफसी अंडर-19 फुटबॉल टीम में शामिल होने के बाद मिला। इसके अलावा वह भारत की अंडर-15 और अंडर-16 टीम का हिस्सा भी रह चुके हैं। वह इंडोनेशिया, मलेशिया, थाईलैंड, जापान, यूरोप, रूस और खाड़ी देशों में भी खेल चुके हैं।  

 

स्कूल में शुरू किया था अभ्यास : निशू बताते हैं कि उन्होंने 5 साल की उम्र में स्पोर्ट्स टीचर की मदद से स्कूल के मैदान में ही अभ्यास शुरू किया था। भारतीय टीम के चीफ कोच स्टीफन कॉन्टाटाइन से भी काफी कुछ सीखा। मुजफ्फरनगर के कोच कुलदीप ने बताया कि जिले के बच्चे निशू को अपना आदर्श मानते हैं।

Muzaffarnagar's boy get place in Indian Super League
निशू ने भारतीय टीम के चीफ कोच स्टीफन कॉन्टाटाइन से फुटबॉल के कई गुर सीखे। -फाइल
Muzaffarnagar's boy get place in Indian Super League
मुजफ्फरनगर के बच्चे निशू को अपना आदर्श मानते हैं। -फाइल
prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now