रवि शास्त्री की नजर में 1983 के मुकाबले 2011 वर्ल्ड कप की जीत थी ज्यादा मुश्किल, चैट शो में बताई वजह

भारत की दोनों वर्ल्ड कप जीत में रवि शास्त्री किसी ना किसी रूप में टीम के साथ जुड़े हुए थे।

dainikbhaskar.com| Last Modified - Jun 29, 2018, 09:58 PM IST

1 of
Ravi Shastri reveals 2011 World Cup Victory was Bigger than 1983 Victory

* गौरव कपूर के शो 'ब्रेकफास्ट विद चैम्पियन्स' में पहुंचे रवि शास्त्री
* पूर्व क्रिकेटर होने के साथ ही टीम के हेड कोच हैं शास्त्री
* शास्त्री ने 2011 वर्ल्ड कप की जीत को बताया बड़ा

 

स्पोर्ट्स डेस्क. पूर्व क्रिकेटर और टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री हाल ही में गौरव कपूर के चैट शो 'ब्रेकफास्ट विद चैम्पियन्स' में पहुंचे। जहां उनसे उनके क्रिकेट करियर और पर्सनल लाइफ से जुड़े कई सवाल पूछे गए। शो के दौरान गौरव ने टीम इंडिया के जीते दोनों वर्ल्ड कप को लेकर भी शास्त्री से एक सवाल पूछा। जिसके जवाब में उन्होंने साल 2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप की जीत को 1983 के मुकाबले बड़ा बताया।

 

- पूर्व इंडियन क्रिकेटर रवि शास्त्री लंबे समय से भारतीय क्रिकेट टीम के साथ जुड़े हुए हैं। उन्होंने क्रिकेट प्लेयर के रूप में करियर शुरू किया था, फिर वे कमेंटेटर के रूप में टीम से जुड़े रहे, और अब टीम में हेड कोच का रोल प्ले कर रहे हैं।
- अपने इतने लंबे सफर के दौरान उन्होंने टीम इंडिया को शून्य से शिखर तक पहुंचते हुए देखा है। वे उन चुनिंदा खुशनसीबों में से हैं, जिन्होंने इंडियन क्रिकेट हिस्ट्री के दो सबसे बड़े पलों यानी 1983 वर्ल्ड कप और 2011 वर्ल्ड कप की जीत को बेहद करीब से देखा है। 1983 में वे वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम इंडिया के मेंबर थे, वहीं 2011 वर्ल्ड कप विक्ट्री के समय भी वे कमेंटेटर के रूप में टीम के साथ जुड़े हुए थे।
- गौरव कपूर के शो में जब उनसे पूछा गया कि आपकी नजर में दोनों वर्ल्ड कप में से कौन सी जीत ज्यादा प्रेशर वाली रही। तो जवाब में शास्त्री ने कहा, '1983 वर्ल्ड कप में हमसे किसी को भी उम्मीद नहीं थी। हम अंडरडॉग थे। फाइनल में हमारे मुकाबले वेस्ट इंडीज की टीम सबकी फेवरेट थी। हर कोई हमसे ये कह रहा था वहां जाना और अपना बेस्ट देकर आना। लेकिन 2011 में ऐसा नहीं था, उस वक्त कई वजहों से लोगों को टीम से बहुत उम्मीदें थीं। टूर्नामेंट भारत में था, तब तक किसी देश ने मेजबानी करते हुए वर्ल्ड कप नहीं जीता था। हर कोई चाहता था कि भारत ही जीते।'
- आगे शास्त्री ने कहा, '1983 की तुलना में 2011 वर्ल्ड कप को लेकर मीडिया में भी जबरदस्त माहौल था। 2011 वर्ल्ड कप में लड़कों पर जबरदस्त प्रेशर था और एमएस धोनी ने उसे जिस स्टाइल में खत्म किया था वो अविश्वसनीय रहा। मेरे हिसाब से 2011 का वर्ल्ड कप जीतना टीम के लिए ज्यादा चैलेंजिंग था।'

Ravi Shastri reveals 2011 World Cup Victory was Bigger than 1983 Victory
Ravi Shastri reveals 2011 World Cup Victory was Bigger than 1983 Victory
prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now