चैम्पियंस ट्रॉफी के लिए चुने गए दल में 2016 में फाइनल खेलने वाली टीम के 6 खिलाड़ी नहीं, सरदार सिंह-बीरेंद्र लाकड़ा की वापसी

ब्रेडा में 23 जून से होने वाले टूर्नामेंट में भारतीय हॉकी की अगुआई श्रीजेश रवींद्रन करेंगे। फाइनल 1 जुलाई को होगा।

DainikBhaskar.com| Last Modified - May 31, 2018, 07:21 PM IST

1 of
Sardar, Lakra return to Indian side for Champions Trophy
सरदार सिंह पर 2016 में एक ब्रिटिश-एशियन हॉकी खिलाड़ी ने दुष्कर्म और यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था। - फाइल

 

  • पिछली बार चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों 3-1 से हार गई थी भारतीय टीम
  • भारत इस बार अपने अभियान की शुरुआत 23 जून को पाकिस्तान के खिलाफ मैच से करेगा


नई दिल्ली. नीदरलैंड के ब्रेडा में 23 जून से होने वाले चैम्पियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट के लिए चुनी गई भारतीय हॉकी टीम में पूर्व कप्तान सरदार सिंह और बीरेंद्र लाकड़ा की वापसी हुई। सरदार के आने से जहां भारतीय हॉकी मिडफील्ड में मजबूत होगी। वहीं लाकड़ा टीम के डिफेंस को और ताकतवर बनाएंगे। टीम की कमान गोलकीपर श्रीजेश प्राटू रवींद्रन के हाथों में होगी। श्रीजेश की ही अगुआई में पिछले साल भारतीय टीम ने इस टूर्नामेंट में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था। 

 

टीम के सबसे बुजुर्ग खिलाड़ी हैं सरदार

- हॉकी इंडिया ने जिस 18 सदस्यीय दल की घोषणा की है, उसमें 2016 में चैम्पियंस ट्रॉफी में उतरी टीम के कई खिलाड़ी नहीं हैं। इस साल जुलाई में 32 साल के होने वाले सरदार सिंह भी उस टीम का हिस्सा नहीं थे। वे गोल्ड कोस्ट में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए चुनी गई टीम के लिए भी नहीं चुने गए थे। सरदार इस टीम के सबसे बुजुर्ग खिलाड़ी हैं।

- हालांकि बेंगलुरु में जब नेशनल कैम्प के लिए उन्हें बुलाया गया तभी इस मिडफील्डर को खुद के टीम में शामिल किए जाने की उम्मीद बढ़ी थी। सरदार की तरह लाकड़ा भी कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए भारतीय टीम में शामिल नहीं किए गए थे। 

- चयनकर्ताओं ने पिछले संस्करण में रजत पदक जीतने वाली भारतीय टीम के हिस्सा रहे खिलाड़ियों में से डिफेंडर रूपिंदर, कोठाजीत सिंह और गुरिंदर सिंह को नहीं चुना है। हालांकि जर्मनप्रीत सिंह और सुरेंद्र कुमार पर भरोसा जताया। 

- चयनकर्ताओं ने स्ट्राइकर ललित उपाध्याय और गुरजंत सिंह के नामों पर भी कैंची चलाई है, जबकि रमनदीप सिंह को फिर से टीम का हिस्सा बनाया है।  यही नहीं गोलकीपर सूरज करकेरा की जगह कृष्ण बहादुर पाठक को लिया है। 

 

इस बार भी इसे टूर्नामेंट को यादगार बनाएंगेः श्रीजेश

- कप्तान श्रीजेश का मानना है कि टीम अच्छा प्रदर्शन करने को प्रतिबद्ध है। 2016 में भारत चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार गया था। पिछले 34 वर्षों में भारत एक भी यह टूर्नामेंट जीत नहीं सका है। 

- श्रीजेश ने कहा, "मेरा मानना है कि वह करीबी मुकाबला था और हम स्वर्ण पदक जीत सकते थे। हालांकि हम दूसरे स्थान पर रहे, फिर वह यादगार पल था। इस बार भी हम इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट को अपने लिए पिछले साल की तरह बनाना चाहते हें।"

 

ब्रेडा में प्रदर्शन के आधार पर ही चुनी जाएगी एशियाई खेलों के लिए टीमः हरेंद्र सिंह

- मुख्य कोच हरेंद्र सिंह ने स्पष्ट किया कि एशियाई खेलों के लिए चुनी जाने वाली टीम में जगह बनाने के लिए खिलाड़ियों को अच्छा प्रदर्शन करना होगा। उन्होंने कहा, खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने के लिए यह एक बहुत महत्वपूर्ण टूर्नामेंट है। कॉमनवेल्थ गेम्स और चैम्पियंस ट्रॉफी में प्रदर्शन के आधार पर ही खिलाड़ियों को जकार्ता में होने वाले एशियाई खेलों के लिए टीम में चुना जाएगा।

 

 

टीम इस प्रकार हैः गोलकीपरः श्रीजेश प्राटू रवींद्रन (कप्तान), कृष्ण बहादुर पाठक।

डिफेंडर्सः हरमनप्रीत सिंह, वरुण कुमार, सुरेंद्र कुमार, जर्मनप्रीत सिंह, बीरेंद्र लाकड़ा और अमित रोहिदास।

मिडफील्डर्सः मनप्रीत सिंह, चिंग्लेसाना सिंह (उप कप्तान), सरदार सिंह और विवेक सागर प्रसाद।

फारवर्ड्सः सुनील सोमरपेट विटलआचार्य, रमनदीप सिंह, मनदीप सिंह, सुमित कुमार जूनियर, आकाशदीप सिंह, दिलप्रीत सिंह। 

Sardar, Lakra return to Indian side for Champions Trophy
बीरेंद्र लाकड़ा पर टीम में चुने जाने पर कप्तान श्रीजेश ने ट्विटर पर उन्हें बधाई दी है। - फाइल
prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now