विंबल्डनः हम टेनिस खेलने आते हैं, कीड़े खाने नहीं- हारने पर वर्ल्ड नंबर 2 कैरोलिन; मैच रेफरी से भी की थी शिकायत

वोजनियाकी की शिकायत के बाद आयोजकों ने उन्हें कीटनाशक स्प्रे दिया। इसके बाद वे 5 मैच प्वाइंट बचाने में सफल भी रहीं थीं।

DainiKbhaskar.com| Last Modified - Jul 05, 2018, 08:46 PM IST

1 of
We are here to play tennis, not eat bugs: Caroline Wozniacki raa'We're here to play tennis, not eat bugs': Caroline Wozniacki rages during shock exit as world No 2 is beaten by Ekaterina Makarovages during shock exit as world No 2 is beaten by Ekaterina Makarova
मैच के दौरान खुद को कीड़ों से बचातीं कैरोलिन वोजनियाकी।

  • मकरोवा इस साल के पहले दोनों ग्रैंड स्लैम में दूसरे दौर से आगे नहीं बढ़ पाईं थी
  • मकरोवा का तीसरे दौर में चेक गणराज्य की लूसी साफरोवा से मुकाबला होगा

 

 

 

 

लंदन. सीजन के तीसरे ग्रैंड स्लैम विंबल्डन में वर्ल्ड नंबर 2 डेनमार्क की कैरोलिन वोजनियाकी का दूसरे दौर में ही सफर समाप्त हो गया। उन्हें रूस की यूकेतारिना मकरोवा ने 6-4, 1-6, 7-5 से हराया। हालांकि वोजनियाकी ने अपनी हार का ठीकरा टूर्नामेंट के आयोजकों पर फोड़ा है। उनका कहना है कि हम यहां खेलने आते हैं, कीड़े खाने नहीं। वोजनियाकी का ऑल इंग्लैंड क्लब के कोर्ट नंबर 1 पर मैच था। मैच के दौरान उन्होंने कई बार चेयर अंपायर केली थॉमसन से शिकायत की थी, 'कोर्ट पर बहुत कीड़े उड़ रह हैं। वे मुंह में चले जाते हैं। कृपया इन्हें हटाएं।' 

 

मैच के बाद कीड़ों को लेकर नहीं दी प्रतिक्रिया
ऑस्ट्रेलियन ओपन चैम्पियन अंपायर से कहा था, "हम यहां टेनिस खेलने आते हैं, कीड़े खाने नहीं। यहां इतने कीड़े हैं कि वे मुंह में घुस रहे हैं और हाथ पर बैठ रहे हैं। इस कारण मैं मैदान पर सही से दौड़ नहीं पा रही हूं। " हालांकि मैच के बाद उन्होंने कीड़ों से होने वाले संक्रमण को लेकर मीडिया से ज्यादा चर्चा नहीं की। हालांकि दूसरी ओर वोजनियाकी की प्रतिद्वंद्वी रूसी खिलाड़ी इस तरह की स्थिति से अच्छे से निपटने में सफल रहीं।

 

हार-जीत छोड़कर अपने शरीर के बारे में सोचा

दुनिया की 35वीं नंबर की खिलाड़ी मकरोवा से हराने के बाद वोजनियाकी ने कहा, "मैं नहीं जानती कैसे हारी... ऐसी स्थिति में मैं सिर्फ अपनी चिंता कर रही थी। मेरे पास एक मौका था। जितना मैं कर सकती थी, मैंने संघर्ष किया। मैं बाहर हो चुकी हूं। बस यही सही है। जीवन में कभी-कभी ऐसा होता है।" उन्होंने कहा, "आपको सिर्फ अपना काम जारी रखना है और वापसी करनी है। उम्मीद है कि अगली बार भाग्य मेरा साथ देगा। मैं जितना संघर्ष कर सकती थी मैंने किया। मैं हार के बारे में सोच-सोचकर खुद को पागल नहीं कर सकती, क्योंकि जिस स्तर का मैं खेल सकती थी, मैंने खेला। यहां पर मेरे साथ इस प्रकार (कीड़ों से संघर्ष करना) का पहली बार ऐसा हुआ है। मेरा उनसे सिर्फ इतना कहना था कि उन्हें कुछ कीट नाशक का छिड़काव करना चाहिए था। यहां बहुत ज्यादा संख्या में कीड़े है।"

 

मकरोवा के भाग्य ने साथ दियाः वोजनियाकी

रूसी खिलाड़ी के खेल के बारे में वोजनियाकी ने कहा, "मैं सोचती हूं कि वह (मकरोवा) ने अपने स्तर से ऊपर का खेल खेला। वह इस मामले में भाग्यशाली रहीं कि जरूरत के समय वे बढ़िया खेलने में सफल रहीं। मैं नहीं जानती की कि वे टूर्नामेंट में आगे भी अपना यह स्तर बनाए रख पाएंगी या नहीं?" वोजनियाकी ने तीसरे और निर्णायक सेट के दौरान सुपरवाइजर को बुलाया और कहा कि बूंदाबादी होने के कारण उन्हें मैच खेलने में परेशानी हो रही है। हालांकि मैच अधिकारियों के अनुसार, ऐसा कुछ भी नही था।

We are here to play tennis, not eat bugs: Caroline Wozniacki raa'We're here to play tennis, not eat bugs': Caroline Wozniacki rages during shock exit as world No 2 is beaten by Ekaterina Makarovages during shock exit as world No 2 is beaten by Ekaterina Makarova
यूकेतारिना मकरोवा के खिलाफ मैच के दौरान कैरोलिन वोजनियाकी अधिकांश समय कीड़ों के कारण परेशान होती दिखीं।
We are here to play tennis, not eat bugs: Caroline Wozniacki raa'We're here to play tennis, not eat bugs': Caroline Wozniacki rages during shock exit as world No 2 is beaten by Ekaterina Makarovages during shock exit as world No 2 is beaten by Ekaterina Makarova
तीसरे दौर में कैरोलिन वोजनियाकी को हराकर उलटफेर करने वाली यूकेतारिना मकरोवा रूस की खिलाड़ी हैं। पहले दौर में हमवतन मारिया शारापोवा को हराकर उलटफेर करने वाली वितालिया दियातचेंको भी रूस की टेनिस खिलाड़ी हैं।
prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now