वर्ल्ड बैडमिंटन चैम्पिनशिप: सिंधु लगातार दूसरे साल फाइनल हारीं, स्पेन की कैरोलिना मारिन बनीं चैम्पियन

सिंधु को सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा, वे पिछले भी साल वर्ल्ड चैम्पियनशिप के फाइनल में हार गईं थीं

DainikBhaskar.com| Last Modified - Aug 05, 2018, 06:59 PM IST

1 of
world Badminton Championship: PV Sindhu loses in final, carolina Marin won gold medal

नानजिंग (चीन).  दुनिया की आठवें नंबर की शटलर स्पेन की कैरोलिना मारिन ने रविवार को वर्ल्ड चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल जीता। उन्होंने खिताबी मुकाबले में वर्ल्ड नंबर 3 भारत की पीवी सिंधु को सीधे सेटों 21-19, 21-10 से हराया। मारिन और सिंधु के बीच अब तक 13 मुकाबले हुए हैं, जिनमें 7 में मारिन और 6 में सिंधु जीती हैं। इसमें सिंधु की वर्ल्ड जूनियर चैम्पियनशिप में जीत भी शामिल है। इस साल मारिन के खिलाफ सिंधु की यह पहली हार है। जून 2018 में मलेशिया ओपन में सिंधु ने मारिन को 22-20, 21-19 से हराया था। रियो ओलिंपिक के फाइनल में भी सिंधु को मारिन ने ही हराया था। 

 

वर्ल्ड चैम्पियनशिप में 4 पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनीं सिंधुः  सिंधु 4 वर्ल्ड चैम्पियनशिप में पदक जीतने वालीं पहली भारतीय शटलर हैं। उन्होंने 2017 वर्ल्ड चैम्पियनशिप सिल्वर, 2013 में ग्वांगझु और 2014 में कोपेनहेगन वर्ल्ड चैम्पियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीता था।

 

तीसरी बार वर्ल्ड चैम्पियन बनीं मारिन : कैरोलिना मारिन तीसरी बार वर्ल्ड चैम्पियन बनीं। वे तीन बार ये खिताब हासिल करने वाली पहली महिला शटलर बन गई हैं। मारिन 2014 और 2015 में भी वर्ल्ड चैम्पियन रह चुकी हैं। उधर, सिंधु लगातार दूसरे साल इस चैम्पियनशिप में फाइनल हारी हैं। 2017 में उन्हें जापान की नोजोमी ओकुहारा ने हराया था। इस साल वे जापान की अकाने यामागुची और मारिन चीन की ही बिंगजिआओ को हराकर फाइनल में पहुंची थीं।

 

लीड लेने के बाद हारीं सिंधुः पहले गेम में मारिन ने शुरू में लीड ली, लेकिन सिंधु ने 3-3 से बराबरी हासिल कर ली। इसके बाद सिंधु ने गेम के ब्रेक के समय तक 11-8 की बढ़त हासिल की। उन्होंने यह बढ़त 15-15 की, लेकिन इसके बाद स्पेनिश खिलाड़ी ने तेज खेल दिखाया स्कोर 18-18 से बराबर किया। फिर 2 अंक की लीड लेकर 20-18 पर पहुंचीं। सिंधु ने यहां एक अंक लिया और स्कोर 19-20 किया, लेकिन अगली रैली में ही मारिन ने अंक हासिल कर 21-19 से गेम जीत लिया। दूसरे गेम में मारिन शुरू से ही हावी रहीं। उन्होंने पूरे गेम के दौरान सिंधु को एक बार भी वापसी का मौका नहीं दिया। मारिन दूसरे गेम में कितना तेज खेल रही थीं, इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उन्होंने 10 मिनट बाद ही गेम को ब्रेक (11-2) में पहुंचा दिया था। इसके बाद उन्होंने गेम अपने नाम करने में ज्यादा समय नहीं लगाया। मारिन ने 46 मिनट में सिंधु को हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया।

 

 

पीवी सिंधु की 2016 रियो ओलिंपिक से अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के फाइनल में 9वीं हार

 

समय टूर्नामेंट किससे हारीं स्कोर
2016 रियो ओलिंपिक कैरोलिना मारिन (स्पेन) 21-19, 12–21, 15-21
2016 हांगकांग ओपन ताई जू-इंग (ताइवान) 15–21, 17–21
2017 वर्ल्ड चैम्पियनशिप नाजोमी ओकुहारा (जापान) 19-21, 22–20, 20-22
2017 हांगकांग ओपन ताई जू-इंग (ताइवान) 18–21, 18–21
2017 सुपर सीरीज फाइनल्स अकाने यागामुची (जापान) 21–15, 12–21, 19–21
2018 इंडिया ओपन बीवेन झांग (चीन) 18-21, 21-11, 20-22
2018 कॉमनवेल्थ गेम्स साइना नेहवाल (भारत) 18-21, 21-23
2018 थाईलैंड ओपन नाजोमी ओकुहारा (जापान) 15-21, 18-21
2018 वर्ल्ड चैम्पियनशिप कैरोलिना मारिन (स्पेन) 19-21, 10-21

 

 

world Badminton Championship: PV Sindhu loses in final, carolina Marin won gold medal
world Badminton Championship: PV Sindhu loses in final, carolina Marin won gold medal
prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now