जापान / बास्केटबॉल विदाउट बॉर्डर कैंप में 64 युवाओं को एनबीए खिलाड़ियों ने ट्रेनिंग दी, इनमें चार भारत के



ABA and FIBA bring positive social changes in the field of education, health and wellness
X
ABA and FIBA bring positive social changes in the field of education, health and wellness

  • बीते 18 साल से कैंप के जरिए एनबीए 129 देशों के 2300 युवा खिलाड़ियों को प्रमोट कर चुका है 
  • एबीए और फीबा इसके जरिए शिक्षा, स्वास्थ्य और वेलनेस के क्षेत्र में पॉजीटिव सोशल बदलाव लाते हैं

Dainik Bhaskar

Aug 19, 2019, 11:26 AM IST

टोक्यो. बास्केटबॉल विदाउट बॉर्डर का कैंप शनिवार को जापान के टोक्यो शहर में खत्म हो गया। इसमें 18 देशों के 64 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था। इन खिलाड़ियों में 4 भारत के भी थे। इन खिलाड़ियों ने अमेरिका के नेशनल बास्केटबॉल एसोसिएशन (एनबीए) के स्टार खिलाड़ियों से ट्रेनिंग ली। इस कैंप का आयोजन एनबीए और इंटरनेशनल बास्केटबॉल फेडरेशन (फीबा) मिलकर करते हैं।

 

एबीए और फीबा दोनों एसोसिएशन इस कैंप के जरिए हर साल युवा खिलाड़ियों के बीच बास्केटबॉल को प्रमोट करते हैं। साथ ही शिक्षा, स्वास्थ्य और वेलनेस के क्षेत्र में पॉजीटिव सोशल बदलाव लाते हैं। यह कैंप 18 साल से चल रहा है। इसमें अब तक 129 देशों के 2300 खिलाड़ी शामिल हो चुके हैं। 

 

2001 में समर कैंप के रूप में इसकी शुरुआत हुई थी 
कैंप के डायरेक्टर पैट्रिक हंट बताते हैं, ‘फीबा और एनबीए ने 2001 में इस कैंप की शुरुआत समर कैंप के रूप में की थी। तब इसमें 12 से 14 साल के खिलाड़ी आते थे। तब खेल-खेल में दोस्ती कराई जाती थी। कैंप में बताते थे कि खेल के जरिए ही दुनिया में शांति कायम की जा सकती है। 2003 के बाद इसके जरिए बास्केटबॉल को प्रमोट करना शुरू किया गया।’

 

भारत के सिया, अमान ने दूसरी बार कैंप में हिस्सा लिया 
भारत की सिया देवधर, हरसिमरन कौर, अमान संधु और अरविंदर सिंह ने कैंप में हिस्सा लिया। सिया और अमान लगातार दूसरी बार कैंप में उतरे। सिया और हरसिमरन का चयन एनबीए एकेडमी के महिला कैंप से हुआ था। सिया को कैंप में बेस्ट टीममेट और हरसिमरन को बेस्ट डिफेंडर का अवॉर्ड मिला था। वहीं, संधु का चयन एनबीए की इंडिया एकेडमी के पहले बैच के लिए हुआ था। उन्होंने अटलांटा में एनबीए एकेडमी गेम्स में हिस्सा लिया था। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना