--Advertisement--

पैरा एशियन गेम्स / हिजाब उतारने से मना करने पर इंडोनेशिया की दृष्टिहीन जुडोका अयोग्य ठहराईं गईं



Asian Para Games Blind Indonesian judoka disqualify refusing take off hijab
X
Asian Para Games Blind Indonesian judoka disqualify refusing take off hijab

  • इंडोनेशिया की यह खिलाड़ी अपनी कैटेगरी में स्वर्ण पदक जीतने की दावेदार मानी जा रही थीं
  • इस प्रतियोगिता में इंडोनेशिया के नाम अब तक 56 पदक, पदक तालिका में छठे स्थान पर

Dainik Bhaskar

Oct 20, 2018, 01:02 PM IST

जकार्ता. इंडोनेशिया की जूडो खिलाड़ी मिफ्ताहुल जन्ना को पैरा एशियन गेम्स में महिलाओं की 52 किग्रा विजुअल इम्पेर्मेंट (दृष्टि दोष) कैटेगरी में भाग लेने से रोक दिया गया। उन्होंने मुकाबले के दौरान हिजाब उतारने से मना कर दिया था। 21 साल की इस मुस्लिम खिलाड़ी को इंटरनेशनल जूडो फेडरेशन (आईजेएफ) के नियमों का उल्लंघन करने के कारण प्रतियोगिता में भाग लेने के अयोग्य ठहराया गया है। आईजेएफ के नियमों के मुताबिक, मुकाबले के दौरान चिकित्सा के लिए बैडेंज (पट्टी) बांधने को छोड़कर कोई भी जूडो खिलाड़ी अपने सिर को किसी भी कपड़े से ढक नहीं सकता है। 

मिफ्ताहुल को नहीं खेलने देने के फैसले की हो रही आलोचना

  1. अयोग्य ठहराए जाने के बाद मिफ्ताहुल रोते हुए प्रतियोगिता स्थल से बाहर निकलीं। इस घटना की काफी आलोचना हो रही है। मिफ्ताहुल के प्रशंसक इसे उनके साथ भेदभाव मान रहे हैं। मिफ्ताहुल के हिजाब नहीं उतारने के फैसले की सोशल मीडिया पर प्रशंसा हो रही है।

  2. वहीं, इंडोनेशियन नेशनल पैरालिंपिक कमेटी (एनपीसी) सेनी मार्बुन ने इस विवाद के लिए लापरवाही को दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि टीम के कोच नियमों को लेकर अनजान थे, क्योंकि अंग्रेजी अच्छी नहीं थी। उन्होंने कहा, ‘एनपीसी की ओर से मैं इस सबके लिए माफी चाहता हूं। यह वास्तव में शर्मनाक है। मुझे उम्मीद है कि भविष्य में ऐसा फिर कभी नहीं होगा।’

  3. यह घटना इंडोनेशियाई मीडिया में सुर्खियों में रही। देश के हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स (डीपीआर) ने इसका संज्ञान लिया। डीपीआर के सदस्यों ने मिफ्ताहुल को मक्का में उमरा दौरे करने का इनाम दिया है। इस पुरस्कार पर मिफ्ताहुल ने कहा, ‘मैं इसकी सराहाना करती हूं। मैं उन्हें धन्यवाद देना चाहती हूं, जिन्होंने मुझे उमरा का टिकट दिया। मैं उत्साहित हूं। यह मेरे लिए स्वर्ण पदक जीतने जैसा है, क्योंकि मैं कल के मुकाबले में भाग लेने से वंचित रह गई थी।’
     

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..