--Advertisement--

ईपीएल / डिफेंडिंग चैम्पियन मैनचेस्टर सिटी ने वाटफोर्ड को हराया, लीग में अप्रैल से कोई मैच नहीं गंवाया



वाटफोर्ड को हराने के बाद मैनचेस्टर सिटी के फैबियान डेल्फ और जॉन स्टोन्स। वाटफोर्ड को हराने के बाद मैनचेस्टर सिटी के फैबियान डेल्फ और जॉन स्टोन्स।
मैच खत्म होने के बाद मैनचेस्टर सिटी के काइले वॉकर और वाटफोर्ड के ह्यूर्लो गोम्स। मैच खत्म होने के बाद मैनचेस्टर सिटी के काइले वॉकर और वाटफोर्ड के ह्यूर्लो गोम्स।
X
वाटफोर्ड को हराने के बाद मैनचेस्टर सिटी के फैबियान डेल्फ और जॉन स्टोन्स।वाटफोर्ड को हराने के बाद मैनचेस्टर सिटी के फैबियान डेल्फ और जॉन स्टोन्स।
मैच खत्म होने के बाद मैनचेस्टर सिटी के काइले वॉकर और वाटफोर्ड के ह्यूर्लो गोम्स।मैच खत्म होने के बाद मैनचेस्टर सिटी के काइले वॉकर और वाटफोर्ड के ह्यूर्लो गोम्स।

  • मैनचेस्टर सिटी इंग्लिश प्रीमियर लीग के मौजूदा सत्र में 15 मैचों से 41 अंक लेकर शीर्ष पर
  • वाटफोर्ड 15 मैच में 6 जीत, 7 हार और 2 ड्रॉ के साथ 11वें नंबर पर
  • टीम पिछले पांच में से एक भी मैच नहीं जीती, चार हारे, एक ड्रॉ खेला

Dainik Bhaskar

Dec 06, 2018, 10:51 AM IST

लंदन. डिफेंडिंग चैम्पियन मैनचेस्टर सिटी ने इंग्लिश प्रीमियर लीग (ईपीएल) में लगातार सातवीं जीत दर्ज की। इंग्लिश फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर सिटी ने वाटफोर्ड एफसी को 2-1 से हराया। सिटी की ओर से लिरॉय साने ने 40वें और रियाद मेहरेज ने 51वें मिनट में गोल किए जबकि वाटफोर्ड की ओर से एबडोलाए डोउकोउरे ने 85वें मिनट में गोल किया। इस मैच के लिए सिटी ने टीम में 6 बदलाव किए थे।

पिछले 21 मैच में मैनचेस्टर का सक्सेस रेट 86%

  1. मैनचेस्टर सिटी इस साल अप्रैल के बाद कोई मुकाबला नहीं हारी है। उसे आखिरी हार, सात अप्रैल को मैनचेस्टर यूनाइटेड के खिलाफ 2-3 से मिली थी। उसके बाद मैनचेस्टर सिटी ने 21 मैच खेले हैं। इसमें से 18 जीते हैं और तीन ड्रॉ रहे हैं।

  2. मैनचेस्टर सिटी ने वाटफोर्ड के खिलाफ लगातार नौवें मैच में दो गोल किए। वहीं, वाटफोर्ड ने दिसंबर 2017 के बाद ईपीएल में पहली बार लगातार तीन मैच हारे। वाटफोर्ड के खिलाफ मैनचेस्टर सिटी ने अपने टॉप स्कोरर रहीम स्टर्लिंग को आराम दिया था जबकि सर्जियो एगुएरो इंजरी के कारण बाहर थे।

  3. मैनचेस्टर सिटी ने मौजूदा सत्र में 15 में से 13 मैच जीते हैं, जबकि उसे दो मुकाबले ड्रॉ रहे हैं। टीम 41 अंक के साथ टॉप पर है। लिवरपूल (36) दूसरे और चेल्सी (31) तीसरे नंबर पर है। 

  4. सिटी को फीफा से सबसे ज्यादा 35 करोड़ मिले

    फीफा वर्ल्ड कप में मैनचेस्टर सिटी की ओर से खेलने वाले 16 खिलाड़ियों ने अपने-अपने देश का प्रतिनिधित्व किया था। वर्ल्ड कप में मैनचेस्टर सिटी के सबसे ज्यादा खिलाड़ी उतरे थे। इसलिए इस क्लब को फीफा से सबसे ज्यादा 35 करोड़ रुपए मिले।

  5. फीफा ने दुनिया के 416 क्लबों को 1476 करोड़ रुपए दिए। रियल मैड्रिड को 33.8 करोड़, चेल्सी व मैनचेस्टर यूनाइटेड को 25-25 करोड़, पीएसजी को 27.5 करोड़, युवेंटस को 21 करोड़ और बायर्न म्यूनिख को 19 करोड़ रुपए मिले।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..