मोनफिल्स ने खिताब जीता, फाइनल में दो बार के चैम्पियन वावरिंका को हराया

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • फ्रांस के जाएल मोनफिल्स ने स्टेन वावरिंका को 6-3, 1-6, 6-2 से हराया
  • मोनफिल्स और वावरिंका दोनों ने ही अपना 29वां एटीपी फाइनल खेला

खेल डेस्क. फ्रांस के जाएल मोनफिल्स ने 46वें एबीएन आमरो वर्ल्ड टेनिस टूर्नामेंट (रोटरडैम ओपन) जीत लिया है। उन्होंने फाइनल में दो बार के चैम्पियन स्विट्जरलैंड के स्टेन वावरिंका को 6-3, 1-6 और 6-2 से हराया। 32 साल के मोनफिल्स और 33 साल के वावरिंका दोनों ही अपना 29वां एटीपी फाइनल खेल रहे थे। इनमें से वावरिंका ने 16 जीते। वहीं, मोनफिल्स की यह केवल सातवीं जीत है। वे पहली बार यहां खिताब जीत सके। 2016 में उन्हें खिताबी मुकाबले में मार्टिन क्लिजेन ने हराया था।

1) दूसरा सेट हार गए थे मोनफिल्स

मोनफिल्स ने पहले सेट में दो बार वावरिंका की सर्विस तोड़ी, लेकिन दूसरे सेट में वे घायल हो गए। इससे वावरिंका ने उन्हें 6-1 से हरा दिया। तीसरे सेट में मोनफिल्स ने वापसी करते हुए वावरिंका को 6-2 से हराकर मैच अपने नाम कर लिया।

 

 

वावरिंका ने 2017 में फ्रेंच ओपन का फाइनल खेला था। इसके बाद उन्होंने अपने घुटने की सर्जरी करवाई थी। इस दौरान वे रैंकिंग में तीन से 68वें पायदान पर पहुंच गए। उन्होंने सेमीफाइनल में शीर्ष वरीय जापान के केई निशिकोरी को हराया था। वहीं, मोनफिल्स ने दानिल मेदवेदेव को मात दी थी।

खबरें और भी हैं...