बैडमिंटन / भारत एशिया टीम चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में, क्वार्टर फाइनल में थाईलैंड से 2-0 से पिछड़ने के बाद मैच 3-2 से जीता

थाईलैंड के खिलाफ जीत के बाद भारतीय बैडमिंटन टीम। थाईलैंड के खिलाफ जीत के बाद भारतीय बैडमिंटन टीम।
X
थाईलैंड के खिलाफ जीत के बाद भारतीय बैडमिंटन टीम।थाईलैंड के खिलाफ जीत के बाद भारतीय बैडमिंटन टीम।

  • वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज जीतने वाले साई प्रणीत और पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 किदांबी श्रीकांत दोनों अपने सिंगल्स मुकाबले हारे
  • एमआर अर्जुन-ध्रुव कपिला की भारतीय जोड़ी ने पहला डबल्स मुकाबला और फिर लक्ष्य सेन ने सिंगल्स जीतकर बराबरी की
  • चिराग शेट्टी और किदांबी श्रीकांत की भारतीय जोड़ी ने निर्णायक डबल्स मुकाबला जीतकर मैच अपने नाम किया

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2020, 08:57 PM IST

 खेल डेस्क. भारत फिलीपींस में चल रहे एशिया टीम बैडमिंटन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंच गया। शुक्रवार को थाईलैंड के खिलाफ हुए मुकाबले में 0-2 से पिछड़ने के बाद भारत ने शानदार वापसी करते हुए मैच 3-2 से जीता। वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज जीतने वाले साई प्रणीत और पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 किदांबी श्रीकांत दोनों अपने सिंगल्स मुकाबले हार गए थे। इसके बाद भारत ने दोनों डबल्स और एक सिंगल्स मुकाबला जीतकर मैच अपने नाम किया। सेमीफाइनल में उसका मुकाबला इंडोनेशिया से होगा। भारतीय पुरुष टीम ने 4 साल पहले हैदराबाद में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। तब उसे इंडोनेशिया ने ही 3-1 से हराया था। 

दिन के पहले सिंगल्स में प्रणीत को थाई खिलाड़ी कांताफोन वैंगचारियॉन ने 14-21, 21-14 और 12-21 से हराया। जबकि दूसरे सिंगल्स में कुनलावुत वितिसर्न ने श्रीकांत को सीधे सेटों में 22-20, 21-14 से हराकर भारत पर 2-0 की बढ़त हासिल कर ली। एमआर अर्जुन और ध्रुव कपिला की जोड़ी ने पहला डबल्स मुकाबला जीतकर भारत की वापसी कराई। इस भारतीय जोड़ी ने थाईलैंड के कितिनुपॉन्ग केद्रेन-तनुपत विरियैंगकुरा को 21-18, 22-20 से मात दी। इसके बाद लक्ष्य सेन ने तीसरा सिंगल्स मुकाबला जीतते हुए मैच 2-2 से बराबर कर दिया। अब नतीजा आखिरी डबल्स मुकाबले से तय होना था। इसमें चिराग शेट्टी-किदांबी श्रीकांत की भारतीय जोड़ी थाई खिलाड़ियों पर भारी पड़ी और निर्णायक मैच 21-15, 16-21, 21-15 से जीत लिया। 

चिराग ने कहा- जीत पूरी टीम की मेहनत का नतीजा

जीत के बाद चिराग ने कहा कि हमारे लिए नतीजा चौंकाने वाला है। क्योंकि हमें सिंगल्स मुकाबलों में जीत की उम्मीद थी। लेकिन शुरुआती दो मैच हारने के बाद जिस तरह हमने दो डबल्स और एक सिंगल्स मैच जीता, यह पूरी टीम की मेहनत का नतीजा है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना