• Hindi News
  • Sports
  • Mary Kom loses in semi final of Women's World Boxing Championships, settles for bronze

बॉक्सिंग चैम्पियनशिप / मंजू रानी फाइनल में, थाईलैंड की रकसत को हराया; मैरी कॉम, जमुना और लोवलिना को कांस्य

मंजू रानी और मैरी कॉम। मंजू रानी और मैरी कॉम।
मैरीकॉम (फाइल फोटो)। मैरीकॉम (फाइल फोटो)।
X
मंजू रानी और मैरी कॉम।मंजू रानी और मैरी कॉम।
मैरीकॉम (फाइल फोटो)।मैरीकॉम (फाइल फोटो)।

  • मैरी कॉम वर्ल्ड चैम्पियनशिप में 8 पदक जीतने वाली पहली बॉक्सर बनीं
  • मैरी कॉम को यूरोपियन चैम्पियन तुर्की की बुसेनाज कैकिरोग्लू ने 4-1 से हराया
  • मंजू रानी ने रकसत को 4-1 से हराया, जमुना बोरो को हुआंग के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा

दैनिक भास्कर

Oct 12, 2019, 06:05 PM IST

खेल डेस्क. भारत की महिला बॉक्सर मंजू रानी रूस में खेले जा रहे वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप के 48 किलोग्राम भार वर्ग के फाइनल में पहुंच गईं। शनिवार को उन्होंने सेमीफाइनल में थाईलैंड की सी. रकसत को हराया। मंजू ने ये मुकाबला 4-1 से अपने नाम किया। दूसरी ओर मैरी कॉम 51 किलोग्राम भार वर्ग और जमुना बोरो 54 किलोग्राम भार वर्ग के सेमीफाइनल में हार गईं। मैरी को यूरोपियन चैम्पियन तुर्की की बुसेनाज कैकिरोग्लू ने 4-1 से हराया।

 

वहीं, जमुना चीनी ताइवे की शीर्ष वरीयता प्राप्त हुआंग हसिआओ-वेन के खिलाफ हार गईं। उनके बाद लोवलिना बोरगोहेन भी हार गईं। उन्हें 69 किलोग्राम भार वर्ग में यांग लियू ने हराया। दोनों को चीन की बॉक्सर को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।

 

मैरी कॉम के मैच में भारत की निर्णय के खिलाफ अपील खारिज

मैरी कॉम के मैच के बाद भारत ने रेफरी के निर्णय के खिलाफ अपील की, लेकिन उसे खारिज कर दिया गया। 36 साल की मैरी कॉम वर्ल्ड चैम्पियनशिप में 8 पदक जीतने वाली इकलौती बॉक्सर हैं। इससे पहले क्वार्टरफाइनल में उन्होंने रियो ओलिंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली कोलंबिया को इंगरित वेलेंसिया को 5-0 से हराया था।

 

तीसरे राउंड में दोनों ने आक्रामक खेल दिखाया

मैच में मैरी कॉम ने संभलकर शुरुआत की। पहले राउंड में मैरी ने प्रतिद्वंद्वी के मूव को परखा और अपना पूरा समय लिया। वे ज्यादा आक्रामक नहीं हुई और कैकिरोग्लू के जैब को भी आसानी से डौज किया। मैरी ने दूसरे बाउट में यूरोपियन चैम्पियन के खिलाफ शुरू से ही अटैकिंग रुख अपनाया। उन्होंने कई जैब और हुक लगाए। वे कैकिरोग्लू को कई बार रिंग के पास ले जाने में कामयाब हुई। कैकिरोग्लू के लिए तीसरे राउंड की शुरुआत बेहतरीन रही। उन्होंने दमदार जैब और हुक लगाते हुए कई महत्वपूर्ण अंक हासिल किए।

 

 

 

marry

 

मैरी कॉम वर्ल्ड चैम्पियनशिप में पहला पदक 2001 में जीती थीं

मैरी कॉम ने वर्ल्ड चैम्पियनशिप में अब तक छह स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक अपने नाम किया। उन्होंने पहला पदक 2001 में रजत जीता था। इसके बाद वे छह बार चैम्पियन बनने में कामयाब रहीं। उन्होंने 2012 लंदन ओलिंपिक में कांस्य पदक अपने नाम किया था। मैरी कॉम एशियन गेम्स में एक स्वर्ण और एक कांस्य जीतने में सफल रही हैं। इसके अलावा 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में भी वेे स्वर्ण जीती थीं। वे एशियन चैम्पियनशिप में 5 स्वर्ण, एक कांस्य और एशियन इंडोर गेम्स में एक स्वर्ण जीत चुकी हैं।

 

वर्ल्ड चैम्पियनशिप में मैरी कॉम के पदक

साल पदक
2019 कांस्य
2018 स्वर्ण
2010 स्वर्ण
2008 स्वर्ण
2006 स्वर्ण
2005 स्वर्ण
2002 स्वर्ण
2001 रजत

 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना