अमेरिका / 15 साल से पैरालाइज्ड एडम ने एक्सो-स्केलेटन सूट पहनकर मैराथन पूरी की, वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया

एडम के साथ रेस के दौरान उनके दोस्त और परिवार के लोग साथ थे। एडम के साथ रेस के दौरान उनके दोस्त और परिवार के लोग साथ थे।
X
एडम के साथ रेस के दौरान उनके दोस्त और परिवार के लोग साथ थे।एडम के साथ रेस के दौरान उनके दोस्त और परिवार के लोग साथ थे।

  • एडम गोरलिट्स्की ने चार्ल्सटन मैराथन 33 घंटे 50.23 मिनट में पूरी की
  • ब्रिटेन के साइमन किंडलेसाइड्स का 36 घंटे 46 मिनट का रिकॉर्ड तोड़ा

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2020, 08:04 AM IST

खेल डेस्क. अमेरिका के पैरालाइज्ड रनर एडम गोरलिट्स्की ने चार्ल्सटन मैराथन 33 घंटे 50 मिनट 23 सेकंड में पूरी की। एडम ने एक्सो-स्केलेटन सूट पहनकर 26.2 मील (करीब 42.1 किमी) की मैराथन पूरी की। उन्होंने यह सूट पहनकर सबसे कम समय में मैराथन पूरी करने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। एडम ने ब्रिटेन के साइमन किंडलेसाइड्स का 2018 में बनाया रिकार्ड तोड़ा। तब, साइमन ने एक्सो-स्केलेटन सूट पहनकर लंदन मैराथन 36 घंटे 46 मिनट में पूरी की थी।

2005 में कार एक्सीडेंट में एडम की रीढ़ की हड्‌डी में चोट लग गई थी। इसके बाद उनके कमर का निचला हिस्सा पैरालाइज्ड हो गया था। डॉक्टरों ने कहा था कि वे कभी चल नहीं सकेंगे। एडम ने गुरुवार रात को दौड़ शुरू की और शनिवार सुबह खत्म की। उन्होंने सोने तक के लिए ब्रेक नहीं लिया।

एडम ने दूसरी बार मैराथन में हिस्सा लिया
एडम ने दूसरी बार किसी मैराथन में हिस्सा लिया। इससे पहले वे पिछले साल लॉस एंजिल्स मैराथन में शामिल हुए थे। तब उन्होंने 17.2 मील दौड़ लगाई थी। दौड़ खत्म करने के बाद उन्होंने कहा, ‘गृहनगर में होने के कारण कई ग्रुप ने मुझे सपोर्ट किया। कई लोग पूरी रेस में मेरे साथ रहे। उनकी वजह से ही मुझे इस मैराथन को पूरा करने की ताकत मिली।’

‘एक्सो-स्केलेटन’ मशीन को चलने में मदद करता
एक्सो-स्केलेटन एक पहनने योग्य मशीन है, जो इलेक्ट्रिक मोटर, न्यूमैटिक्स, लीवर, हाइड्रालिक्स के कॉम्बिनेशन से संचालित होती है। इसकी मदद पैरालाइज्ड लोग चलने के लिए लेते हैं। इसमें सेंसर लगे होते हैं, जो मूवमेंट और संकेतों को समझकर मशीन को सिग्नल भेजते हैं। इस मशीन से उनके कंधों, कमर, जांघ, पीठ को सपोर्ट मिलता है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना