जापान / टोक्यो ओलिंपिक के दौरान गर्मी कम रखने के लिए आर्टिफिशियल बर्फ छिड़की जाएगी

प्रतिकात्मक फोटो। प्रतिकात्मक फोटो।
X
प्रतिकात्मक फोटो।प्रतिकात्मक फोटो।

  • जुलाई-अगस्त में टोक्यो में तापमान 35-40 डिग्री पहुंच जाता है
  • इससे तापमान 5-10 डिग्री कम होने की उम्मीद है

दैनिक भास्कर

Sep 06, 2019, 09:03 AM IST

खेल डेस्क. अगले साल यानी 2020 में टोक्यो में ओलिंपिक गेम्स होने हैं। गेम्स 24 जुलाई से 9 अगस्त तक होंगे। जुलाई-अगस्त में यहां तापमान 35 से 40 डिग्री तक पहुंच जाता है। इस गर्मी में खेल कैसे कराए जाएंगे, ये लंबे वक्त से चिंता का विषय था। ओलिंपिक ऑर्गनाइजिंग कमेटी ने फैसला किया है कि गेम्स के दौरान शहर में आर्टिफिशियल बर्फ का छिड़काव कराया जाएगा। ओलिंपिक कमेटी के एक सदस्य ने बताया- 'गेम्स के दौरान दर्शकों की सीट और मैदान के ऊपर भी आर्टिफिशियल बर्फ का छिड़काव किया जाएगा। इससे तापमान में 5 से 10 डिग्री की कमी आने की उम्मीद है। 13 सितंबर को हमने इस टेक्नोलॉजी का प्रयोग करना तय किया है। अगर प्रयोग सफल रहा तो इसे ओलिंपिक में इस्तेमाल के लिए फाइनल कर दिया जाएगा।'

 

ओलिंपिक कमेटी का दावा है कि इससे कुदरत को नुकसान नहीं होगा। आर्टिफिशियल बर्फ के लिए स्नो मेकिंग मशीन का इस्तेमाल किया जाएगा। स्नो मेकिंग मशीन से एक दिन में दस टन तक बर्फ बनाई जा सकती है। इसके अलावा खेल गांव में एयर कंडीशन टेंट, कूलिंग स्टेशन बनाने के भी सुझाव हैं, जिन पर अंतिम फैसला होना अभी बाकी है।

 

ब्रॉडकास्टर्स के दबाव में गेम्स जल्दी कराए जाने लगे थे
जापान में आखिरी बार 1964 में ओलिंपिक हुए थे। उस वक्त गेम्स अक्टूबर में कराए गए थे। लेकिन 1976 के बाद दुनियाभर में जुलाई-अगस्त के मौसम में लोगों के अच्छे मूड को भुनाने के लिए ब्रॉडकास्टर्स के दबाव में ओलिंपिक गेम्स को दो-तीन महीने पहले कराया गया।

 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना