घुड़सवारी / स्विट्जरलैंड स्टीव गुएरडाट तीसरी बार चैम्पियन बने, ऐसा करने वाले पांचवें घुड़सवार



स्टीव गुएरडाट। स्टीव गुएरडाट।
X
स्टीव गुएरडाट।स्टीव गुएरडाट।

  • गुएरडाट ने 2015 और 2016 में वर्ल्ड कप अपने नाम किया था
  • फाइनल में मार्टिन फुस दूसरे और पेडर फ्रेडिस्कन तीसरे स्थान पर रहे

Dainik Bhaskar

Apr 08, 2019, 09:49 AM IST

खेल डेस्क. दुनिया के नंबर एक घुड़सवार स्विट्जरलैंड के स्टीव गुएरडाट ने तीसरी बार एफईआई जम्पिंग वर्ल्ड कप जीत लिया। उन्होंने इससे पहले 2015 और 2016 में यह खिताब जीता था। वे तीन बार चैम्पियन बनने वाले दुनिया के पांचवें घुड़सवार हैं। उनसे पहले जर्मनी के मेरेडिथ मिशेल-बीयरबॉम, मार्क्स एहनिंग, ब्राजील के रोड्रिगो पेसोआ और ऑस्ट्रिया के हुगो सीमोन ने ऐसा किया था। सीमोन ने 1979 में पहला वर्ल्ड कप जीता था।

गुएरडाट ने 2012 ओलिंपिक में स्वर्ण पदक जीता था

  1. गुएरडाट के हमवतन मार्टिन फुस दूसरे और स्वीडन के पेडर फ्रेडिस्कन तीसरे स्थान पर रहे। 2012 ओलिंपिक में स्वर्ण पदक विजेता गुएरडाट ने जीत के बाद कहा, "मैं फाइनल खेलने को लेकर आश्वस्त नहीं था। शुक्रवार को स्पीड क्लास के बाद मैं नर्वस था, लेकिन अंत शानदार हुआ।"

  2. गुएरडाट ने कहा, "बाधाओं को पार करना घोड़े पर निर्भर है। मैं अपनी सवारी पर ध्यान केंद्रीत करने के साथ सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करता हूं। घोड़े ने मेरा अच्छे से साथ दिया। जब मैं छोटा था तब वर्ल्ड कप जीतने का सपना देखना था।"

  3. 36 साल के गुएरडाट ने कहा, "पहली बार 2015 में चैम्पियन बनना बेहतरीन था। 2016 में गुटेनबर्ग में विजेता बनना भी खास था।" वहीं, दूसरे स्थान पर मार्टिन फुस ने उन्हें जीत की बधाई दी। उन्होंने कहा, "अगर मैं हारता हूं तो यह अच्छा हुआ कि गुएरडाट विजेता बने। वे मेरे दोस्त और ट्रेनिंग के साथी हैं।"

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना