थर्ड अंपायर का फैसला RCB पर भारी:एक नो बॉल के बाद लगे 3 छक्के, रीप्ले में दिखा गेंदबाज का पैर लाइन के पीछे

मुंबई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 15वें सीजन में मंगलवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और राजस्थान रॉयल्स के मुकाबले में एक बार फिर थर्ड अंपायर के फैसले को लेकर विवाद हो गया है। इससे पहले सनराइजर्स और राजस्थान रॉयल्स के मैच के दौरान भी कैच पर थर्ड अंपायर के फैसले को लेकर विवाद हो गया था।

दरअसल रविवार को मुंबई के वानखेड़े में खेले गए इस मैच में नो बॉल दिए जाने को लेकर भी विवाद हुआ है। राजस्थान की पारी के आखिरी ओवर RCB के तेज गेंदबाज आकाश दीप कर रहे थे। आकाश के ओवर की दूसरी गेंद को थर्ड अंपायर ने नो-बॉल दिया था, लेकिन रीप्ले में साफ देखा जा सकता था कि ये गेंद नो-बॉल नहीं थी। गेंदबाज के पैर का हिस्सा लाइन के पीछे था, फिर भी नितिन मेनन ने इसे नो-बॉल करार दिया।

RCB पर भारी
थर्ड अंपायर नितिन मेनन ने जब आकाश दीप की गेंद को नो-बॉल करार दिया था तब स्ट्रइक एंड पर जोस बटलर थे। उन्होंने फ्री हिट पर छक्का जमाया। उसके बाद लगातार दो गेंदों पर भी छक्के लगाए। इस ओवर में राजस्थान के बल्लेबाजों ने 23 रन बनाए। आकाश दीप का यह ओवर RCBके लिए महंगा साबित हुआ। वहीं राजस्थान ने इस ओवर में बनाए गए रन की बदौलत 169 रन बनाए।

फिर भी RCB ने जीता मैच
बेशक इस मैच में अंपायर की गलती की वजह से आखरी ओवर में राजस्थान ने 23 रन बनाए, पर मैच में आखिरकार जीत RCB की हुई। टॉस हारकर बैटिंग करते हुए राजस्थान ने 3 विकेट खोकर 169 रन बनाए। जोस बटलर ने 47 गेंदों पर 70 रन की नाबाद पारी खेली। वहीं, शिमरोन हेटमायर 31 गेंदों पर 42 रन बनाकर नाबाद रहे। RCB की ओर से हसरंगा, विली और हर्षल ने 1-1 विकेट लिया।

टारगेट का पीछा करने उतरी RCB ने 6 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। शाहबाज अहमद ने सबसे ज्यादा 45 रन बनाए, जबकि दिनेश कार्तिक 44 के स्कोर पर नाबाद रहे। RR के लिए चहल और बोल्ट ने 2-2 विकेट लिए।

इससे पहले भी थर्ड अंपायर के इस फैसले पर भी उठे सवाल
इस मुकाबले से पहले राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ ही हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन के कैच दिए जाने को लेकर भी थर्ड अंपायर के फैसले पर विवाद हो चुका है। इस मामले में सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से IPL प्रशासन को लिखित में शिकायत भी दर्ज कराई गई है। दरअसल इस मैच में ,प्रसिद्ध कृष्णा के दूसरे ओवर की चौथी बॉल केन के बल्ले से किनारा लेकर विकेटकीपर संजू सैमसन के हाथ में गई। संजू से कैच छूट गया, लेकिन स्लिप में खड़े देवदत्त पडिक्कल ने कैच लपक लिया। ग्राउंउर अंपायर ने इस थर्ड अंपायर ने इस फैसले को थर्ड अंपायर के पास भेजा। पहले फ्रेम में ऐसा लग रहा था कि बॉल ग्राउंड को टच कर गई है, लेकिन थर्ड अंपायर की ओर कुछ देर तक इस कैच को देखा गया उसके बाद इसे आउट करार दिया गया।