धोनी की पारी की इनसाइड स्टोरी:CSK के हेड कोच ने बताया क्यों जडेजा से पहले बैटिंग करने आए माही; पोंटिग ने कहा- मैं पहले से जानता था

10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

चेन्नई सुपर किंग्स ने पहले क्वालिफायर में दिल्ली कैपिटल्स को 4 विकेट से हराकर फाइनल में जगह बना ली है। CSK को फाइनल में पहुंचाने का काम कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने किया। धोनी ने 6 गेंदों पर 18 रनों की नाबाद पारी खेली और शानदार चौका लगाकर टीम के लिए फाइनल का टिकट कटाया।

धोनी की बैटिंग को लेकर फ्लेमिंग ने किया खुलासा
CSK के हेड कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने धोनी के बल्लेबाजी क्रम को लेकर एक खुलासा किया है। फ्लेमिंग ने बताया कि धोनी के क्रीज पर जाने से पहले टीम के ड्रेसिंग रूम में क्या कुछ हुआ था। हेड कोच के मुताबिक धोनी ने कहा था कि वो खुद बैटिंग के लिए जाएंगे और सभी ने उनका समर्थन किया।

फ्लेमिंग ने कहा- काफी सारी बातचीत हुई। हमने इतनी चर्चा काफी समय से नहीं की थी। तकनीकी पहलुओं पर काफी बात हुई। जब कप्तान की तरफ देखा गया तो उन्होंने कहा कि मैं बल्लेबाजी के लिए जाऊंगा। मैंने बिल्कुल भी इसका विरोध नहीं किया और उसका रिजल्ट हमें मिला। ये हमारे लिए इमोशनल लम्हा था। जब भी धोनी मैदान में जाते हैं हम उन्हें अच्छा प्रदर्शन करने की शुभकामनाएं देते हैं। हमें पता है कि उनसे कितनी उम्मीदें रहती हैं और उनके ऊपर कितना दबाव रहता है। एक बार फिर उन्होंने टीम को जीत दिलाई।

जडेजा से पहले खुद को किया प्रमोट
धोनी जब बल्लेबाजी के लिए तब चेन्नई को 11 गेंदों पर 24 रनों की दरकार थी और ऐसी परिस्थिति में धोनी ने खुद को रवींद्र जडेजा से पहले प्रमोट कर सभी को हैरानी में डाल दिया। इससे पहले टूर्नामेंट में उनका प्रदर्शन निराशाजनक रहा था, लेकिन दिल्ली के खिलाफ मैच जिताऊ पारी खेल अपने आलोचकों के मुंह पर ताला लगाने का काम किया।

धोनी ने आवेश खान की गेंद पर छक्का लगाकर अपना खाता खोला था और आखिरी जब 6 गेंदों में टीम को 13 रन चाहिए थे, तब धोनी ने टॉम करन के ओवर की दूसरी, तीसरी और चौथी गेंद पर हैट्रिक चौके लगाते हुए चेन्नई को 9वीं बार फाइनल में पहुंचाया।

पोंटिंग ने कहा- मैं पहले से जानता था
वहीं दिल्ली कैपिटल्स के हेड कोच रिकी पोंटिंग ने कहा कि वो पहले से जानते थे कि धोनी जडेजा से पहले बैटिंग करने के लिए आएंगे। उन्होंने मैच के बाद कहा- धोनी महान बल्लेबाजों में से एक हैं और इसमें कोई शक नहीं है। हम डगआउट में बैठकर सोच रहे थे कि अब रवींद्र जडेजा आएंगे या धोनी, लेकिन मुझे यकीन था कि धोनी आएंगे और मैच खत्म करने की कोशिश करेंगे।