पहली बार स्टेडियम लगाए गए थे 100 से ज्यादा कैमरे:4D में दिखाया गया IPL का पहला क्वालिफायर, देख सकते थे फील्ड के किसी भी कोने का 360 व्यू

11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

IPL के पहले क्वालिफायर मैच में दुबई के आयोजकों ने स्टेडियम में 100 से ज्यादा CCTV कैमरे लगा रखे थे। कमेंट्री के दौरान इरफान पठान और आकाश चोपड़ा ने इसके बारे में करीब 10 बार बताया। इन दोनों का दावा था कि स्टेडियम 100 CCTV इसलिए लगाए गए हैं, ताकि दर्शकों को मैदान के किसी भी कोने का 360 डिग्री व्यू दिखाया जा सके।

मैच के दौरान करीब 8 से 9 बार अलग से स्टेडियम में लगे CCTV कैमरों को दिखाया गया। 5 बार से ज्यादा किसी बल्लेबाज के बैटिंग के दौरान एक ही जगह पर उसके चारों ओर से 360 डिग्री व्यू एक ही फ्रेम में दिखाया गया, यानी पूरे स्टेडियम का एक भी ऐसा कोना नहीं था जहां कैमरे की नजर नहीं थी।

पहले भारत में भी लग चुक हैं 74 CCTV कैमरे, पर तब बात अलग थी
इससे पहले 14 अक्टूबर 2015 को कटक में खेले गए भारत और द. अफ्रीका के मैच में 74 CCTV कैमरे लगाए गए थे। हालांकि, मामला अलग था। इंडिया में खेले गए एक मैच में दर्शकों ने जमकर उत्पात मचा दिया था। वो लगातार खिलाड़ियों को बॉटल से मार रहे थे और कुछ जगहों पर कुर्सियां तोड़ते हुए भी लोग दिखे थे।

इसी के बाद होल्कर स्टेडियम में हर व्यक्ति पर कड़ी नजर रखने के लिए ऐसा किया था। स्टेडियम में 74 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए। इनमें 30 कैमरे स्टेडियम के बाहर और 40 कैमरे स्टेडियम के अंदर थे। स्टेडियम में 30 मेगापिक्सल सहित कुल 4 विशेष कैमरे भी थे, जिसके जरिये एक-एक व्यक्ति की स्पष्ट तस्वीर देखी जा सकती थी।

औसतन 32 हायर क्वॉलिटी कैमरों से होती है मैच की कवरेज
ICC के मैच में आमतौर पर आज के जमाने में 32 प्रोफेशन हाईफाई कैमरे लगाए जाते हैं। हालांकि, ये दौर हालिया है। 2010 के दौर तक मैदान में 20 कैमरे भी नहीं हुआ करते थे। कई बार रन आउट, चौके और छक्कों के फैसलों के लिए भी पर्याप्त फुटेज नहीं मिला करते थे। इसीलिए क्रिकेट में बेनिफिट ऑफ डाउट जैसी शब्दावली जमकर यूज की जाती थी। अब अगर 1 इंच का भी मामला है तो वो बहुत साफ तरीके से देखा जा सकता है।

खबरें और भी हैं...