IPL में बज रहा है DK का डंका:कार्तिक 200 की स्ट्राइक रेट से बना रहे हैं रन, ऋषभ पंत की जगह पड़ी खतरे में

मुंबई2 महीने पहलेलेखक: कुमार ऋत्विज

IPL 2022 की 12 पारियों में 200 की स्ट्राइक रेट और 68 की औसत से 274 रन बना चुके दिनेश कार्तिक के खेल का स्तर बेहद शानदार नजर आया है। 36 वर्षीय डीके की वजह से अब टीम इंडिया में ऋषभ पंत की जगह पर खतरा मंडराता नजर आ रहा है।

IPL 2022 में डेथ ओवर के दौरान डीके की बैटिंग के सामने दिग्गज गेंदबाज भी पानी भरते नजर आए हैं। डीके के दमदार प्रदर्शन को देखकर उनके टी-20 वर्ल्ड कप खेलने की उम्मीद जताई जी रही है। ऐसे में मौजूदा प्रदर्शन के आधार पर ऋषभ पंत के ऊपर दिनेश कार्तिक को वरीयता दी जा सकती है।

RCB की हर जीत में नाबाद रहे हैं दिनेश कार्तिक
यहां पर बात केवल तेजी से बल्लेबाजी करके कुछ रन जोड़ देने की नहीं है। दिनेश कार्तिक RCB को मिली सभी जीत में नाबाद रहे हैं। इन नॉट आउट पारियों में उन्होंने 202 की स्ट्राइक रेट से 200 रन बनाए हैं। सनराइजर्स के गेंदबाजी आक्रमण को मजबूत माना जाता है, लेकिन उसके खिलाफ भी इस स्टार बल्लेबाज ने 8 गेंदों पर नाबाद 30 रन जड़ दिए।

क्रिकेट फैंस लगातार सोशल मीडिया पर डिमांड कर रहे हैं कि साल के अंत में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप की टीम में दिनेश को होना ही चाहिए। 2004 में टीम इंडिया के लिए डेब्यू करने वाले दिनेश कार्तिक कई बार टीम में कमबैक करते रहे हैं।

पंत के बल्ले से नहीं आ रही है मैच विनिंग पारी
एक तरफ दिनेश कार्तिक लगातार अपने प्रदर्शन से वर्ल्ड कप टीम में अपनी जगह बनाने के लिए मजबूती से दावा ठोक रहे हैं, तो वहीं ऋषभ पंत का बल्ला मानो उनसे रूठ गया है। बैटिंग में निराशाजनक प्रदर्शन के बीच विवादों के कारण वह जरूर सुर्खियां बटोर रहे हैं। टॉप ऑर्डर में खेलने वाले पंत अब तक IPL में एक भी मैच विनिंग इनिंग नहीं खेल सके हैं। गौर करने वाली बात है कि पंत के बल्ले से अबतक इस सीजन में 1 भी अर्धशतक नहीं निकला है।

राजस्थान के खिलाफ हुए मुकाबले में जिस तरह पंत ने अंपायर द्वारा नो-बॉल न देने पर अपने बल्लेबाजों को वापस आने का इशारा किया था, उससे उनकी छवि को गहरा धक्का पहुंचा है। अगर पंत IPL 15 ग्रुप स्टेज के बाकी बचे 3 मुकाबलों में लय में नहीं लौटते हैं, तो टी-20 विश्व कप में उनके चयन पर सवालिया निशान लग सकता है।

विराट डीके के प्रदर्शन से खासे प्रभावित
डीके इस साल RCB के लिए बल्ले से कहर बरपा रहे हैं। सभी चयनकर्ता उनके प्रदर्शन पर जरूर निगाहें टिकाए होंगे। दिनेश कार्तिक की टीम में विराट कोहली भी मौजूद हैं।

हमने देखा था कि एक मैच के बाद इंटरव्यू सेशन के दौरान डीके ने कोहली को साफ तौर पर कहा था, 'मैं टी-20 वर्ल्ड कप टीम में जगह बनाना चाहता हूं।' जवाब में विराट ने कहा था कि कार्तिक की तरह अभी कोई भी मैच फिनिश नहीं कर पा रहा है।

विराट अब टीम इंडिया के कप्तान नहीं हैं, लेकिन जब विश्व कप के लिए टीम चुनी जाएगी तो सीनियर प्लेयर होने के नाते उनसे सलाह मशविरा अवश्य होगा।

जब भी दिनेश कार्तिक टीम के लिए महत्वपूर्ण इनिंग खेलते हैं, विराट पूरी गर्मजोशी से डीके का स्वागत करते हैं।
जब भी दिनेश कार्तिक टीम के लिए महत्वपूर्ण इनिंग खेलते हैं, विराट पूरी गर्मजोशी से डीके का स्वागत करते हैं।

बखूबी निभा रहे हैं फिनिशर की भूमिका
36 वर्षीय दिनेश कार्तिक को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की टीम में फिनिशर की भूमिका दी गई है। हमने देखा है कि डीके इसके लिए लगातार अभ्यास भी कर रहे हैं। जिन खिलाड़ियों ने प्रतियोगिता में कम से कम 100 रन बना लिए हैं, उनमें सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट दिनेश कार्तिक का है।

डीके इस सीजन 200 के स्ट्राइक रेट से खेल रहे हैं। उनके बल्ले से IPL 15 के चौथे सर्वाधिक 21 छक्के निकले हैं।

जब डीके का बल्ला नहीं चला, टीम को नसीब हुई हार
दिनेश कार्तिक के फॉर्म का महत्व आप इससे समझ सकते हैं कि तीन मुकाबलों में जब उनके रन नहीं बने, तो बेंगलुरु को हैट्रिक हार का सामना करना पड़ा। आखिरी दो मुकाबलों में उन्होंने रन बनाए, तो बेंगलुरु ने CSK और SRH के खिलाफ खेले गए मुकाबलों में जीत दर्ज की। अगर बेंगलुरु को प्लेऑफ से आगे बढ़ना है तो डीके की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण रहेगी।

चेन्नई और हैदराबाद के खिलाफ दिखा आक्रामक अंदाज
चेन्नई के लिए बेंगलुरु के खिलाफ खेला गया मुकाबला करो या मरो वाला मैच था। दूसरी तरफ बेंगलुरु भी तीन मुकाबले गंवा कर मैदान पर उतर रही थी। ऐसे में डीके ने 17 बॉल पर 26 रन की नॉटआउट पारी खेल दी। इसके बाद सनराइजर्स के खिलाफ कार्तिक के बल्ले से 4 धमाकेदार छक्के निकले। फजलहक फारूकी के आखिरी ओवर में 25 रन बटोर कर डीके ने टीम का स्कोर 192 तक पहुंचा दिया।

परिणाम यह हुआ कि टीम को 67 रनों की भव्य जीत नसीब हुई। इन दोनों मुकाबलों से पहले कार्तिक के बल्ले से 0, 6 और 2 रन निकले थे।

क्रिकेट में एक फिनिशर होना बेहद कठिन जिम्मेदारी होती है। फिनिशर को पहली ही गेंद से बड़ा प्रहार करना होता है। गेंदबाजों का जायजा लेने के साथ ही परिस्थिति को समझने का यहां पर कोई मौका नहीं होता। यह भी नहीं है कि आप किसी एक गेंदबाज के खिलाफ बिग हिट लगाएं। जो गेंदबाज आपके सामने आ रहा है, सभी को खिलाफ आपको बड़े शॉट खेलने होंगे।

इस वर्ष अपने कैंपेन की शुरुआत डीके ने 4 नाबाद पारियों से की। इसका परिणाम हुआ कि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को टूर्नामेंट में बेहतर शुरुआत मिली। पंजाब के हाथों पहला मुकाबला गंवाने के बाद टीम ने लगातार तीन मैच जीते। इन चार मुकाबलों में डीके के बल्ले से 97 रन निकले, जिनमें उनका स्ट्राइक रेट 211 के आसपास रहा।

डीके हर हाल में बनना चाहते हैं टी-20 वर्ल्ड कप का हिस्सा
कार्तिक ने IPL के बीच में कहा था, 'मेरा विजन देश के लिए खेलना है। मैं जानता हूं कि टी-20 विश्वकप आने वाला है और मैं उस टीम का हर हाल में हिस्सा बनना चाहता हूं। इंडिया को मल्टी नेशन टूर्नामेंट जीते हुए काफी वक्त हो गया। मैं वह खिलाड़ी बनना चाहता हूं, जो टीम को जीत दिला सकके। इसके लिए मुझे काफी कुछ करना होगा।

मुझे वह खिलाड़ी बनना होगा, जिसके बारे में लोग बोलें - यह कुछ स्पेशल कर रहा है। मैंने अपने ट्रेनिंग के तरीकों को बदला है। मैं लगातार खुद को कह रहा था कि अभी मैं खत्म नहीं हुआ। मेरा एक मकसद है और मुझे उसे हासिल करना है। बीते कुछ वर्षों में शायद मैं बेहतर कर सकता था लेकिन अब मैं हर हाल में अपने साथ न्याय करना चाहता हूं। ' डीके की बातों से यह एहसासा होता है कि टी-20 वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा बनना उनके लिए कितना अहम है।

रविशास्त्री मानते हैं कि डीके को मिलेगी इंडियन टीम में जगह
इंडियन टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री ने ESPN क्रिकइंफो से बातचीत करते हुए कहा - 'चोटिल होते खिलाड़ियों के बीच अगर दिनेश कार्तिक का IPL सीजन इतना शानदार जा रहा है, तो वह टी-20 वर्ल्ड कप के लिए खिलाड़ियों की सूची में जरूर होगा। डीके के पास अनुभव है और हर तरह के शॉट मौजूद हैं। अब टीम में धोनी भी नहीं हैं। ऐसे में हमें एक फिनिशर की आवश्यकता है।'

दिनेश कार्तिक को इंटरनेशनल डेब्यू किए हुए 18 साल हो गए। महेंद्र सिंह धोनी के रहते हुए उन्हें कभी टीम में लंबे वक्त तक खेलने का मौका नहीं मिला। 2019 वनडे वर्ल्ड कप में 25 गेंद खेलकर वह सिर्फ 6 रन बना सके । इस नाकामी ने उनके करियर को बुरी तरह प्रभावित किया। अब लगता है कि IPL 15 में दमदार प्रदर्शन के बूते पर टीम इंडिया में वापसी का उनका सपना जल्द पूरा हो सकता है।