मुंबई की लगातार छठी हार के दोषी रोहित:7 गेंद में 6 रन बनाकर आउट हो गए, बुमराह की जगह तिलक वर्मा से कराया पहला ओवर

मुंबई4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

IPL 2022 के 26वें मैच में लखनऊ की टीम ने मुंबई इंडियंस को 18 रन से हरा दिया है। ये IPL इतिहास में पहली बार है जब मुंबई किसी सीजन में लगातार 6 मैच हारी है। लखनऊ ने मुंबई को 200 रन का टारगेट दिया था, लेकिन मुंबई 9 विकेट के नुकसान पर 181 रन ही बना सकी।

MI की इस हार के सबसे बड़े जिम्मेदार कप्तान रोहित शर्मा रहे। टीम को जब उनकी सबसे ज्यादा जरूरत थी, तब उनके बल्ले से 7 गेंद में 6 रन निकले। वहीं, उनकी कप्तानी भी कुछ खास नहीं रही। सबसे आश्चर्य करने वाला फैसला ये रहा कि रोहित ने लखनऊ के खिलाफ पारी का पहला ओवर जसप्रीत बुमराह से नहीं बल्कि तिलक वर्मा से कराया।

200 का टारगेट चेज करने उतरे और सिर्फ 6 रन बनाए
इस सीजन रोहित का बल्ला पूरी तरह से फ्लॉप रहा है। जब भी टीम को उनसे बड़ी पारी की जरूरत पड़ी है, इस खिलाड़ी ने पूरी तरह से निराश किया है। आज के मुकाबले में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला। तीसरे ओवर की चौथी गेंद पर आवेश खान ने एक लेंथ गेंद चौथे स्टंप पर डाली, गेंद अंदर की ओर आई और रोहित उसपर शॉट खेलने गए, लेकिन गेंद बल्ले का अंदरूनी किनारा लेते हुए डिकॉक के हाथों में चल गई। रोहित ने 85.17 के स्ट्राइक रेट से रन बनाया।

IPL 2022 में रोहित शर्मा के बल्ले से एक भी अर्धशतक नहीं निकला है।
IPL 2022 में रोहित शर्मा के बल्ले से एक भी अर्धशतक नहीं निकला है।

इस सीजन बल्ले से एक भी अर्धशतक नहीं
IPL 2022 में MI के कप्तान ने अबतक 6 पारियों में केवल 19 की ओसत से 114 रन बनाए हैं। एक भी मुकाबले उनके बल्ले से अर्धशतक नहीं निकला है। जब टीम लगातार मैच हारती है, तो टीम के कप्तान को जिम्मेदारी लेनी होती है, लेकिन इस सीजन रोहित ने किसी भी मैच में ये जिम्मेदारी नहीं उठाई है।

पंजाब के खिलाफ मुकाबले में सूर्यकुमार यादव को पांचवें नंबर पर भेज दिया
रोहित की कप्तानी भी इस सीजन कुछ खास नहीं रही है। पिछले मुकाबले में रोहित ने सूर्यकुमार यादव को पांचवीं नंबर पर बल्लेबाजी करने भेजा, उनका ये फैसला किसी को समझ नहीं आया। सूर्या इस सीजन कमाल के फॉर्म में हैं। अगर वह ज्यादा गेंद खेलते तो शायद मुंबई मैच जीत भी सकती थी। रोहित को बड़े-बड़े स्कोर बनाने के साथ-साथ खुद के दम पर मैच जीताने के लिए भी जाना जाता है, लेकिन इस सीजन ऐसा नहीं हो रहा है। टीम इंडिया के खराब प्रदर्शन के बड़े कारणों में से एक यह भी है।