सचिन तेंदुलकर का बेटे पर बयान:क्रिकेट से प्यार है तो मेहनत करो, MI की टीम सिलेक्शन से मेरा कोई लेना-देना नहीं

कोलकाता6 महीने पहले

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने अपने बेटे के क्रिकेट करियर को लेकर बड़ा बयान दिया है। सचिन का कहना है कि अर्जुन को इस खेल से बेशुमार मोहब्बत है, इसलिए वह क्रिकेट खेलता है। हालांकि, मैं उसे यही कहता हूं कि रास्ता मुश्किल है। आगे बढ़ने से पहले इस पोल में हिस्सा जरूर लें।

सचिन ने कहा- सिलेक्शन से कोई लेना-देना नहीं
सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर को IPL के दो सीजन (IPL 2021 और 2022) में मुंबई इंडियंस के 28 मैच में एक बार भी खेलने का मौका नहीं मिला। बार-बार खबर आती रही कि अब अर्जुन को मौका मिल सकता है, लेकिन वह अवसर कभी नहीं आया।

इसको लेकर अर्जुन के पिता सचिन ने बताया कि, उनका सिलेक्शन से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन वह हमेशा बेटे को समझाते हैं कि उनकी राह आसान नहीं बल्कि बेहद मुश्किल और चुनौतीपूर्ण है। 22 वर्षीय अर्जुन ने अपने करियर में अब तक घरेलू टीम मुंबई की ओर से सिर्फ दो टी-20 मुकाबले खेले हैं।

इस बार 30 लाख में बिके थे अर्जुन
मुंबई इंडियंस के साथ मेंटर के तौर पर जुड़े सचिन तेंदुलकर ने यह भी स्पष्ट किया कि वह चयन मामलों में हस्तक्षेप नहीं करते। गौरतलब है कि बाएं हाथ के तेज गेंदबाज और बाएं हाथ के बल्लेबाज अर्जुन को पांच बार के IPL चैंपियन मुंबई इंडियन्स ने अपने साथ जोड़ा था।

IPL 15 में MI के आखिरी मुकाबले से पहले रन अप मार्क करते अर्जुन तेंदुलकर ।
IPL 15 में MI के आखिरी मुकाबले से पहले रन अप मार्क करते अर्जुन तेंदुलकर ।

2021 में अर्जुन 20 लाख के बेस प्राइज पर फ्रेंचाइजी के साथ जुड़े थे और 2022 में उन्हें 30 लाख रुपए में टीम ने खरीदा था। लीग के दो सत्र में उन्हें एक भी मैच में खेलने का मौका नहीं मिला।

अर्जुन को मौका नहीं मिलने पर क्या बोले सचिन?
एक शो पर जब सचिन तेंदुलकर से यह पूछा गया कि क्या वह इस साल अर्जुन को खेलते हुए देखना पसंद करते तो उन्होंने कहा, ‘‘यह अलग सवाल है। मैं क्या सोच रहा हूं या मैं क्या महसूस कर रहा हूं, यह महत्वपूर्ण नहीं है।

सीजन खत्म हो चुका है (मुंबई इंडियंस के लिए) और अर्जुन के साथ हमेशा मेरी यही बात होती है कि डगर चुनौतीपूर्ण होगी और मुश्किल होगी।’’ मुंबई इंडियंस इस साल पॉइंट्स टेबल में आखिरी यानी 10वें पर रहते हुए टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी है।

200 टेस्ट मैच खेलने वाले इकलौते खिलाड़ी हैं सचिन

सचिन ने अपने टेस्ट करियर में 51 शतक लगाए। उनसे ज्यादा शतक आज तक कोई दूसरा खिलाड़ी नहीं लगा सका है।
सचिन ने अपने टेस्ट करियर में 51 शतक लगाए। उनसे ज्यादा शतक आज तक कोई दूसरा खिलाड़ी नहीं लगा सका है।

200 टेस्ट मैच खेलने वाले एकमात्र क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने अर्जुन से हुई बातचीत पर आगे कहा कि, "तुमने क्रिकेट खेलना शुरू किया क्योंकि तुम्हें क्रिकेट से प्यार है, ऐसा करना जारी रखो, कड़ी मेहनत जारी रखो और नतीजे मिलेंगे। जहां तक चयन का सवाल है, तो मैं इसे टीम मैनेजमेंट पर छोड़ देता हूं।"

सचिन कहते हैं, "अगर हम चयन के बारे में बात करते हैं, तो मैं कभी स्वयं को चयन में शामिल नहीं करता। मैं ये सारी चीजें टीम प्रबंधन पर छोड़ देता हूं, क्योंकि मैंने हमेशा ऐसे ही काम किया है।"

सारा ने जताई है भाई का टाइम आने की उम्मीद

अपने भाई अर्जुन तेंदुलकर के साथ बहन सारा तेंदुलकर। सारा अक्सर भाई का समर्थन करती हुई दिखाई पड़ती हैं।
अपने भाई अर्जुन तेंदुलकर के साथ बहन सारा तेंदुलकर। सारा अक्सर भाई का समर्थन करती हुई दिखाई पड़ती हैं।

इस साल सीजन के आखिरी मैच में भी अर्जुन को टीम में मौका ना दिए जाने पर उनकी बहन सारा ने एक स्टोरी शेयर की थी। इस स्टोरी में अर्जुन पानी की बोतल लेकर बाउंड्री लाइन के पास नजर आए। बैकग्राउंड में 'अपना टाइम आएगा' गीत बज रहा था। फैंस को उम्मीद थी कि सीजन के आखिरी मैच में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ अर्जुन को मौका दिया जाएगा। अर्जुन टॉस से पहले फील्ड पर बॉलिंग रन अप मार्क करते हुए भी दिखे थे।हालांकि टॉस के बाद टीम अनाउंसमेंट के दौरान साफ हो गया अर्जुन को इस मुकाबले में भी मुंबई इंडियंस के प्लेइंग 11 में जगह नहीं दी जाएगी।