RCB के लिए अकेले लड़े रजत पाटीदार:राजस्थान के खिलाफ 58 रन बनाए, कोहली-फाफ और कार्तिक का फ्लॉप शो

अहमदाबाद6 महीने पहले

इंदौर के युवा IPL स्टार रजत पाटीदार का बल्ला एलिमिनेटर के बाद क्वालिफायर 2 में भी जमकर बोला। विराट कोहली के जल्दी आउट हो जाने के बाद फैंस की सारी उम्मीदें रजत पर टिक गई थीं। रजत उम्मीदों पर बिल्कुल खरे उतरे। उन्होंने दबाव के बीच 42 गेंदों पर 58 रन बनाए।

रजत पाटीदार से जुड़ी ये 2 खबरें भी पढ़ सकते हैं।
कहानी इंदौर के IPL स्टार रजत पाटीदार की:क्रिकेट के कारण 12वीं के बाद नहीं दे सके एग्जाम, शादी टालकर RCB से जुड़े

IPL में इंदौर का रजत चमका:रिप्लेसमेंट प्लेयर के तौर पर जुड़कर बेंगलुरु को एलिमिनेटर में बड़ी जीत दिलाई, 112* रन जड़े

जिस विकेट पर विराट, फाफ डु प्लेसिस और दिनेश कार्तिक जैसे इंटरनेशनल बल्लेबाज रन के लिए तरस गए, वहां पाटीदार ने मोर्चा संभाल लिया। 4 चौकों और 3 छक्कों से सजी रजत की पारी के दौरान लग रहा था कि अगर वे अंत तक टिक गए, तो RCB की टीम राजस्थान को बहुत बड़ा टारगेट देगी। बाउंड्री लाइन पर बटलर के शानदार कैच पर रजत के आउट होने के साथ ही बेंगलुरु की बड़े स्कोर की उम्मीद खत्म हो गई। आगे बढ़ने से पहले पोल में जरूर हिस्सा लें।

रजत ने सुरेश रैना की बराबरी की
रजत पाटीदार ने अपनी इस पारी के दौरान एक खास रिकॉर्ड भी बनाया। पाटीदार अब IPL के किसी सीजन में एलिमिनेटर और क्वालिफायर-2 मैच में 50 या उससे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे खिलाड़ी बन गए हैं। रैना ने 2014 के IPL में यह कारनामा किया था। तब मुंबई इंडियंस के खिलाफ रैना ने CSK के लिए एलिमिनेटर मैच में नाबाद 54 रन बनाए थे। फिर क्वालिफायर-2 में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ रैना ने 87 रनों की पारी खेली थी।

रजत ने एलिमिनेटर में लखनऊ सुपर जायंट्स के खिलाफ 54 गेंदों पर नाबाद 112 रन बनाए थे। क्वालिफायर 2 में भी उनके बल्ले से 58 रन निकले।

रजत की बल्लेबाजी के दौरान हर बड़े शॉट पर विराट कोहली तालियां बजाते देखे गए।
रजत की बल्लेबाजी के दौरान हर बड़े शॉट पर विराट कोहली तालियां बजाते देखे गए।

विराट और फाफ नहीं चले
राजस्थान के खिलाफ क्वालिफायर-2 में भी RCB के पूर्व कप्तान विराट कोहली का बल्ला नहीं चला। मैच में उन्होंने 8 गेंदों में सिर्फ 7 रन बनाए। उन्हें प्रसिद्ध कृष्णा ने आउट किया। दूसरे ओवर की पांचवीं गेंद प्रसिद्ध ने शॉर्ट ऑफ लेंथ डाली, जो ऑफ स्टंप के बाहर थी। कोहली खड़े-खड़े ऑफ साइड में बड़ा शॉट खेलना चाहते थे, लेकिन गेंद ने बल्ले का बाहरी किनारा लिया औैर सैमसन ने एक आसान सा कैच लपक लिया।

इससे पहले लखनऊ के खिलाफ मुकाबले में भी विराट कुछ खास कमाल नहीं कर पाए थे और 24 गेंद में 25 रन बनाकर आउट हो गए थे।

प्रसिद्ध कृष्णा की ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंद पर आउट होने के बाद पवेलियन की ओर जाते विराट कोहली।
प्रसिद्ध कृष्णा की ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंद पर आउट होने के बाद पवेलियन की ओर जाते विराट कोहली।

RCB के कप्तान फाफ डु प्लेसिस से राजस्थान के खिलाफ मैच में बड़ी पारी खेलने की उम्मीद थी, लेकिन वह बिल्कुल भी लय नहीं प्राप्त कर सके। फाफ 27 गेंद में 25 रन बनाकर आउट हुए। उनका विकेट ओबेद मैक्कॉय ने लिया। डु प्लेसिस ने मैच में चौके-छक्के लगाने की कोशिश तो की, लेकिन कामयाब नहीं हो सके। उनका एक कैच संजू सैमसन के हाथों छूट गया था। फाफ इसका भी फायदा नहीं उठा पाए।

विराट का विकेट चटकाने वाले प्रसिद्ध कृष्णा पर भारी पड़े पाटीदार
पिछले मैच में शतक लगाने वाले रजत की बल्लेबाजी देखकर कॉमेंट्री कर रहे दिग्गज खिलाड़ियों ने उनको फ्यूचर का स्टार बताया। चौथे ओवर की पहली गेंद पर प्रसिद्ध कृष्णा के खिलाफ रजत ने ऑफसाइड के बाहर की शॉर्ट बॉल को स्लिप के ऊपर थर्डमैन बाउंड्री के ऊपर से भेज दिया। तीसरी गेंद भी रजत के बल्ले से चौके के लिए गई।

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ बल्लेबाजी के दौरान ग्लेन मैक्सवेल के साथ रजत पाटीदार।
राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ बल्लेबाजी के दौरान ग्लेन मैक्सवेल के साथ रजत पाटीदार।

छठे ओवर में फिर से प्रसिद्ध कृष्णा और पाटीदार का आमना-सामना हुआ। रजत ने तीसरी गेंद पर बैकफुट से शॉट लगाते हुए बैकवर्ड पॉइंट के बगल से शानदार चौका जड़ दिया।

चहल के खिलाफ भी जमकर बोला पाटीदार का बल्ला
पेसर्स के बाद बाद स्पिनर्स की बारी आई। वहां भी रजत पाटीदार ने बल्ले से कहर बरपाया। चहल के खिलाफ 9वें ओवर की तीसरी गेंद पर रजत ने फ्रंट लेग क्लियर करते हुए शानदार छक्का जड़ा। गौर करने वाली बात थी कि पाटीदार फियरलेस क्रिकेट खेल रहे थे।

युजवेंद्र चहल के खिलाफ छक्का जड़ते इंदौर के युवा IPL स्टार रजत पाटीदार।
युजवेंद्र चहल के खिलाफ छक्का जड़ते इंदौर के युवा IPL स्टार रजत पाटीदार।

स्पिनर्स के खिलाफ रजत ने हेलमेट भी नहीं पहन रखा था। 15वें ओवर की अंतिम गेंद पर चहल के खिलाफ लॉन्ग ऑफ के ऊपर से शानदार छक्का जड़ते हुए उन्होंने अपना अर्धशतक पूरा किया। 58 रन बनाने के बाद पाटीदार ने अश्विन की कैरम बॉल को लॉन्ग ऑफ के ऊपर से छक्के के लिए भेजने का प्रयास किया।

यह गेंद उनके स्लॉट में नहीं थी और सीमा रेखा पर बटलर ने एक शानदार कैच लपक लिया। अगर रजत के साथ कोई बल्लेबाज दूसरे छोर से बड़े शॉट खेल रहा होता, तो रजत पर रन रेट का प्रेशर नहीं आता। इन हालात में वे स्लॉट में मिलने वाली गेंदों पर ही प्रहार करते। ऐसा होता तो बेंगलुरु बड़े स्कोर तक पहुंचकर मुकाबला जीतने की स्थिति में होती।