IPL राइट्स:प्रसारण अधिकार हासिल करने में DREAM-XI के बाद अब गूगल ने भी रुचि दिखाई,  BCCI कमाएगा 54 हजार करोड़

मुंबई13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

इंडियन प्रीमियर लीग के मीडिया राइट्स बेचकर भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) बंपर कमाई करने वाला है। 2023 से 2027 तक पांच सीजन के राइट्स की नीलामी से बोर्ड 7.2 बिलियन डॉलर (करीब 54 हजार करोड़ रुपए) की कमाई कर सकता है। इंटरनेट सर्च इंजन गूगल की मालिक अल्फाबेट इंक ने भी IPL के मैचों के प्रसारण अधिकार हासिल करने के लिए बोली लगाने की रुचि दिखाई है। उसने BCCI से बोली लगाने से संबंधित दस्तावेज खरीदे हैं। दक्षिण अफ्रीका स्थित टेलीविजन चैनलों के समूह सुपरस्पोर्ट ने भी दस्तावेज खरीदे हैं। इससे पहले अमेजन डॉट कॉम इंक, वॉल्ट डिज्नी कंपनी, रिलांयस इंडस्ट्रीज, सोनी ग्रुप कॉर्प, जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेस और फैंटैसी-स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म ड्रीम-11 BCCI से दस्तावेज ले चुकी हैं। BCCI 2023-2027 के लिए प्रसारण अधिकार बेचने के लिए नीलामी 12 जून से शुरू करेगा।

2023 से 2027 तक 5 साल के लिए दिए जानें हैं राइट्स
मीडिया सोर्स के अनुसार 2023 से 2027 तक 5 साल के लिए भारतीय बोर्ड को इस लीग के ब्रॉडकास्ट राइट्स के एवज में 54 हजार करोड़ रुपए तक मिल सकते हैं। BCCI ने 2018 से 2022 तक के लिए ये राइट्स 16,347.50 करोड़ रुपए में स्टार इंडिया को बेचा था। स्टार इंडिया की पेरेंट कंपनी वाल्ट डिज्नी है। वह अमेरिकी कंपनी है।

पिछले साल 35 करोड़ दर्शकों ने देखा IPL
IPL का प्रसारण स्टार स्पोर्ट्स के चैनलों और डिज्नी + हॉटस्टार पर हुआ था। पिछले सीजन में लीग मैच की व्‍यूअरशिप 35 करोड़ (350 मिलियन) दर्शकों तक पहुंच गई थी।

भारत के अलावा 7 देशों में IPL का प्रसारण
भारत के अलावा भारतीय उपमहाद्वीप के देशों जैसे श्रीलंका, बांग्लादेश, नेपाल, भूटान और मालदीव में IPL के प्रसारण अधिकार स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क के पास ही हैं। ये प्रसारण 7 भाषाओं हिंदी, इंग्लिश, तमिल, तेलुगु, मलयालम, कन्नड़ और बंगाली में किया जाएगा।

चार अलग-अलग ग्रुपों की होगी नीलामी
BCCI इस बार मीडिया राइट्स के चार अलग-अलग ग्रुपों की नीलामी कर रहा है। पहला ग्रुप भारतीय उपमहाद्वीप में टीवी राइट्स का है। दूसरा ग्रुप डिजिटल राइट्स का है। तीसरे ग्रुप में 18 मैच शामिल किए गए हैं। इन 18 मैचों में सीजन का पहला मैच, वीक एंड पर होने वाले हर डबल हेडर में शाम वाला मैच और चार प्लेऑफ मुकाबलों को रखा गया है। चौथे बकेट में भारतीय उपमहाद्वीप के बाहर के प्रसारण अधिकार शामिल हैं।

बेस प्राइस 32,890 करोड़ रुपए
BCCI ने सभी चार ग्रुप को मिलाकर कुल 32,890 करोड़ रुपए का बेस प्राइस तय किया है। हर मैच के टेलीविजन राइट्स का बेस प्राइस 49 करोड़ रुपए रखा गया है। वहीं, एक मैच के डिजिटल राइट्स का बेस प्राइस 33 करोड़ रुपए रखा गया है। 18 मैचों के क्लस्टर में हर मैच का बेस प्राइस 16 करोड़ रुपए है। भारतीय उपमहाद्वीप के बाहर के राइट्स के लिए प्रति मैच बेस प्राइस 3 करोड़ रुपए है। इस तरह कुल रकम 32,890 रुपए होती है। बोर्ड को उम्मीद है कि उसे करीब 54 हजार करोड़ रुपए मिलेंगे।

दो दिन होगी राइट्स की नीलामी
बोर्ड ने बताया है कि पहले और दूसरे ग्रुप की नीलामी एक दिन होगी। वहीं, तीसरे और चौथे ग्रुप की नीलामी उसके अगले दिन की जाएगी। यह प्रक्रिया ई-ऑक्शन के जरिए पूरी होगी। पहले ग्रुप विजेता कंपनी को दूसरे ग्रुप लिए दोबारा बोली लगाने की इजाजत होगी। यानी, अगर दूसरा ग्रुप किसी और कंपनी ने खरीदा है तो पहला ग्रुप खरीदने वाली कंपनी उससे ज्यादा रकम देकर उसे हासिल कर सकती है। इसी तरह दूसरे ग्रुप की विजेता कंपनी को तीसरे ग्रुप के लिए फिर से बोली लगाने की इजाजत होगी।

खबरें और भी हैं...