LSG के प्लेयर्स का अनोखा अंदाज:टाइगर श्रॉफ का डायलॉग दोहराया- छोटी बच्ची हो क्या, टीम के फैंस हुए लोटपोट

मुंबई6 महीने पहले

इन दिनों सोशल मीडिया पर ज्यादा खिलाड़ी एक्टिव है। टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन, दिग्गज गेंदबाज युजवेंद्र चहल और ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक बल्लेबाज डेविड वॉर्नर जैसे खिलाड़ी इंस्टाग्राम पर रील्स के लिए काफी मशूहर हैं। इन वीडियो पर लोग जमकर रिएक्शन भी देते हैं।

ऐसा ही एक वीडियो लखनऊ के टीम के खिलाड़ियों का जारी हुआ है। वीडियो में लखनऊ के कुछ विदेशी खिलाड़ी अभिनेता टाइगर श्रॉफ की फिल्म हीरोपंती का एक डायलॉग (छोटी बच्ची हो क्या?) बोलते नजर आ रहे हैं। ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

डीकॉक और होल्डर ने भी दिखाया टाइगर वाला अंदाज
इस वीडियो में क्विंटन डीकॉक और जेसन होल्डर जैसे दिग्गज खिलाड़ी एक छोटी सी बच्ची के सामने जाकर हीरोपंती फिल्म का टाइगर श्रॉफ का फेमस डायलॉग छोटी बच्ची हो क्या....कहते हुए नजर आते हैं। लखनऊ भले ही 1 महीने में रन चेज करते हुए 4 मुकाबले हार गई है और पॉइंट्स टेबल के टॉप 2 में उसकी जगह दांव पर लगी है, इसके बावजूद खिलाड़ी मस्ती करने का कोई मौका नहीं चूक रहे।

कप्तान राहुल ने गिनाई लखनऊ की कमियां
लखनऊ सुपर जायंट्स (LSG) रविवार को हुए अहम मुकाबले में राजस्थान से हार गया। टारगेट 179 का था। पिच भी अच्छी थी और स्कोर भी बहुत बड़ा नहीं था। इसके बावजूद लखनऊ के बैटर बिखर गए। पहला IPL खेल रही LSG की परफॉर्मेंस पर देखें तो वो रन चेज में कमजोर नजर आ रही है। 13 मुकाबले खेल चुकी लखनऊ ने सिर्फ 2 ही मुकाबलों में टारगेट चेज किया है। लखनऊ के कप्तान केएल राहुल ने खुद वो खामियां गिनाईं, जिनकी वजह से टीम रन-चेज में फेल हो रही है।

मस्ती करते हुए तो डीकॉक जमकर धमाल मचा रहे हैं, लेकिन बल्लेबाजी में उनका बल्ला खामोश नजर आ रहा है।
मस्ती करते हुए तो डीकॉक जमकर धमाल मचा रहे हैं, लेकिन बल्लेबाजी में उनका बल्ला खामोश नजर आ रहा है।

हार के बाद राहुल ने स्वीकार किया कि उन्हें बल्लेबाजी के दौरान होशियार होना होगा और खेल पर अधिक मेहनत करनी होगी। राहुल ने कहा कि यह लगातार चौथी बार है, जब उनकी टीम लक्ष्य का पीछा नहीं कर पाई है। राहुल ने कहा, "यह लक्ष्य पाया जा सकता था। यह अच्छी पिच थी, नई गेंद के साथ थोड़ी स्विंग जरूर मिल रही थी। हम अपनी रणनीति को अमलीजामा भी नहीं पहना सके।"

"बल्लेबाजी क्रम पिछले कुछ मैचों की ही तरह एक यूनिट के तौर पर काम नहीं कर सका। हमें पीछे मुड़कर देखने की जरूरत है और अपने खेल पर काम करने की जरूरत है, होशियार बनने की जरूरत है। जब हम मिडिल ऑर्डर में हों, तो हमें टीम के लिए मैच जीतने की कोशिश करनी चाहिए।"