गलत डिसीजन का शिकार हुए रोहित:बल्ले तक गेंद पहुंचने से पहले ही अल्ट्राएज में दिखा स्पाइक, थर्ड अंपायर ने कहा- आउट

मुंबई3 महीने पहले

कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ मैच में मुंबई इंडियंस को 52 रनों के बड़े अंतर से शिकस्‍त झेलनी पड़ी। टारगेट इतना बड़ा नहीं था, लेकिन फिर भी मुंबई की टीम 113 रन पर ही ऑलआउट हो गई। इस मुकाबले के दौरान सबसे ज्‍यादा विवाद रोहित शर्मा के आउट के निर्णय को लेकर हुआ।

रोहित शर्मा स्‍वयं भी तीसरे अंपायर के निर्णय से खासे निराश दिखे। इस घटना ने एक बार फिर से तकनीक की पोल खोल कर रख दी, क्‍योंकि गेंद के रोहित के बल्‍ले को छूने से पहले ही अल्ट्राएज में स्‍पाइक देखने को मिला।

थर्ड अंपायर के निर्णय पर रोहित को यकीन ही नहीं हुआ। उन्हें पूरा भरोसा था कि वह नॉटआउट करार दिए जाएंगे।
थर्ड अंपायर के निर्णय पर रोहित को यकीन ही नहीं हुआ। उन्हें पूरा भरोसा था कि वह नॉटआउट करार दिए जाएंगे।

तीसरे अंपायर के निर्णय पर विवाद
मुंबई की टीम मैच में 166 रनों के लक्ष्‍य का पीछा करने के लिए उतरी तो रोहित शर्मा और ईशान किशन पारी की शुरुआत करने आए। फैन्‍स को रोहित से खासी उम्‍मीद थी, लेकिन पहले ही ओवर में टिम साउदी की आखिरी गेंद पर हिटमैन विकेट के पीछे लपके गए।

तीसरे अंपायर के लिए तकनीक की मदद से जब बल्‍ले और गेंद के बीच संपर्क का स्‍पाइक दिखाया गया तो हर कोई हैरान रह गया। दरअसल, गेंद अभी बल्‍ले पर लगी भी नहीं थी कि मीटर पर स्‍पाइक दिखने लगा। तीसरे अंपायर ने इसे नजरअंदाज करते हुए रोहित को आउट करार दिया। इस गलत फैसले पर एक वक्त तो मुंबई के कप्तान को यकीन ही नहीं हुआ ।

रोहित शर्मा के खिलाफ अपील करते कोलकाता नाइट राइडर्स के गेंदबाज टिम साउदी।
रोहित शर्मा के खिलाफ अपील करते कोलकाता नाइट राइडर्स के गेंदबाज टिम साउदी।

साउदी की लेंथ बॉल पर आउट करार दिए गए हिटमैन
साउदी ने लेंथ बॉल की और मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा को गेंद के एंगल के कारण बड़े शॉट खेलने का मौका नहीं दिया। ऐसे में रोहित ने गेंद को लेग साइड की तरफ टैप कर सिंगल लेने की सोची।

हालांकि रिव्यू देखकर लगा कि जब रोहित शॉट खेलने से चूके तो बॉल उनके थाई पैड से लगकर विकेटकीपर शेल्डन जैक्सन के हाथों में चली गई, जिन्होंने डाइव लगाते हुए कैच लपका। ऑन-फील्ड अंपायर ने कैच अपील को अस्वीकार कर दिया, जिसके कारण कोलकाता नाइट राइडर्स ने DRS लिया।

गेंद के बल्ले से गुजरने से पहले और बाद में अल्ट्राएज पर बड़े स्पाइक्स थे और जब गेंद बल्ले से गुजर रही थी तो अल्ट्राएज पर भी स्पाइक्स थे। ऐसा लग रहा था कि कोई तकनीकी खराबी थी और ऐसा भी लग रहा था कि बल्ले और गेंद के बीच एक अंतर था, लेकिन तीसरे अंपायर को यकीन हो गया और उन्होंने विवादास्पद रूप से इसे आउट घोषित कर दिया।

यह देखकर मुंबई इंडियंस के खिलाड़ी और प्रशंसक हैरान रह गए। हमेशा से संदेह का लाभ बल्लेबाजों को मिलता रहा है, लेकिन इस बार साफ नजर आ रहा था कि रोहित आउट नहीं हैं, इसके बावजूद अंपायर ने गलत निर्णय दे दिया। बाद में हिटमैन का जल्दी आउट हो जाना टीम की हार की एक प्रमुख वजह रहा।