सीजन के बीच में चेन्नई की टीम में बड़ा बदलाव:37 दिन में ही धोनी फिर बने कप्तान, जानिए जडेजा ने बीच IPL क्यों छोड़ी कप्तानी

मुंबई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

IPL 2022 मे खराब प्रदर्शन के बाद रवींद्र जडेजा ने कप्तानी छोड़ दी है। उन्होंने एक बार फिर कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी को टीम की कप्तानी सौंप दी है। चेन्नई 8 मुकाबले खेलकर केवल 2 मैच जीत दर्ज कर सकी थी। अब बचे हुए मैचों में एक बार फिर से एमएस धोनी कप्तानी करते नजर आएंगे।

CSK की प्रेस रिलीज के मुताबिक, रवींद्र जडेजा ने अपने खेल पर अधिक ध्यान केंद्रित करने के लिए कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है और धोनी से चेन्नई टीम का नेतृत्व करने का अनुरोध किया है। धोनी ने टीम के हित में ये अपील स्वीकारी है और खुद कप्तानी संभालने का फैसला लिया है।

चेन्नई सुपर किंग्स का अगला मुकाबला रविवार यानी 1 मई को है। सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ जब चेन्नई सुपर किंग्स मैदान में उतरेगी, तब महेंद्र सिंह धोनी ही टीम की कमान संभालेंगे।

जडेजा की हो रही थी आलोचना
रवींद्र जडेजा आमतौर पर IPL में अच्छा प्रदर्शन करते थे लेकिन कप्तानी के दबाव में उनका प्रदर्शन बेहद खराब रहा। ऐसे में जडेजा की काफी आलोचना हो रही थी। पर किसी को यकीन नहीं था कि सर रवींद्र जडेजा इतना बड़ा फैसला ले सकते हैं।

चौथी बार बदला चेन्नई का कप्तान
जडेजा की कप्तान छोड़ने के बाद धोनी दूसरी बार टीम की कप्तान संभालेंगे। 33 साल के जडेजा 2012 से चेन्नई टीम के साथ हैं। 24 मार्च को धोनी ने अचानक उन्हें कप्तानी सौंपने का ऐलान किया था। तब जडेजा चेन्नई के तीसरे कप्तान बने थे।

आईपीएल के पहले सीजन यानी 2008 से ही महेंद्र सिंह धोनी ही टीम की कमान संभाल रहे थे। धोनी ने 213 मैच में कप्तानी करते हुए टीम को 130 मैच में जीत दिलाई है। बीच में सुरेश रैना ने भी 6 मैचों में कप्तानी की है, जिसमें से टीम ने सिर्फ 2 ही मैच जीते थे।

40 साल के धोनी 2008 से चेन्नई के कप्तान रहे हैं और यह उनका आखिरी आईपीएल हो सकता है। वह पहले ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं।

खबरें और भी हैं...