रवि शास्त्री का यंग स्टार्स पर बड़ा बयान:उमरान मलिक को तुरंत मिले सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट, राहुल त्रिपाठी भी जल्द बना सकते हैं टीम इंडिया में जगह

मुंबई4 महीने पहले

भारत के पूर्व कोच और कप्तान रवि शास्त्री ने कहा है कि वह युवा तेज गेंदबाज उमरान मलिक को भारतीय दल में देखना पसंद करेंगे। शास्त्री का मानना है कि जरूरी नहीं कि उन्हें हर मैच की प्लेइंग 11 में मौका दिया जाए, लेकिन टीम में रहने से इस युवा प्रतिभा को और उभरने और सुधरने में मदद मिलेगी।

जितना खेलेंगे, उतना बेहतर होते जाएंगे
ईएसपीएन क्रिकइंफो के शो टी20 टाइमआउट हिंदी में बात करते हुए शास्त्री ने कहा, "उमरान जैसे-जैसे और मैच खेलेंगे, वैसे और भी बेहतर होते जाएंगे। पेस का कोई विकल्प नहीं होता है। जब तक उन्हें पहला विकेट नहीं मिलता, तब तक वह बहुत कुछ प्रयोग करते हैं और इस चक्कर में खूब रन भी देते हैं। लेकिन एक विकेट मिलने के बाद वह खतरनाक हो जाते हैं, सटीक लाइन-लेंथ पर निरंतर गेंदबाज़ी करते हैं और फिर गुच्छों में विकेट निकालते हैं।"

उमरान को IPL के बाद अकेला छोड़ना उनकी प्रतिभा को जाया कर सकता है- रवि शास्त्री
रवि ने आगे कहा, "अगर इस प्रतिभा को और विकसित करना है, तो मैं कहूंगा कि इसे हर सीरीज में भारतीय दल के साथ रखना चाहिए। वह अपने साथी अनुभवी तेज गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के साथ बहुत कुछ सीखेगा और अपनी कमियों को दूर कर सकता है। अगर उसे हम IPL के बाद ऐसे ही छोड़ देते हैं, तो वह भटक भी सकता है।

उसके पास बहुत लोग सलाह देने वाले होंगे, जिससे वह भ्रमित भी हो सकता है। इसलिए जरूरी है कि उसे भारतीय दल के साथ रखा जाए।" मुंबई इंडियंस के खिलाफ हुए मैच में उमरान ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए तीन विकेट लिए, जिसमें 12 डॉट गेंदें भी शामिल थीं। कुछ खराब दिनों को छोड़ दिया जाए, तो उमरान ने इस आईपीएल में आग उगली है और लगातार 150+ की गति से गेंदबाजी करते हुए 21 विकेट लिए हैं।

टीम इंडिया में जगह बनाने के काफी करीब हैं राहुल

रवि शास्त्री के मुताबिक सनराइजर्स हैदराबाद के बल्लेबाज राहुल त्रिपाठी भारतीय टीम से अधिक दूर नहीं हैं। वह नंबर तीन और चार पर एक बैक-अप विकल्प हो सकते हैं। राहुल इस सीजन नंबर तीन पर सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। अगर किसी भी खिलाड़ी का फॉर्म खराब रहता है या कोई चोटिल होता है, तो नंबर तीन या नंबर चार के लिए राहुल एक शानदार विकल्प हैं। उन्हें सीधे टीम में शामिल किया जा सकता है। अगर वह सीजन दर सीजन अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, तो उन्हें उसका फल जरूर मिलना चाहिए।

शास्त्री ने आगे कहा- वह एक खतरनाक खिलाड़ी हैं और निर्भीक होकर अपने शॉट खेलते हैं। उनकी शॉट चयन प्रक्रिया बेहतरीन है।

शास्त्री कहते हैं कि राहुल गेंदबाजों को भी जल्दी पढ़ लेते हैं और फिर किसी भी लेंथ पर मनचाहा शॉट खेलते हैं। उनके पास हर गेंद के लिए प्लान ए और प्लान बी दोनों होता है।