अफगानिस्तान / विश्वकप से ठीक पहले बोर्ड ने कप्तान बदला, खिलाड़ियों ने राष्ट्रपति गनी से की शिकायत



मोहम्मद राशिद (बाएं) और मोहम्मद नबी (दाएं) ने ट्वीट कर नाराजगी जाहिर की। मोहम्मद राशिद (बाएं) और मोहम्मद नबी (दाएं) ने ट्वीट कर नाराजगी जाहिर की।
X
मोहम्मद राशिद (बाएं) और मोहम्मद नबी (दाएं) ने ट्वीट कर नाराजगी जाहिर की।मोहम्मद राशिद (बाएं) और मोहम्मद नबी (दाएं) ने ट्वीट कर नाराजगी जाहिर की।

  • अफगानिस्तान बोर्ड ने पिछले चार साल से टीम की कप्तानी कर रहे मोहम्मद असगर को हटाया
  • उनकी जगह रहमत शाह, गुलबदीन नाइब और राशिद खान को सौंपी गई है टेस्ट, वनडे और टी-20 की कप्तानी
  • आईपीएल में खेल रहे राशिद खान और मोहम्मद नबी ने ट्वीट कर नाराजगी जताई है
     

Dainik Bhaskar

Apr 06, 2019, 09:37 AM IST

काबुल. अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने विश्व कप से दो महीने पहले टीम के कप्तान असगर अफगान से कप्तानी छीन ली है। इसके विरोध में टीम के कई खिलाड़ियों ने आवाज उठाई। टीम के ऑलराउंडर मोहम्मद राशिद और स्पिनर मोहम्मद नबी ने तो देश के राष्ट्रपति अशरफ गनी से इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है। 

 

विश्वकप से पहले वनडे की कप्तानी नाइब को

एक दिन पहले ही बोर्ड ने असगर को तीनों फॉर्मेट में कप्तानी से हटाने का फैसला किया है। जहां वनडे के कप्तान के लिए गुलबदीन नाइब का नाम तय किया गया है, वहीं टेस्ट के लिए रहमत शाह और टी-20 के लिए राशिद खान को कप्तानी देने का निर्णय लिया गया। हालांकि राशिद ने खुद ट्वीट कर असगर को कप्तानी से हटाए जाने का विरोध किया है। 

 

आईपीएल खेल रहे राशिद और नबी ने बोर्ड के इस फैसले पर नाराजगी जताई है। राशिद ने अपने ट्वीट में अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी को टैग कर लिखा, “मैं सिलेक्शन कमेटी के फैसले से पूरी तरह असहमत हूं, क्योंकि यह पूरी तरह गैरजिम्मेदाराना और पक्षपात भरा है। विश्वकप अब हमारे सामने है, ऐसे में असगर अफगान को ही हमारा कप्तान रहना चाहिए। उनकी कप्तानी टीम की सफलता के लिए बेहद जरूरी है। ऐसे बड़े मौके से पहले कप्तानी बदलने से अनिश्चितता का माहौल बनेगा और टीम के हौसले पर भी असर पड़ेगा।”  

 

असगर की कप्तानी में बेहतर हुआ अफगान टीम का प्रदर्शन

31 साल के असगर 2015 से टीम के कप्तान हैं। खास बात यह है कि उन्हें मोहम्मद नबी को हटा कर कप्तानी दी गई थी, जो कि इस वक्त खुद असगर से कप्तानी छीने जाने का विरोध कर रहे हैं। असगर की कप्तानी में अफगानिस्तान का सफर काफी बेहतर रहा है। पहले अच्छे प्रदर्शन की बदौलत टीम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की पूर्ण सदस्य बनीं और अभी हाल ही में टीम ने आयरलैंड के खिलाफ अपनी पहली टेस्ट जीत भी दर्ज की। इसके अलावा असगर की ही कप्तानी में टीम ने 2018 विश्वकप क्वालिफायर में वेस्टइंडीज को हराकर क्वालिफाई किया था। उनकी कप्तानी में टीम ने अपने 59 में से 37 मैचों में जीत दर्ज की है।  

 

वहीं नबी ने अपने ट्वीट में लिखा, “टीम का एक सीनियर खिलाड़ी होने के साथ मैंने अफगानिस्तान क्रिकेट का उभार देखा है। अशरफ गनी जी मुझे नहीं लगता कि यह कप्तान बदलने का सही समय है। असगर की कप्तानी में टीम काफी अच्छे से काम कर रही है और हमें निजी तौर पर लगता है कि वही हमें सही तरह से आगे ले जा सकते हैं।” 

 

ट्रेनिंग के लिए दक्षिण अफ्रीका रवाना हुए खिलाड़ी

इसी बीच अफगानिस्तान का 23 खिलाड़ियों का दल विश्वकप से पहले ट्रेनिंग कैंप के लिए दक्षिण अफ्रीका रवाना हो गया। यह दल विश्वकप के लिए 15 खिलाड़ी चुने जाने से पहले दक्षिण अफ्रीका में ही 6 प्रैक्टिस मैच खेलेंगे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना