पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • After The Cancellation Of Manchester Test, Will India Lose The Chance To Win The Series, Or Will It Be The Last Test In 2022?

कैसे होगा सीरीज के विजेता का फैसला:BCCI ने इंग्लैंड को दिया मैच री-शेड्यूल का ऑफर, 2022 में भी इंडियन टीम इंग्लैंड जाएगी, तब हो सकता है 5वां टेस्ट

15 दिन पहले
भारत और इंग्लैंड के बीच 2022 में 1 से 14 जुलाई के बीच 3 टी-20 और 3 वनडे मैचों की सीरीज खेली जाएगी।

इंग्लैंड और भारत के बीच 5 टेस्ट मैच की सीरीज का आखिरी टेस्ट कोरोना के चलते रद्द कर दिया गया है। इंडिया के फिजियो योगेश परमार के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने खेलने से इनकार कर दिया। इसके बाद मैच रद्द करने का फैसला लिया गया।

इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) ने बयान में कहा कि BCCI से चल रही बातचीत के बाद ECB पुष्टि कर सकता है कि इंग्लैंड और भारत के बीच आज से ओल्ड ट्रैफर्ड में शुरू होने वाला पांचवां टेस्ट मैच रद्द कर दिया गया है। इसके बाद BCCI ने इंग्लैंड को पांचवें टेस्ट को री-शेड्यूल करने का ऑफर दिया है।

अब क्या होगा सीरीज का
मैनचेस्टर टेस्ट ड्रॉ होने के साथ ही अब एक बड़ा सवाल यह उठता है कि इस सीरीज का परिणाम क्या होगा। 5 मैचों की सीरीज में टीम इंडिया फिलहाल 2-1 से आगे है। आखिरी टेस्ट के रद्द होने का मतलब है कि इस टेस्ट को नियमों के मुताबिक इंग्लैंड के खाते में जोड़ा जाएगा। अगर इस मैच को वाकई में इंग्लैंड के खाते में जोड़ा जाता है तो भारत के हाथों से इंग्लैंड की सरजमीं पर टेस्ट सीरीज जीतने का एक बढ़िया मौका निकल जाएगा और सीरीज बराबरी पर समाप्त होगी।

मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने से पहले भारत सीरीज में 2-1 से आगे चल रहा था।
मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने से पहले भारत सीरीज में 2-1 से आगे चल रहा था।

2022 में हो सकता है 5वां टेस्ट
अगले साल जून में भारत को लिमिटेड ओवर की सीरीज खेलने के लिए इंग्लैंड के दौरे पर जाना है। 2022 में इंग्लैंड के दौरे पर टीम इंडिया को जुलाई में तीन टी-20 और इतने ही वनडे मैचों की सीरीज खेलनी है। ऐसे में आज रद्द हुए इस टेस्ट मैच को भविष्य में जोड़ा जा सकता है। मैनचेस्टर टेस्ट के अब अगले साल इंग्लैंड दौरे पर होने की उम्मीद है।

2008 में हुआ था ऐसा
साल 2008 में इंग्लैंड की टीम भारत के दौरे पर सात वनडे और दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने के लिए आई थी। वनडे सीरीज के 5 मैचों के बाद नवंबर में हुए मुंबई हमलों के बाद इंग्लैंड दो वनडे और टेस्ट सीरीज बीच में छोड़ चला गया था। हालांकि बाद में ECB ने फ्रेंडली जेस्चर दिखाया था और दिसंबर में भारत दौरे पर वापस आकर दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेली थी। अब भारत भी फ्रेंडली जेस्चर दिखाते हुए अगले साल सीरीज पूरा कर सकता है।

14 साल बाद आया था मौका
भारत के पास इस बार इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीतने का सबसे बढ़िया मौका था। इससे पहले भारत ने इंग्लैंड को उसी के घर में 1971 में तीन मैचों की सीरीज 1-0, 1986 में तीन मैचों की सीरीज 2-0 और 2007 में भी तीन मैचों की सीरीज 1-0 से हराई थी। अगर इस टेस्ट को एक साल के टाल दिया जाता है, तो विराट एंड कंपनी के पास अभी भी इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीतने का मौका बना रहेगा। हालांकि, इसके लिए टीम को एक साल का इंतजार करना होगा।

शास्त्री पहले से हैं पॉजिटिव
मुख्य कोच रवि शास्त्री, फील्डिंग कोच आर श्रीधर, गेंदबाजी कोच भरत अरुण और फिजियो नितिन पटेल के बाद सहायक फिजियो योगेश परमार के कोविड-19 के लिये पॉजिटिव पाए जाने के बाद भारतीय खिलाड़ियों ने अंतिम टेस्ट के लिए मैदान पर उतरने में चिंचा जाहिर की थी।

खबरें और भी हैं...