एक टीम से खेलेंगे विराट और बाबर:एशिया और अफ्रीका XI के बीच खेली जाएगी सीरीज, भारत-पाकिस्तान के प्लेयर्स एक साथ खेलेंगे

स्पोर्ट्स2 महीने पहले

भारत और पाकिस्तान के स्टार खिलाड़ी विराट कोहली और बाबर आजम 2023 में एक साथ खेलते नजर आ सकते हैं। 2023 के IPL के बाद अफ्रीका और एशिया XI के बीच सीरीज खेली जानी है।

एशिया XI की ओर से श्रीलंका और बांग्लादेश के खिलाड़ी भी खेलते हुए नजर आ सकते हैं। बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बीच आपस में कोई सीरीज नहीं खेली जाती है। न ही पाकिस्तानी खिलाड़ी IPL में खेलते हैं। ऐसे में दोनों देश के खिलाड़ियों को एक साथ खेलते देखना फैंस के लिए एक अलग अनुभव होगा।

भारत और पाकिस्तान के बीच आखिरी सीरीज 2012-13 में खेली गई थी। इसके बाद दोनों टीमों को केवल ICC इवेंट में खेलते हुए देखा जाता है।

2007 में आखिरी बार इस सीरीज का आयोजन हुआ था। तीसरे मैच में धोनी ने 139 रन की पारी खेली थी।
2007 में आखिरी बार इस सीरीज का आयोजन हुआ था। तीसरे मैच में धोनी ने 139 रन की पारी खेली थी।

2007 में एशिया XI ने किया था क्लीन स्वीप
इससे पहले 2007 में एशिया और अफ्रीका XI के बीच 3 मैचों की सीरीज खेली गई थी। इस सीरीज को एशिया इलेवन ने 3-0 से अपने नाम किया था। उस समय महेंद्र सिंह धोनी, मोहम्मद आसिफ, युवराज सिंह, मोहम्मद युसुफ जैसे स्टार खिलाड़ी एक साथ खेलते नजर आए थे। वहीं, अफ्रीका XI के लिए मोर्ने मोर्कल, एबी डिविलियर्स और स्टीव टिकोलो साथ खेले थे, लेकिन इसके बाद भारत और पाकिस्तान के बीच राजनीतिक मुद्दों के कारण ये सीरीज दोबारा नहीं खेली जा सकी।

2007 में एशिया XI टीम के लिए भारत पाकिस्तान के खिलाड़ी साथ खेलते हुए।
2007 में एशिया XI टीम के लिए भारत पाकिस्तान के खिलाड़ी साथ खेलते हुए।

जय शाह करेंगे चर्चा
2023 में होने वाली सीरीज का फॉर्मेट टी-20 होगा। पहले इस सीरीज का फॉर्मेट वनडे था। इसको लेकर जय शाह और अफ्रीकी क्रिकेट संघ के नए अध्यक्ष सुमोद दामोदर के बीच 2023 के अप्रैल में ICC बोर्ड बैठक में चर्चा होगी।

सुमोद दामोदर ने इस सीरीज को लेकर कहा, 'हमारी योजना भारत और पाकिस्तान के स्टार खिलाड़ियों को एशिया XI टीम में खेलने देखने की है। इसको अंतिम रूप दिए जाने के लिए हम स्पॉन्सरशिप और ब्रॉडकास्टर से बात कर रहे हैं। यह एक विशाल आयोजन होगा। मुझे यकीन है कि खिलाड़ी चाहते हैं ऐसा हो और राजनीति को इससे दूर रखा जाए। पाकिस्तान और भारत के खिलाड़ियों को एक ही टीम में खेलते देखना बहुत अच्छी बात होगी। अफ्रीका को इससे बहुत फायदा होगा। एशिया क्रिकेट का पावरहाउस है। यह एक ऐसा रिश्ता है जिसे मैं बढ़ावा देने और विकसित करने के लिए उत्सुक हूं।'