221 रन से हारा डबल वर्ल्ड चैंपियन इंग्लैंड:ऑस्ट्रेलिया ने 3-0 से वनडे सीरीज पर कब्जा किया; मैदान की 94 हजार सीटें खाली रहीं

मेलबर्न17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

9 दिन पहले टी-20 वर्ल्ड कप का खिताब जीतने वाली इंग्लैंड को ऑस्ट्रेलिया ने तीसरे वनडे में 221 से रन हरा दिया। मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) पर खेले गए इस मैच का फैसला डकवर्थ लुईस मेथड से हुआ। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलिया ने 364 रन का टारगेट दिया था। जवाब में इंग्लैंड 142 रन पर ही ऑल आउट हो गई। इस मैच को देखने महज 5,335 लोग मैदान पहुंचे। 90% से ज्यादा स्टैंड्स खाली रहे। इस मैच के साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने यह सीरीज भी 3-0 से जीत ली।

269 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप
ऑस्ट्रेलिया के ओपनर्स ट्रेविस हेड और डेविड वॉर्नर ने 269 रन की पार्टनरशिप की। दोनों ने ही शतक जड़े। हेड ने 130 बॉल पर 152 और वॉर्नर ने 102 बॉल पर 106 रन की पारी खेली। दोनों की पारियों की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने 48 ओवर में 355 रन बना दिए। इंग्लैंड के ओली स्टोन ने 4 विकेट लिए। बारिश के चलते मैच 50 की बजाय 48 ओवर का किया गया। ऐसे में इंग्लैंड को 364 रन का रिवाइज्ड टारगेट मिला।

इंग्लैंड की वनडे में सबसे बड़ी हार
364 रन के टारगेट का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम 31.4 ओवर में 142 रन पर ऑल आउट हो गई। इस तरह इंग्लैंड 221 रन से मैच हार गया। वनडे इतिहास में यह इंग्लैंड की सबसे बड़ी हार है। ऑस्ट्रेलिया से पहले श्रीलंका ने 2018 में उन्हें 219 रन से हराया था।

इंग्लैंड के लिए जेसन रॉय ने 33 और जेम्स विंस ने 22 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया के एडम जम्पा ने 31 रन पर 4 विकेट लेकर इंग्लिश बल्लेबाजी पर लगाम लगाई। जम्पा ने सीरीज में 5.14 की इकोनॉमी से 11 विकेट लिए।

वॉर्नर ने मार्क वॉ को पीछे छोड़ा
डेविड वॉर्नर ने वनडे करियर का 19वां शतक जड़ा। इसी के साथ वह ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे ज्यादा वनडे सेंचुरी जमाने वाले खिलाड़ियों में दूसरे नंबर पर पहुंच गए। उन्होंने मार्क वॉ के 18 शतक का रिकॉर्ड तोड़ा। पहले स्थान पर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग हैं। उनके नाम वनडे में 29 शतक हैं।

वॉर्नर का 1043 दिनों बाद शतक
ऑस्ट्रेलिया ने 3 वनडे की सीरीज में इंग्लैंड का 3-0 से सफाया किया। सीरीज के आखिरी मैच में डेविड वॉर्नर ने इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना शतकों का सूखा खत्म किया। उन्होंने 14 जनवरी 2020 को आखिरी बार वनडे में शतक जड़ा था। इस तरह उन्होंने 1043 बाद इंटरनेशनल क्रिकेट में कोई शतक लगाया। वॉर्नर ने आखिरी टेस्ट शतक भी करीब 34 महीनों पहले 11 जनवरी 2020 को लगाया था। वॉर्नर ने इस सीरीज के 3 मैचों में 69 से ज्यादा के औसत से 208 रन बनाए। इस प्रदर्शन के लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच दिया गया।

मेलबर्न में सबसे बड़ी पार्टनरशिप
मेलबर्न क्रिकेट स्टेडियम दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम में से एक है। यहां की बाउंड्री भी काफी बड़ी है। इसी मैदान पर वॉर्नर और हेड ने 230 बॉल पर 269 रन की पार्टनरशिप की। यह इस मैदान पर वनडे में अब तक की सबसे बड़ी पार्टनरशिप है। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के ही एडम गिलक्रिस्ट और रिकी पोंटिंग का रिकॉर्ड तोड़ा। दोनों ने 2002 में इंग्लैंड के ही खिलाफ 225 रन की पार्टनरशिप की थी।

हेड की करियर बेस्ट पारी
ट्रेविस हेड को अपने वनडे करियर की बेस्ट पारी (152 रन) के लिए प्लेयर ऑफ द मैच दिया गया। उन्होंने अपनी पारी में 16 चौके और 4 छक्के जड़े। ऑस्ट्रेलिया के लिए अब तक खेले 51 वनडे में हेड ने 40.51 के औसत से 1823 रन बनाए हैं। उनके नाम 13 फिफ्टी और 3 सेंचुरी हैं।

94 हजार सीटें खाली रहीं
मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड की दर्शक क्षमता 1,00,024 है। लेकिन, तीसरा वनडे देखने 5,355 लोग ही पहुंचे। दरअसल, 3 में से शुरुआती 2 मैच जीतकर ऑस्ट्रेलिया पहले ही सीरीज जीत चुका था। ऐसे में तीसरे मैच के नतीजे से सीरीज विजेता पर फर्क नहीं पड़ता। साथ ही मैच छुट्टी के दिन यानी शनिवार या रविवार को नहीं था। इसी वजह से एक लाख से ज्यादा दर्शक क्षमता वाले स्टेडियम में मैच देखने के लिए इतने कम लोग पहुंचे।

मेलबर्न क्रिकेट स्टेडियम पूरी तरह से खाली रहा। 1,00,024 की दर्शक क्षमता वाले स्टेडियम में मैच देखने 5,335 लोग ही पहुंचे।
मेलबर्न क्रिकेट स्टेडियम पूरी तरह से खाली रहा। 1,00,024 की दर्शक क्षमता वाले स्टेडियम में मैच देखने 5,335 लोग ही पहुंचे।