अभी भी चयनकर्ताओं के सामने टीम चयन की चुनौती

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • वर्ल्ड कप के लिए 12 खिलाड़ी फाइनल, तीन स्थान के लिए कई खिलाड़ी रेस में
  • ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चुनी गई टीम में चयनकर्ताओं की दुविधा साफ झलकती है

खेल डेस्क. भारतीय चयनकर्ताओं ने दावा किया है कि उन्होंने आगामी वर्ल्ड कप के लिए खिलाड़ियों को पहचान लिया है। लेकिन अभी भी उनके सामने कुछ चुनौती बाकी है। टीम के 12 खिलाड़ी लगभग फाइनल हैं। बाकी 3 स्थानों के लिए कई खिलाड़ी रेस में हैं। वर्ल्ड कप के लिए रोहित, धवन, कोहली, रायडू, धोनी, जाधव, पंड्या, भुवनेश्वर, बुमराह, शमी, उमेश, चहल के स्थान पक्के हैं। लेकिन बाकी तीन स्थान के लिए चयनकर्ताओं को काफी कश्मकश करनी होगी।

 

दुविधा के कारण वनडे की दो टीम चुनी गई
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जो 15 सदस्यीय वनडे टीम चुनी गई है, इसमें चयनकर्ताओं की दुविधा साफ झलकती दिखाई देती है। यही कारण है कि वनडे के लिए दो टीम चुनी गई है। ताकि उसमें से बेस्ट खिलाड़ियों को वर्ल्ड कप के लिए टीम में शामिल किया जा सके। इस चयन में दो बातें प्रमुख रुप से दिख रही हैं। पहली- केएल राहुल को वनडे और टी20 दोनों टीम में रखा है। दूसरी- कार्तिक और जडेजा को वनडे में मौका नहीं दिया है।

 

\"राहुल\"

 

राहुल को चयनकर्ताओं ने दी लाइफलाइन
राहुल इंडिया ए की ओर से अच्छे प्रदर्शन के पहले खराब फॉर्म में चल रहे थे। वे मौका गंवा भी सकते थे। यानी चयनकर्ताओं ने उन्हें एक तरह से लाइफलाइन दी है। चयनकर्ता ऋषभ पंत को बैकअप ओपनर के रूप में देख रहे हैं। मुझे लगता है कि उनका यह विचार कोहली और शास्त्री से चर्चा करने के बाद आया है। जडेजा (अश्विन भी) 2017 चैंपियंस ट्रॉफी के बाद वनडे टीम से अपनी जगह गंवा चुके थे। लेकिन इंग्लैंड में अच्छा प्रदर्शन कर वापसी कर ली थी।

 

\"धोनी\"

 

विकेटकीपर के रूप में धोनी ही पहली पसंद
आश्चर्यजनक रूप से जडेजा को न्यूजीलैंड में एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला। वैसे, विकेटकीपर के रूप में पहली पसंद धोनी ही हैं। लेकिन कार्तिक की जगह सिर्फ पंत नहीं जाधव भी रेस में हैं। उन्होंने भी मैच फिनिशर के रूप में खुद को साबित किया है। इसके अलावा जाधव पार्टटाइम स्पिनर के रूप में भी उपयोगी रहे हैं। कुलदीप और चहल तो हैं ही। इसमें जाधव के जुड़ने से बढ़िया स्पिन तिकड़ी बन जाती है।

 

\"कार्तिक\"

 

रहाणे, कार्तिक और जडेजा के लिए दरवाजे बंद नहीं
इंग्लैंड में फास्ट बॉलिंग ऑलराउंडर के रूप में हार्दिक पंड्या के आने से गेंदबाजी मजबूत होगी। हालांकि, अभी कार्तिक और जडेजा के लिए दरवाजे बंद नहीं हुए हैं। न ही रहाणे के लिए। चयनकर्ताओं ने इन्हें भी परखा है। इन्हें भी मौका मिल सकता है।

खबरें और भी हैं...