अयाज मेमन की कलम से / कोच चयन की प्रक्रिया पर सवाल उठना गलत



Ayaz Memon criticises rising question on Selection process of Team India Coach
X
Ayaz Memon criticises rising question on Selection process of Team India Coach

  • चयन प्रक्रिया पर सवाल उठाना पूरी क्रिकेट सलाहकार समिति का अपमान है
  • अगले दो साल कोहली-शास्त्री को टीम के लिए पुख्ता प्लान तैयार करना होगा

Dainik Bhaskar

Aug 18, 2019, 10:48 AM IST

ये तो पहले से ही अंदाजा था कि रवि शास्त्री दोबारा टीम इंडिया के कोच चुने जाएंगे। वही हुआ। हालांकि फैसला आने के बाद कुछ लोग जिस तरह से पूरी प्रक्रिया पर ही सवाल उठा रहे हैं, वो दुर्भाग्यपूर्ण है। कुछ लोग कह रहे हैं कि प्रक्रिया में ही खोट थी। कुछ कह रहे हैं कि जब पहले से ही नतीजा पता था तो इतना कुछ करने की जरूरत ही क्या था। असल में इस तरह की बातें न सिर्फ बचकानी और हल्की हैं, बल्कि ये पूरी क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) का अपमान भी है। जिस समिति में कपिल देव, अंशुमान गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी हों, उस समिति की पसंद पर तो आप जिरह कर सकते हैं, लेकिन उनकी नीयत पर नहीं। 

 

शास्त्री-कोहली की बॉन्डिंग टीम के लिए अच्छी बात 

क्रिकेट में जैसे-जैसे प्रतिस्पर्धा बढ़ी है, वैसे-वैसे कोच के पद की अहमियत भी बढ़ी है। इसीलिए अगर रवि शास्त्री का पलड़ा पहले से भी कुछ भारी था, तो भी प्रक्रिया को तो पूरा होना ही था। इससे पारदर्शिता आती है। फिर अगर विराट कोहली की शास्त्री के साथ अच्छी बॉन्डिंग हैं तो ये टीम के लिए ही अच्छी बात है। सभी जानतेे हैं कि ग्रेग चैपल के कोच रहते कप्तान के साथ उनकी खराब बॉन्डिंग का टीम पर कैसा असर पड़ा था। हां ये जरूर है कि अब कोहली-शास्त्री को नई पारी शुरू करते वक्त अगले दो साल का पुख्ता प्लान तैयार करना होगा। 

 

दुर्भाग्यशाली रहे माइक हेसन
इस बीच न्यूजीलैंड के माइक हेसन का किस्सा बड़ा दिलचस्प और दुर्भाग्यपूर्ण भी रहा। उन्होंने भारत और बांग्लादेश, दोनों देशों के कोच के लिए आवेदन कर रखा था। एक दिन के अंतर में ही उनका आवेदन दोनों जगह खारिज हो गया। भारत में रवि शास्त्री कोच बन गए और बांग्लादेश में रसेल डोमिंगो। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना