ICCको लिखे पत्र को वापस ले सकता है इंग्लैंड बोर्ड:BCCI ने दिया 3 की जगह 5 टी-20I मैच खेलने का ऑफर

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मैनचेस्टर में 10 से 14 सितंबर तक भारत और इंग्लैंड के बीच होने आखिरी टेस्ट को कोरोना की वजह से कैंसिल कर दिया गया। - Dainik Bhaskar
मैनचेस्टर में 10 से 14 सितंबर तक भारत और इंग्लैंड के बीच होने आखिरी टेस्ट को कोरोना की वजह से कैंसिल कर दिया गया।

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के आगे झुक गया है। अब ECB पांचवें टेस्ट को रद्द किए जाने को लेकर इंटरनेशनल काउंसिल को लिखा पत्र वापस ले सकता है। सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड के अनुसार BCCI के सेक्रेटरी जय शाह की ओर से अगले साल इंग्लैंड दौरे पर 2टी20 मैच अतिरिक्त खेलने का ऑफर करने के बाद ECB ICC को लिखे पत्र को वापस ले सकता है और ‌BCCI से इस मुद्दे पर सीधे बात कर सकता है। भारतीय टीम को अगले साल जून में इंग्लैंड का दौरा करना है और 3 वनडे और 3 टी20 मैच की सीरीज खेलनी है।

दरअसल पांच टेस्ट मैचों की आखिरी मैच 10 से14 सितंबर के बीच होना था। पर भारतीय खेमे में कोरोना का मामला आने के बाद इसे कैंसिल कर दिया गया था। ECB ने भारत की ओर से आखिरी टेस्ट रद्द किए जाने को लेकर ICC को पत्र लिखकर हस्तक्षेप करने की मांग की गई थी और पत्र में कहा गया था कि भारत का कोई भी खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव नहीं था। इसके बाद भी टीम इंडिया ने मैच नहीं खेला। ऐसे में ICCकी विवाद समाधान समिति इस पर फैसला दे और पांचवां टेस्ट रद्द माने या इंग्लैंड को विजेता घोषित करे।

BCCI का ऑफर स्वीकार करना ECB के हित में
BCCI का ऑफर स्वीकार करना ECB के हित में है। इसलिए ही वह ICC को लिखे पत्र को वापस लेने का विचार कर रहा है, क्योंकि अगर ICC पांचवां टेस्ट मैच को रद्द किए जाने की वजह कोरोना को मानती है, तो इसका नुकसान ECB को ही होगा और उन्हें बीमा का पैसा नहीं मिलेगा, क्योंकि इसमें कोरोना शामिल नहीं है। ऐसे में ECB​​​​​​​ को 550 करोड़ रुपए का नुकसान होगा। वहीं अगर अगले साल भारत दो अतिरिक्त मैच खेलता है, तो नुकसान को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

भारतीय टीम के पांच कोचिंग स्टाफ हुए थे कोरोना पॉजिटिव
दरअसल भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का आखिरी मैच मैनचेस्टर में 10 से 14 सितंबर के बीच खेला जाना था, लेकिन मैच से एक दिन पहले भारत के फिजियो योगेश परमार की भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। उससे पहले चीफ कोच रवि शास्त्री, बॉलिंग कोच भरत अरुण, फील्डिंग कोच आर श्रीधर और फिजियो नितिन पटेल पहले ही कोरोना संक्रमित हो चुके थे। योगेश परमार के कोरोना संक्रमित होने के बाद भारतीय टीम ने ट्रेनिंग भी कैंसिल कर दी थी।
सीरीज में भारत 2-1 से आगे
पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में टीम इंडिया 2-1 से आगे रही। पहला टेस्ट बारिश की वजह से ड्रॉ रहा। दूसरा टेस्ट लॉर्ड्स में खेला गया, इसमें भारत 151 रन से इंग्लैंड को हराकर सीरीज में 1-0 आगे हो गई। वहीं लीड्स में खेले गए तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड ने भारत को एक पारी और 76 रन से हराकर सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली। इसके बाद ओवल में खेले गए चौथे टेस्ट में एक बार फिर टीम इंडिया ने इंग्लैंड को 157 रन से हराकर सीरीज में 2-1 से बढ़त बना ली।

खबरें और भी हैं...