विवाद / बीसीसीआई ने कहा- अंपायरों के लिए भी नियम बने, गलती करने पर जुर्माना लगाया जाए



बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी। बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी।
अंपायरों के फैसले से चेन्नई के कप्तान धोनी गुस्से में आ गए थे। अंपायरों के फैसले से चेन्नई के कप्तान धोनी गुस्से में आ गए थे।
X
बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी।बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी।
अंपायरों के फैसले से चेन्नई के कप्तान धोनी गुस्से में आ गए थे।अंपायरों के फैसले से चेन्नई के कप्तान धोनी गुस्से में आ गए थे।

  • धोनी ने राजस्थान के खिलाफ मैदानी अंपायरों से बहस की थी
  • बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी ने नए नियमों की मांग की

Dainik Bhaskar

Apr 12, 2019, 08:41 PM IST

नई दिल्ली. आईपीएल के 25वें मैच में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने आउट होने के बाद डगआउट से मैदान में जाकर अंपायरों से बहस की। उन पर 50% मैच फीस का जुर्माना लगा। इस सीजन में अंपायर के फैसले पर उठ रहे सवाल को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी ने कहा कि खिलाड़ियों के साथ अंपायरों के लिए भी नियम होने चाहिए। गलती करने पर अंपायरों पर भी जुर्माना लगाया जाए।

 

'मैच अधिकारियों के अपने निर्णयों में सटीक होना होगा'
अनिरुद्ध चौधरी ने कहा, “जब नियमों के उल्लंघन के लिए सजा दी जाती है तो कई चीजें मायने रखती हैं। इसमें पुराने रिकार्ड के साथ-साथ मौजूदा हालात को भी ध्यान में रखा जाता है। मैच अधिकारियों को बेहतर प्रदर्शन करने की जरूरत है। इनमें फील्ड अंपायर, थर्ड अंपायर और मैच रेफरी के भी शामिल है। उन्हें अपने निर्णयों में सटीक होना होगा।"

 

धोनी

 

'धोनी पर जुर्माना लगा और मुद्दा वही खत्म'
उन्होंने कहा, “यह भारतीय क्रिकेट है और हर किसी के अपने विचार हैं। जब धोनी मैदान पर गए थे तो मुझे लगता है कि उन्हें पता होगा कि उन पर इस तरह के बर्ताव के कारण जुर्माना लग सकता है। यह नियमों का उल्लंघन है। उन पर जुर्माना लगा और मुद्दा यही खत्म हो गया।”

 

'अंपायरों के फैसले ने खिलाड़ियों को उकसाया'
अनिरुद्ध चौधरी ने कहा, "धोनी ने नियमों को तोड़ा और उन पर जुर्माना लगा। इससे पहले विराट कोहली और युजवेंद्र चहल पर जुर्माना नहीं लगा था। दोनों मामलों में अंपायरों के फैसले ने खिलाड़ियों को उकसाया। दोनों परिस्थितियां अलग थी। समय आ गया है कि एक ऐसा सिस्टम तैयार किया जाए जहां अंपायरों के ऊपर भी गलती करने पर जुर्माना लगाया जाए।”

 

'अंपायरों को परखने के तरीको को सुधारना होगा'
उन्होंने कहा, “हमें इस सिस्टम को तत्काल प्रभाव से देखने की जरूरत है। अंपायरों को परखने के तरीको को सुधारना होगा। अगर ऐसा नहीं किया गया तो वर्तमान के संसाधनों का सही तरह से उपयोग किया जाना चाहिए।"

 

अंपायर ने नो बॉल देने के बाद अपना फैसला बदला था

दरअसल, राजस्थान के खिलाफ चेन्नई की बल्लेबाजी के दौरान 19वें ओवर में स्टोक्स की गेंद पर अंपायर ने नो बॉल देने के बाद अपना फैसला बदल लिया था। इस पर धोनी आउट होने के बावजूद गुस्से में मैदान में उतर आए। हालांकि, फैसला नहीं बदलने पर वे गुस्से में ही लौटे। मिशेल सैंटनर ने आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर चेन्नई को जीत दिलाई।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना