भास्कर क्रिकेट पॉडकास्ट:लिमिटेड ओवर्स में रोहित बेस्ट कप्तान, टी20 में नए खिलाड़ियों को मिले मौका; मध्यक्रम में विराट जैसे खिलाड़ी की जरूरत

नई दिल्ली8 दिन पहले

टीम इंडिया ने रविवार को खेले गए तीसरे और आखिरी टी-20 मैच में न्यूजीलैंड को 73 रनों से हराकर तीन मैचों की सीरीज 3-0 से जीतकर अपने नाम कर ली है। मैच में भारत ने पहले बैटिंग करते हुए न्यूजीलैंड को 185 रनों का टारगेट दिया था, जिसके जवाब में कीवी टीम 17.2 ओवर के खेल में 111 रन ही बना सकी। भारत की जीत में 3 विकेट लेने वाले अक्षर पटेल को मैन ऑफ द मैच का अवार्ड मिला। IND vs NZ तीसरे मैच की रिपोर्ट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

दिग्गज कमेंटेटर सुशील दोषी ने भास्कर क्रिकेट पॉडकास्ट में कहा कि टीम इंडिया दादागिरी के साथ खेलने लगी है। टी-20 वर्ल्ड कप में बाहर होने के न सिर्फ टीम को, बल्कि खेल प्रेमियों को भी बड़ा झटका लगा था, लेकिन यहां पर भारतीय सरजमीं पर खिलाड़ी एक बार फिर से लय में नजर आए शानदार प्रदर्शन किया। रोहित शर्मा ने भी अपनी कप्तानी से खासा प्रभावित किया। न्यूजीलैंड की टीम भी केन विलियम्सन के बिना अधूरी नजर आती है।

युवाओं को मिले मौका
दोषी ने कहा टी-20 की टीम अलग तरह की होनी चाहिए, जो एक अच्छी पॉलिसी भी है। इस फॉर्मेट में नए खिलाड़ी आ रहे जो बहुत बढ़िया बात है। चहल को भी आपको हमेशा टीम में रखना चाहिए, क्योंकि मेरे हिसाब से एक लेग स्पिनर का टीम में होना जरूरी है। चहल को आखिरी मैच में अवसर मिला और उन्होंने मार्टिन गुप्टिल का बड़ा विकेट चटकाया।

रोहित बेस्ट कप्तान
दोषी ने आगे कहा कि रोहित शर्मा लिमिटेड ओवर क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ कप्तान हैं। इस मैच में रोहित ने बहुत बढ़िया निर्णय लिया। मैच में ओस पड़ने से पहले ही उन्होंने स्पिनर्स का उपयोग किया। रोहित हमेशा विपक्षी टीम से आगे रहते हैं और एक कदम आगे की सोचते हैं। मेरे हिसाब से टी-20 और वनडे क्रिकेट के लिए रोहित शर्मा बहुत उम्दा कप्तान हैं।

मिडिल ऑर्डर को लेनी होगी जिम्मेदारी
इस सीरीज के तीनों मैचों में टीम इंडिया के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजों ने कुछ खास प्रदर्शन नहीं किया। दोषी का कहना है कि मध्यक्रम के खिलाड़ियों को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। अभी तो आपके ओपनर्स अच्छा कर रहे हैं, लेकिन जब वह नहीं चलेंगे तो दवाब मिडिल ऑर्डर पर आएगा। मेरे हिसाब से मध्यक्रम में विराट कोहली जैसे बल्लेबाज को मौका मिलना चाहिए जो टीम की पारी को संभाल सके और सामने वाली टीम पर प्रेशर भी बनाए।