कैच आउट होकर भी नॉट आउट:बिश्नोई ने पकड़ लिया था गजब का कैच, लेकिन पैर बाउंड्री से हो गया टच; देखें VIDEO

कोलकाता10 महीने पहले

भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेले गए पहले टी-20 मैच को टीम इंडिया ने 6 विकेट से अपने नाम किया। मैच में भारत के सामने 158 रन का टारगेट था, जिसे टीम ने 7 गेंद पहले 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया। भारत की ओर से कैप्टन रोहित शर्मा (40) ने सबसे ज्यादा रन बनाए थे।

इससे पहले वेस्टइंडीज ने टॉस हारकर पहले खेलते हुए 157/7 का स्कोर बनाया था। वेस्टइंडीज की पारी के दौरान निकोलस पूरन कैच आउट होने के बाद भी नाबाद रहे। दरअसल, पारी का 7वां ओवर युजवेंद्र चहल कर रहे थे और ओवर की पहली ही गेंद पर पूरन ने लॉन्ग ऑफ पर हवाई शॉट खेला। बाउंड्री लाइन के ठीक पास रवि बिश्नोई ने उनका शानदार कैच पकड़ा, लेकिन उनका दायां पैर बाउंड्री लाइन पर टच हो गया।

पूरन ने उठाया मौका का फायदा
पैर बाउंड्री लाइन पर टच होने के कारण पूरन को नॉट आउट दिया गया। 8 रन पर मिले इस जीवनदान का पूरन ने भरपूर फायदा उठाया। उन्होंने 61 रन की जोरदार पारी खेली। पूरन के टी-20 इंटरनेशनल करियर का ये छठा और टीम इंडिया के खिलाफ दूसरा अर्धशतक था। उनका विकेट हर्षल पटेल के खाते में आया।

बिश्नोई ने किया इंटरनेशनल डेब्यू्
इस मुकाबले से रवि बिश्नोई को इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू का मौका मिला। टी-20 में खेलने वाले वह 95वें भारतीय खिलाड़ी बने। उन्हें युजवेंद्र चहल ने डेब्यू कैप दी। बिश्नोई ने अपने करियर के दूसरे ही ओवर में दो विकेट चटकाए। ओवर की दूसरी गेंद पर युवा लेग स्पिनर ने रोस्टन चेस (4) को LBW और पांचवीं गेंद पर रोवमन पॉवेल (2) को लॉन्ग ऑन पर वेंकटेश अय्यर के हाथों कैच आउट कराया।

21 वर्षीय खिलाड़ी ने 4 ओवर में केवल 17 रन देकर 2 विकेट अपने नाम किए। रवि बिश्नोई IPL 2022 में नई टीम लखनऊ फ्रेंचाइजी से खेलेंगे। लखनऊ ने उन्हें 4 करोड़ रुपए खरीदा है। 2020 के अंडर-19 वर्ल्ड कप में बिश्नोई सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे थे। उन्होंने 6 मैचों में 17 विकेट लिए थे।

खबरें और भी हैं...