बांग्लादेश प्रीमियर लीग खेलेंगे उन्मुक्त चंद:चट्टोग्राम चैलेंजर्स ने खरीदा, 2012 में भारत को जिताया था अंडर-19 वर्ल्ड कप

स्पोर्ट्स डेस्क12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भारत को अपनी कप्तानी में 2012 का अंडर-19 वर्ल्ड कप जिताने वाले उन्मुक्त चंद बांग्लादेश प्रीमियर लीग (BPL) में खेलते नजर आएंगे। उन्हें चट्टोग्राम चैलेंजर्स टीम ने प्लेयर्स ड्राफ्ट के जरिए अपनी टीम में शामिल किया है। इस तरह उन्मुक्त बांग्लादेश की फ्रेंचाइजी लीग का हिस्सा बनने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने हैं। BPL 6 जनवरी 2023 से शुरू होगा।

पिछले साल भारत छोड़कर अमेरिका शिफ्ट होने वाले चंद ने पिछले सप्ताह ही BPL की प्लेयर्स ड्राफ्ट में नाम भेजा था। नाम भेजने के कुछ दिनों में ही उन्हें खरीदार भी मिल गया।

क्यों चुना चंद को
चट्टोग्राम चैलेंजर्स टीम ने प्लेयर्स ड्राफ्ट में विदेशी प्लेयर्स के सेकेंड राउंड में उन्मुक्त को खरीदा। चैलेंजर्स के मालिक रिफातुज्जमान ने कहा- भारतीय खिलाड़ियों को देखने के लिए कई फैंस स्टेडियम पहुंचते हैं। इसी फैन बेस को यूज करने के लिए हमने इंडियन प्लेयर को टीम में शामिल किया।

6 टीमें खेलती हैं BPL
बीपीएल बांग्लादेश की फ्रेंचाइजी क्रिकेट लीग है। 2012 से खेली जा रही लीग का 9वां सीजन 6 जनवरी 2023 से शुरू होगा। लीग में चट्टोग्राम चैलेंजर्स के अलावा ढाका डोमिनेटर्स, फोर्च्यून बारिशल, खुलना टाइगर्स, सिल्हेट स्ट्राइकर्स और कोमिला विक्टोरियंस टीमें भी खेलेंगी।

कोमिला विक्टोरियंस टीम ने 2022 में बांग्लादेश प्रीमियर लीग का खिताब जीता था।
कोमिला विक्टोरियंस टीम ने 2022 में बांग्लादेश प्रीमियर लीग का खिताब जीता था।

IPL में फ्लॉप रहे
चंद ने घरेलू क्रिकेट में ठीक-ठाक परफॉर्मेंस किया। लेकिन, इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में वह कुछ खास नहीं कर सके। टूर्नामेंट के 21 मैचों में वह 100 के स्ट्राइक रेट से 300 रन ही बना सके। उन्होंने महज 15 की औसत से रन बनाए। इस दौरान उनके बल्ले से एक ही फिफ्टी आई।

उन्हें दिल्ली डेयरडेविल्स, मुंबई इंडियंस और राजस्थान रॉयल्स ने अलग-अलग सीजन में खरीदा। 2011 में डेब्यू करने के बाद 13 मई 2016 को उन्होंने पंजाब किंग्स के खिलाफ आखिरी IPL मैच खेला था।

बिग बैश लीग खेलने वाले पहले भारतीय
बांग्लादेश के अलावा चंद ऑस्ट्रेलिया की पुरुष बिग बैश लीग खेलने वाले भी पहले खिलाड़ी हैं। उन्होंने 2021 में मेलबर्न रेनेगेड्स टीम के लिए डेब्यू किया था। हालांकि, उनकी टीम लीग में आखिरी स्थान पर रही थी।

उन्मुक्त चंद बिग बैश लीग में मेलबर्न रेनेगेड्स टीम से खेल चुके हैं।
उन्मुक्त चंद बिग बैश लीग में मेलबर्न रेनेगेड्स टीम से खेल चुके हैं।

बाकी भारतीय प्लेयर्स क्यों नहीं खेल रहे विदेशी लीग?
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के नियम अनुसार, घरेलू और नेशनल लेवल पर कॉन्ट्रेक्टेड प्लेयर्स विदेशी लीग नहीं खेल सकते हैं। विदेशी लीग खेलने के लिए उन्हें भारत से सभी फॉर्मेट के क्रिकेट से रिटायरमेंट लेना होगा। इसलिए भारतीय प्लेयर्स बिग बैश और द हंड्रेड जैसी विदेशी लीग नहीं खेलते।

उन्मुक्त चंद ने पिछले साल ही भारत में घरेलू क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। वह अब अमेरिका के लिए क्रिकेट खेलते नजर आएंगे। उन्होंने 2022 में ही USA की मेजर लीग क्रिकेट (MLC) के साथ 3 साल का कॉन्ट्रैक्ट साइन किया है।

MLC के लिए भारत छोड़ा
8 साल तक भारत के लिए घरेलू क्रिकेट खेलने के बाद चंद ने 13 अगस्त 2021 को भारतीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया। उन्होंने अमेरिका की मेजर लीग क्रिकेट (MLC) का हिस्सा बनने के लिए यह डिसीजन लिया। भारत से जाने के बाद चंद ने कहा था कि वह अब अमेरिका नेशनल टीम के लिए क्रिकेट खेलने पर ध्यान दे रहे हैं।

उन्मुक्त चंद ने अमेरिका में शुरू होने वाली मेजर लीग क्रिकेट से 3 साल की डील साइन की है। उनके साथ इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर लियाम प्लंकेट और न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर कोरी एंडरसन भी होंगे।
उन्मुक्त चंद ने अमेरिका में शुरू होने वाली मेजर लीग क्रिकेट से 3 साल की डील साइन की है। उनके साथ इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर लियाम प्लंकेट और न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर कोरी एंडरसन भी होंगे।

ये इंटरनेशनल प्लेयर्स भी MLC का हिस्सा
उन्मुक्त चंद के अलावा भारत के लिए अंडर-19 वर्ल्ड कप खेलने वाले विकेटकीपर बैटर स्मित पटेल और लेफ्ट आर्म स्पिनर हरमीत सिंह भी मेजर लीग का हिस्सा होंगे। वहीं, इंग्लैंड के लियाम प्लंकेट और न्यूजीलैंड के कोरी एंडरसन भी मेजर लीग क्रिकेट खेलेंगे।
भारत को जिता चुके हैं वर्ल्ड कप
उन्मुक्त चंद ने 2012 में भारत को अंडर-19 वर्ल्ड कप जीताया था। ऑस्ट्रेलिया में खेले गए टूर्नामेंट में ऑस्ट्रेलिया के ही खिलाफ फाइनल मैच में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 4 विकेट से हराया था। 50 ओवर में ऑस्ट्रेलिया से मिले 226 रन के टारगेट को भारत ने 47.4 ओवर में हासिल कर लिया था। कप्तान चंद ने मैच विनिंग 111 रन की नॉट आउट पारी खेली थी।

2012 में अपनी कप्तानी में उन्मुक्त चंद ने भारत को अंडर-19 वर्ल्ड कप जिताया था।
2012 में अपनी कप्तानी में उन्मुक्त चंद ने भारत को अंडर-19 वर्ल्ड कप जिताया था।

दिल्ली से रणजी ट्रॉफी क्रिकेट खेला
अंडर-19 में भारत को ट्रॉफी जिताने के बाद चंद ने दिल्ली के लिए घरेलू क्रिकेट खेला। उन्होंने 67 फर्स्ट क्लास मैचों में 31.57 की औसत से 3379 रन बनाए। इनमें 16 फिफ्टी और 8 सेंचुरी शामिल हैं। लिस्ट-A क्रिकेट में चंद ने 120 मैच खेले। इनमें उन्होंने 41.33 के औसत से 4505 रन बनाए।