• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Chetan Sharma Claimed Virat Kohli Was Asked Not To Leave The Captaincy Before The T20 World Cup He Did Not Agree

चीफ सिलेक्टर चेतन शर्मा का बड़ा दावा:विराट कोहली को टी-20 वर्ल्ड कप से पहले सिलेक्टर्स ने भी कप्तानी न छोड़ने को कहा था, वे नहीं माने

नई दिल्ली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चेतन शर्मा का दावा विराट कोहली के बयान के ठीक उलट है। विराट ने कहा था कि उन्हें कप्तानी छोड़ने से नहीं रोका गया था। - Dainik Bhaskar
चेतन शर्मा का दावा विराट कोहली के बयान के ठीक उलट है। विराट ने कहा था कि उन्हें कप्तानी छोड़ने से नहीं रोका गया था।

टीम इंडिया की कप्तानी को लेकर चल रहे विवाद में नया मोड़ आ गया है। चीफ सिलेक्टर चेतन शर्मा ने दावा किया है कि टी-20 वर्ल्ड कप से पहले विराट कोहली से कप्तानी न छोड़ने का अनुरोध किया गया था। उनसे यह भी कहा गया था कि इस बारे में वर्ल्ड कप के बाद भी बात की जा सकती है लेकिन वे नहीं माने। चेतन शर्मा के इस बयान से विराट कोहली का दावा गलत साबित होता हुआ दिख रहा है।

विराट ने साउथ अफ्रीका रवाना होने से पहले कहा था कि उन्हें किसी ने कप्तानी न छोड़ने को नहीं कहा था। विराट ने यह भी दावा किया था कि उन्हें कप्तानी से हटाए जाने की सूचना टेस्ट टीम की घोषणा से महज 90 मिनट पहले दी गई थी। BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भी कहा था कि विराट को कप्तानी छोड़ने से रोकने की कोशिश की गई थी।

टीम के प्रदर्शन पर असर न पड़े इसलिए किया था अनुरोध
चेतन ने कहा- वर्ल्ड कप से ठीक पहले विराट ने टी-20 फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया। इससे तमाम सिलेक्टर्स बोर्ड ऑफिशियल्स सकते में आ गए। सबने विराट को फैसले पर फिर से विचार करने को कहा था। सिलेक्टर्स का मानना था कि इतने बड़े टूर्नानेंट से ठीक पहले इस तरह का फैसला टीम पर बुरा असर छोड़ सकता है। लेकिन, विराट अपने फैसले पर कायम रहे।

हम विराट के फैसले का सम्मान करते हैं
चीफ सिलेक्टर ने कहा- हम विराट के फैसले का सम्मान करते हैं लेकिन इतने बड़े टूर्नामेंट से पहले कप्तान कह दे कि वह टूर्नामेंट के बाद पद पर नहीं रहेगा तो किसे हैरानी नहीं होगी। इसलिए उन्हें मनाने की बहुत कोशिश की गई। विराट की अपनी योजनाएं थीं और वे फैसले पर कायम रहे।

WHITE BALL क्रिकेट में दो कप्तान सही नहीं होता
चेतन शर्मा ने कहा कि जब विराट ने टी-20 की कप्तानी छोड़ने का फैसला कर लिया तब उन्हें वनडे टीम का कप्तान बनाए रखना बेमानी था। उन्होंने कहा- WHITE BALL क्रिकेट में दो कप्तान रखना ठीक नहीं होता। इसलिए सिलेक्टर्स ने रोहित को टी-20 के साथ-साथ वनडे की कप्तानी भी सौंप दी।