--Advertisement--

क्रिकेट / पुजारा ने गांगुली के 16 टेस्ट शतकों की बराबरी की, लेकिन उनसे 80 पारियां कम खेलीं



pujara equals saurav ganguly record of 16 centuries playing 80 less innings
X
pujara equals saurav ganguly record of 16 centuries playing 80 less innings

  • पुजारा एशिया के बाहर टेस्ट के पहले दिन शतक बनाने वाले छठे भारतीय
  • नॉथन लियान ने रोहित शर्मा को टेस्ट में सबसे ज्यादा 4 बार आउट किया

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2018, 09:33 AM IST

खेल डेस्क. चेतेश्वर पुजारा अब सबसे ज्यादा शतक जमाने वाले भारतीय बल्लेबाजों की सूची में गांगुली की बराबरी पर पहुंच गए हैं। दोनों के नाम 16-16 शतक हैं। पुजारा ने इसके लिए 65 टेस्ट की 108 पारियां ली। गांगुली ने 113 टेस्ट की 188 पारियों में 16 शतक जमाए थे। अब सिर्फ आठ भारतीय बल्लेबाज ही पुजारा से आगे हैं। इनमें सचिन 51 शतक के साथ पहले स्थान पर हैं। द्रविड़ (36), गावस्कर (34), कोहली (24), सहवाग (23), अजहरुद्दीन (22), लक्ष्मण (17) और वेंगसरकर (17) भी उनसे आगे हैं।

पुजारा के नाम तीन दोहरे शतक भी

  1. पुजारा एशिया के बाहर टेस्ट के पहले दिन शतक बनाने वाले छठे भारतीय हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अब तक तीन दोहरे शतक भी लगाए हैं। इस साल का यह उनका दूसरा शतक भी है। उनके 14 हजार फर्स्ट क्लास रन भी इसी के साथ पूरे हो गए हैं।

  2. एडिलेड की पिच बल्लेबाजी के लिए आसान नहीं : चेतेश्वर

    पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद चेतेश्वर पुजारा ने कहा, ‘एडिलेड की पिच पर गेंदबाजों को फायदा मिल रहा था। यह बल्लेबाजी के लिए आसान पिच नहीं थी। इसमें दोहरा उछाल था, इसलिए 250 रन के स्कोर को कम नहीं कहा जा सकता है।’

  3. 30 साल के इस बल्लेबाज ने कहा, ‘मैं ऑस्ट्रेलिया की पारी में भी भारतीय गेंदबाजों के साथ अपना अनुभव साझा करूंगा। कई बार टीवी पर देखने से नहीं लगता, लेकिन पहले और दूसरे सत्र में बल्लेबाजी में बहुत फर्क होता है। यह आसान विकेट नहीं है।’

  4. इस मैच में 123 रन की पारी खेलने वाले पुजारा ने कहा, ‘मुझे लगता है कि ग्राउंड पर घास है और एकाध गेंद पिच पर तेजी से आती थी, जबकि कुछेक रुककर आती थीं। यह मिलीजुली पिच है और यहां बल्लेबाजी आसान नहीं है।’

  5. पुजारा ने बाकी बल्लेबाजों के मुकाबले अपनी पारी के बारे में कहा, ‘मैंने दो सत्रों तक खेला और सोच समझकर ही गेंदें चुनीं। मैंने कई गेंदें छोड़ भी दीं। यही कारण है कि मैं इतना ज्यादा देर तक विकेट पर टिक पाया।’

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..