एनालिसिस / वर्ल्ड कप के 44 साल के इतिहास में पहली बार टीम इंडिया में 4 ऑलराउंडर चुने गए

X

  • 15 सदस्यीय टीम इंडिया में जाधव, शंकर, जडेजा और हार्दिक ऑलराउंडर के तौर पर चुने गए
  • इंग्लैंड एंड वेल्स में 30 मई से 14 जुलाई तक वर्ल्ड कप खेला जाएगा

Apr 15, 2019, 09:21 PM IST

खेल डेस्क. इंग्लैंड में 30 मई से होने वाले वर्ल्ड कप के लिए सोमवार को 15 सदस्यीय भारतीय क्रिकेट टीम चुनी गई। भारतीय टीम 1975 से वर्ल्ड कप खेल रही है, लेकिन यह पहला मौका है जब चयनकर्ताओं ने 4 ऑलराउंडर चुने हैं। इससे पहले 2003 और 2011 के वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई टीम में 3-3 ऑलराउंडर चुने गए थे। उसके अलावा कभी भी 2 से ज्यादा ऑलराउंडर नहीं चुने गए।


चयनकर्ताओं का 4 ऑलराउंडर चुनने का मकसद शायद गेंदबाजी और बल्लेबाजी विकल्प बढ़ाने का होगा। पिछले साल इंग्लैंड में वनडे सीरीज के दौरान भारत को टीम में ऑलराउंडर नहीं होने की कमी बहुत खली थी। तीन मैच की सीरीज में इंग्लैंड ने भारत को 2-1 से हराया था। आखिरी दो मैच में टीम इंडिया 5-5 गेंदबाजों के साथ खेली, लेकिन उसे दोनों में ही हार का सामना करना पड़ा।

2003 और 2011 की टीम में 3-3 ऑलराउंडर थे

1975 में हुए वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई टीम इंडिया में एक भी ऑलराउंडर नहीं था। 1979 के वर्ल्ड कप में कपिल देव को ऑलराउंडर के तौर पर चुना गया था। इंग्लैंड में 1983 में हुए वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में कपिल देव के अलावा सुनील वासन भी ऑलराउंडर के तौर पर चुने गए थे। टीम इंडिया तब चैम्पियन बनी थी।

1987 के वर्ल्ड कप में भारतीय चयनकर्ताओं ने कपिल देव को ही ऑलराउंडर के तौर पर चुना। अगला विश्व कप 5 साल बाद 1992 में हुआ। तब की भारतीय टीम में भी कपिल देव ही इकलौते ऑलराउंडर थे। भारतीय उपमहाद्वीप में 1996 में हुए वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई टीम इंडिया में एक भी ऑलराउंडर नहीं था।

1999 की वर्ल्ड कप की भारतीय टीम में भी रॉबिन सिंह के तौर पर एक ही ऑलराउंडर थे। हालांकि, 2003 में दक्षिण अफ्रीका में हुए वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया ने 3 ऑलराउंडर चुने थे। तब सौरव गांगुली की अगुआई में टीम इंडिया ने फाइनल तक का सफर तय किया था। हालांकि फाइनल में उसे ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार झेलनी पड़ी थी।

2007 के वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में इरफान पठान के तौर पर सिर्फ एक ऑलराउंडर चुना गया। तब टीम इंडिया ग्रुप स्टेज से आगे नहीं बढ़ पाई थी। 2011 वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई टीम इंडिया में 3 ऑलराउंडर थे और भारत खिताब जीतने में सफल रहा। 2015 में टीम इंडिया में रविंद्र जडेजा और स्टुअर्ट बिन्नी के तौर पर 2 ही ऑलराउंडर थे। भारतीय टीम को तब सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों हार झेलनी पड़ी थी।

ऑलराउंडर मैच रन औसत विकेट
रविंद्र जडेजा 151 2035 29.92 174
केदार जाधव 59 1174 43.48 27
हार्दिक पंड्या 45 731 29.24 44
विजय शंकर 09 165 33.00 02

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना