पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

वॉर्न पर ड्रग्स लेने के कारण एक साल का प्रतिंबध लगा, मैच से कुछ घंटे पहले टूर्नामेंट से बाहर हुए

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • टूर्नामेंट में ऑस्ट्रेलिया का पहला मुकाबला पाकिस्तान से था, मैच से पहले वॉर्न ड्रग टेस्ट में फेल हो गए थे
  • क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने वॉर्न पर 1 साल का बैन लगाया, इसके बाद वे देश के लिए एक वनडे ही खेल पाए

खेल डेस्क. 2003 में दक्षिण अफ्रीका, केन्या और जिम्बाब्वे ने संयुक्त रूप से वर्ल्ड कप की मेजबानी की। हालांकि, इस वर्ल्ड कप की शुरुआत ही विवादों से हुई। इंग्लैंड ने जिम्बाब्वे और न्यूजीलैंड ने केन्या में खेलने से इनकार कर दिया। इससे ग्रुप और सुपर सिक्स के कई मैच टूर्नामेंट के बिजनेस के हिसाब से खराब रहे। ग्रुप बी से दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज जैसी मजबूत टीमें पहले ही दौर में बाहर हो गईं। वहीं, केन्या की टीम को बिना खेले ही अंक मिल गए। नतीजा यह निकला कि वह सुपर सिक्स में पहुंच गई। दूसरी ओर, ग्रुप ए से इंग्लैंड और पाकिस्तान की जगह जिम्बाब्वे सुपर सिक्स में पहुंचने में सफल रहा।

 

टूर्नामेंट का सबसे बड़ा विवाद वर्ल्ड कप शुरू होने के दो दिन बाद सामने आया। ऑस्ट्रेलिया को पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला मैच खेलना था। मुकाबले से पहले शेन वॉर्न का ड्रग टेस्ट हुआ। उनके टेस्ट का रिजल्ट पॉजिटिव रहा। वॉर्न को प्रतिबंधित दवा के सेवन के कारण टूर्नामेंट से बाहर कर दिया गया। खिताब बचाने उतरी डिफेंडिंग चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया के लिए यह सबसे बड़ा झटका था।

 

वॉर्न के यूरिन में मोडुरेटिक दवा पाई गई
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर वॉर्न के टेस्ट के बारे में जानकारी दी। यह भी कहा कि उन्हें तुरंत वापस ऑस्ट्रेलिया भेजा जा रहा है। ऑस्ट्रेलियन स्पोर्ट्स ड्रग्स एजेंसी ने उनका टेस्ट किया था। उसने कहा कि वॉर्न के यूरिन में मोडुरेटिक दवा पाई गई। यह तनाव, बल्ड प्रेशर को कंट्रोल करता है। इसे आईसीसी द्वारा प्रतिबंधित किया जा चुका था।

 

\"2003

 

वॉर्न ने रोते हुए साथी खिलाड़ियों को सबकुछ बताया
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इस जानकारी को टीम के पदाधिकारियों और कप्तान रिकी पोंटिंग के साथ साझा किया। पोंटिंग ने बाद में कहा, ‘उन्होंने सब कुछ जांच लिया है। वॉर्न एक दशक से क्रिकेट खेल रहे हैं। इस तरह का रवैया अपनाना पागलपन है।’ टीम मैनेजर स्टीव बेर्नार्ड ने टीम मीटिंग बुलाई। इसमें वॉर्न भी उपस्थिति थे। उन्होंने रोते हुए सबकुछ बताया। इसके बाद कमरे में चुप्पी थी। कप्तान ने खिलाड़ियों को रात के खाने के लिए भेज दिया। पोंटिंग ने खिलाड़ियों से कहा, \"जाओ सब आपस में बात करो। हमें इस विवाद पर काबू पाना है। इसे अपनी याददाश्त से मिटा दो। हमें सुबह मैच जीतना है।’

 

मां की सलाह पर वजन कम करने की दवा ली थी : वॉर्न
वॉर्न ऑस्ट्रेलिया लौट गए। वहां उन्होंने मीडिया से कहा, \"मैं टेस्ट के रिजल्ट के बाद हैरान और परेशान हो गया था। मैंने प्रदर्शन बढ़ाने के लिए किसी भी प्रतिबंधित दवा का इस्तेमाल नहीं किया।’ बाद में वॉर्न ने कहा कि उन्होंने अपनी मां की सलाह पर वजन कम करने वाली दवा ली थी।’

 

\"ऑस्ट्रेलिया\"

 

ऑस्ट्रेलिया ने टूर्नामेंट में सभी 11 मैच जीते थे
हालांकि, वॉर्न के वापस लौटने से टीम पर ज्यादा असर नहीं पड़ा। रिकी पोंटिंग ने खिलाड़ियों को समझाया और उन्हें प्रेरित किया। टीम ने टूर्नामेंट में सभी 11 मैच जीतकर तीसरी बार वर्ल्ड कप खिताब अपने नाम किया। पोंटिंग की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया का यह पहला खिताब था। उसने फाइनल में भारत को हराया था।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए उपलब्धियां ला रहा है। उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। आज कुछ समय स्वयं के लिए भी व्यतीत करें। आत्म अवलोकन करने से आपको बहुत अधिक...

और पढ़ें