न्यूजीलैंड के पूर्व खिलाड़ी हीथ डेविस गे क्रिकेटर:क्रिकेट इतिहास के सबसे तेज गेंदबाजों में थे शुमार, 32 साल की उम्र में छोड़ दिया था क्रिकेट

बर्मिंघम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

क्रिकेट जगत की कई महिला खिलाड़ियों के लेस्बियन यानी समलैंगिक होने के बारे में आपने पहले सुना होगा, लेकिन पुरुष क्रिकेटरों के गे होने की बात कम ही सामने आई है। सबसे पहले इंग्लैंड के पूर्व विकेटकीपर स्टीवन डेवाइस ने 2011 की शुरुआत में खुलासा किया था कि वह 'गे' यानी 'समलैंगिक' हैं। अब न्यूजीलैंड के पूर्व तेज गेंदबाज हीथ डेविस ने बड़ा ऐलान किया है। वह पब्लिकली गे के रूप में सामने आने वाले न्यूजीलैंड के पहले और दुनिया के दूसरे पुरुष इंटरनेशनल क्रिकेटर बन गए हैं।

ईएसपीएन के अनुसार, डेविस न्यूजीलैंड के अब तक के सबसे तेज गेंदबाजों में से एक के रूप में जाने जाते हैं। 50 वर्षीय डेविस ने 1994 और 1997 के बीच ब्लैक कैप्स के लिए पांच टेस्ट और 11 वनडे खेले। अपने टेस्ट करियर में, उन्होंने पांच मैचों में 17 विकेट और एकदिवसीय मैचों में 11 विकेट लिए।

याद किया वह पूरा दौर
उन्होंने कहा, "इंग्लैंड का पहला दौरा (1994), मैं खुद को खोजना शुरू कर रहा था, कुछ चीजों को निजी तौर पर देखने के लिए जा रहा था कि जीवन क्या है... ठीक है, आप दुनिया के दूसरी तरफ हैं, मैं अपने आपको जानने जा रहा हूं। मैंने अपनी जिंदगी के उस हिस्से को वहीं छोड़ दिया। उसमें बहुत कुछ था, बस अपने निजी जीवन को अलग रखते हुए।"

कभी दिग्गज बल्लेबाज भी हीथ डेविस की गेंदों से खौफ खाते थे।
कभी दिग्गज बल्लेबाज भी हीथ डेविस की गेंदों से खौफ खाते थे।

अकेले जीवन जी रहे थे डेविस
हीथ डेविस ने करीब 32 साल की उम्र में क्रिकेट को अलविदा कह दिया था और अभी उनकी उम्र करीब 50 साल है। हीथ डेविस ने 1994 से 1997 के बीच न्यूजीलैंड के लिए क्रिकेट खेला। वो वर्तमान में न्यूजीलैंड की बजाय ऑस्ट्रेलिया में रह रहें है। एक मैगजीन से बातचीत में उन्होंने अपने गे होने की बात का खुलासा किया है। द स्पिन ऑफ नाम की इस मैगजीन को हीथ ने बताया, 'मुझे लगा कि यह मेरे जीवन का हिस्सा है, मैंने इतने साल से इसे छुपा रखा था। मैं समलैंगिक होने की बात को अपने जीवन से अलग रखना चाह रहा था और न ही मैं समलैंगिक जीवन जी रहा था। मैं अकेला था।'

हीथ ने कहा, 'ऑकलैंड में मेरे समलैंगिक होने की बात लगभग सभी लोग जानते थे और टीम में भी लोगों को इसके बारे में जानकारी थी। ये किसी के लिए भी बड़ा मुद्दा नहीं था और मैं खुद को आजाद भी समझता था, लेकिन अब मुझे लगा कि ये मेरे जीवन का हिस्सा है तो मुझे इसके बारे में जरूर खुलकर बताना चाहिए।' अपने पैतृक शहर वेलिंग्टन को छोड़ने के बाद हीथ ऑकलैंड आ गए थे।'

ये महिला खिलाड़ी भी हैं लेस्बियन
वर्तमान में महिला समलैंगिक क्रिकेटर्स में मेगन स्कट, डेन वान निएकेर्क जैसे कई नाम शामिल हैं, जबकि पुरुष क्रिकेटरों में हीथ संभवतया दुनिया के पहले गे खिलाड़ी हैं।

खबरें और भी हैं...