जब कप्तान रोहित पर भड़के थे कार्तिक:बैटिंग ऑर्डर में नीचे भेजने से नाराज थे, 4 साल बाद बन गए टीम इंडिया के बेस्ट फिनिशर

स्पोर्ट्स डेस्क9 दिन पहले

37 साल की उम्र में टीम इंडिया में वापसी करने वाले दिनेश कार्तिक का बल्ला साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में जमकर बोला। कार्तिक 2019 के बाद पहली बार भारतीय टीम का हिस्सा बने थे। IPL 2022 की तरह इस सीरीज में भी उन्होंने फिनिशर (वो खिलाड़ी जो नंबर 5,6,7 पर बल्लेबाजी कर मैच को खत्म करे) की भूमिका निभाई। चौथे टी-20 में जब टॉप ऑर्डर पूरी तरह से फ्लॉप रहा तो उनके ही अर्धशतक के कारण टीम एक अच्छा स्कोर बना पाई।

टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा 4 साल पहले ही समझ गए थे कि कार्तिक के अंदर गेम को अपने बल्ले के दम से खत्म करने की क्षमता है। ऐसे में वो कार्तिक को मैच फिनिश करने के लिए भेजना चाहते थे, लेकिन इसको लेकर कार्तिक बहुत गुस्सा हो गए थे। आईए आपको ये पूरी कहानी बताते हैं...

2018 निदहास ट्रॉफी के फाइनल में दिखा था कार्तिक का गुस्सा

बांग्लादेश, श्रीलंका और भारत के बीच 2018 में निदहास ट्रॉफी खेली गई थी। इसी मैच को लेकर एक इंटरव्यू में रोहित शर्मा ने कहा था कि फाइनल मुकाबले में दिनेश ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी के लिए नहीं भेजे जाने से नाखुश थे।

उन्हें छठवें नंबर पर खेलने के लिए जाना था, लेकिन उनकी जगह मैंने विजय शंकर को भेज दिया। इसके बाद जब आउट होकर मैं उनके पास गया तो वो मुझसे काफी नाराज थे। वो कहने लगे कि मैंने उनके साथ गलत किया है। उन्हें विजय शंकर से पहले बल्लेबाजी करने जाना चाहिए था।

उनके गुस्से को देखकर मैंने उनको समझाना चाहा। मैंने उनसे कहा कि मैं चाहता हूं कि आप हमारे लिए मैच खत्म करो, क्योंकि आपकी जरूरत मैच के आखिरी ओवरों में पड़ेगी। आखिरी ओवर्स में मुस्तफिजूर रहमान बॉलिंग करने आएंगे। उन्हें खेलने के लिए आपके जैसे अनुभवी बल्लेबाज का होना जरूरी है। इसलिए आप सातवें नंबर पर जाना।

कार्तिक इससे और गुस्से में आ गए। उन्हें आगबबूला होता देख मैं वहां से निकल गया और अंदर ड्रेंसिंग रूम में चला गया। मैं चाहता था कि वो शांत रहे। कुछ देर बाद उन्होंने छक्का लगाकर टीम इंडिया को जीत दिलाई और जब वह वापस लौटे तो मुझे आकर थैंक्यू बोला।

8 गेंद में बना दिए थे 29 रन
फाइनल मैच में ऐसा लग रहा था कि टीम इंडिया हार जाएगी, लेकिन कार्तिक ने नंबर-7 पर आकर मैच को फिनिश किया था। उन्होंने 8 गेंद में 29 रन बनाए थे। उनका स्ट्राइक रेट 362.50 का था। आखिरी गेंद पर भारत को जीत के लिए 5 रन चाहिए थे और दिनेश ने छक्का लगाकर टीम इंडिया को जीत दिलाई थी।

रोहित का किया हुआ एक्सपेरिमेंट अब काम आ रहा है
2018 में रोहित का किया हुआ एक्सपेरिमेंट अब काम आ रहा है। IPL 2022 से दिनेश कार्तिक कमाल की बल्लेबाजी कर रहे हैं। इस सीजन उनके बल्ले से 16 मैच में 330 रन निकले। उनका बेस्ट स्कोर 66 रन नाबाद था। वहीं, उनका स्ट्राइक रेट 183.33 का था। उनके इसी प्रदर्शन के आधार पर उनका चयन टीम इंडिया में हुआ।

कोच द्रविड़ ने भी उन्हें IPL की तरह ही मैच को फिनिश करने की जिम्मेदारी दी। कार्तिक ने सीरीज में उस जिम्मेदारी को बखूबी निभाया और 5 मैच में 46 की औसत से 92 रन बनाए। उनका स्ट्राइक रेट 158.62 का रहा।

जिस तरह के फॉर्म में दिनेश हैं इस साल होने वाले वर्ल्ड कप में ये खिलाड़ी धमाल मचा सकता है। टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी सुनील गावस्कर ने भी कहा है कि कार्तिक को हर हाल में वर्ल्ड कप की टीम का हिस्सा बनाया जाना चाहिए।

खबरें और भी हैं...