पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बटलर और मोर्गन ने उड़ाया था भारतीयों का मजाक:इंग्लैंड के क्रिकेटरों ने भारतीयों की सर कहने की आदत और खराब अंग्रेजी का मजाक बनाया था

7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ओएन मोर्गन (बाएं) और जोस बटलर ने 2017 से लेकर 2018 तक कुछ ट्वीट में भारतीयों का मजाक उड़ाया था। - Dainik Bhaskar
ओएन मोर्गन (बाएं) और जोस बटलर ने 2017 से लेकर 2018 तक कुछ ट्वीट में भारतीयों का मजाक उड़ाया था।

इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ECB) ने 9 साल पहले के कुछ नस्लभेदी और महिला विरोधी ट्वीट के कारण तेज गेंदबाज ओली रॉबिन्सन के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने पर पाबंदी लगा दी है। मामले की जांच पूरी होने तक यह पाबंदी लागू रहेगी। हालांकि, एक ओर यह जांच अभी शुरू भी नहीं हुई है कि इंग्लैंड के कुछ और स्टार क्रिकेटर्स पर दूसरे नस्ल के लोगों के कमतर बताने और उनका मजाक उड़ाने के आरोप लग गए हैं। इंग्लैंड को 2019 वनडे वर्ल्ड कप में चैंपियन बनाने वाले कप्तान ओएन मोर्गन और विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर पर ये आरोप लगे हैं। इन दोनों ने 2017 से लेकर 2018 तक कुछ ट्वीट में भारतीयों का मजाक उड़ाया था।

बार-बार एक दूसरे को सर कहा और टूटी-फूटी अंग्रेजी लिखी
मोर्गन और बटलर ने कई ट्वीट में भारतीयों की सर कहने की आदत का मजाक बनाया है। उन्होंने एक-दूसरे के लिए सर और टूटी-फूटी अंग्रेजी लिखी है। आम तौर पर भारतीय अपने पंसदीदा क्रिकेटर्स या सेलिब्रिटीज को भी सोशल मीडिया पर सर बुलाते हैं। विवाद बढ़ने के बाद बटलर ने अपने ट्वीट डिलीट कर दिए हैं। लेकिन मोर्गन के ट्वीट अब भी मौजूद हैं।

एक और क्रिकेटर के खिलाफ हो रही है जांच
रॉबिन्सन का मामला सामने आने के बाद इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने कहा है कि वह टीम में शामिल एक और क्रिकेटर के पुराने ट्वीट की जांच कर रहा है। उस क्रिकेटर ने 15 साल की उम्र में आपत्तिजनक ट्वीट किए थे। उस खिलाड़ी का नाम अभी सामने नहीं आया है। अब बटलर और मोर्गन का मामला भी सामने आ गया है।

कई खिलाड़ियों ने अकाउंट डिएक्टिवेट किए
पुराने ट्वीट सामने आने का सिलसिला शुरू होने के बाद इंग्लैंड के कुछ क्रिकेटरों ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट डिएक्टिवेट कर लिए हैं। बताया जा रहा है कि कई खिलाड़ी अपने पुराने ट्वीट्स डिलीट करने में जुटे हुए हैं।

मिल सकता है गलती कबूलो माफी पाओ का ऑफर
इंग्लिश मीडिया के अनुसार इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड अपने खिलाड़ियों के लिए गलती कबूलो, माफी पाओ का ऑफर दे सकता है। यानी जो खिलाड़ी खुद ही अपने पुराने ट्वीट्स या अन्य सोशल मीडिया पोस्ट का खुलासा कर माफी मांग ले तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं की जाएगी।

खबरें और भी हैं...