पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Former Captain Said Re scheduling The Test Match Is The Right Move, 13 Years Ago, England Also Showed Sportsmanship

सुनील गावस्कर को याद आया 26/11:पूर्व कप्तान ने कहा- मैनचेस्टर टेस्ट को रि-शेड्यूल करना BCCI का सही कदम, 13 साल पहले इंग्लैंड ने भी दिखाई थी खेल भावना

10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भारत और इंग्लैंड के बीच 5 टेस्ट मैच की सीरीज का आखिरी टेस्ट कोरोना के चलते रद्द कर दिया गया है। मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने के बाद पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने इस मैच के रि-शेड्यूल को लेकर BCCI के प्रस्ताव की सराहना की है।

5वें टेस्ट के रद्द होने के बाद BCCI ने बयान जारी कर कहा था- वह ECB के साथ इस मैच को बाद में आयोजित कराने की दिशा में काम करेगी। BCCI ने कहा- दोनों बोर्ड भारत-इंग्लैंड के बीच रद्द कर दिए गए पांचवें टेस्ट मैच को फिर से आयोजित करने की दिशा में काम करेंगे, खिलाड़ियों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं।

गावस्कर को याद आया 26/11
सुनील गावस्कर ने कहा कि, हमें इंग्लैंड द्वारा भारत दौरे को पूरा करने के लिए वापसी वाली उस भावना को नहीं भूलना चाहिए जब 2008 में 26/11 के मुंबई आतंकवादी हमलों के कारण सीरीज को बीच में ही रोक दिया गया था।

गावस्कर ने सोनी स्पोर्ट्स से बातचीत में कहा- हां, मुझे लगता है कि (रद्द किए गए टेस्ट को फिर से शेड्यूल करना) ये सही काम होगा। देखिए, हमें यह कभी नहीं भूलना चाहिए कि इंग्लैंड की टीम ने 2008 में 26/11 के भीषण हमले के बाद भारत में क्या किया था। वे वापस आए थे। वे यह कहने के पूरी तरह से हकदार होते कि 'हम सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे'। हम वापस नहीं आएंगे।

मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने से पहले भारत सीरीज में 2-1 से आगे चल रहा था।
मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने से पहले भारत सीरीज में 2-1 से आगे चल रहा था।

क्या हुआ था 2008 में
2008 में इंग्लैंड की टीम भारत के दौरे पर सात वनडे मैचों की सीरीज खेलने आई थी। उसी दौरान 26 नवंबर को आतंकवादियों ने मुंबई पर हमला किया, उस वक्त इंग्लैंड कटक में भारत के खिलाफ वनडे मैच खेल रही थी। इसके बाद सुरक्षा के मद्देनजर 7 मैचों की सीरीज के आखिरी दो वनडे रद्द कर दिए गए थे। इसके तुरंत बाद इंग्लैंड स्वदेश रवाना हो गई लेकिन बाद में ECB ने फ्रेंडली जेस्चर दिखाया और दिसंबर में भारत दौरे पर वापस आकर दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेली।

पीटरसन की हुई तारीफ
गावस्कर ने कहा कि उस समय इंग्लैंड के कप्तान केविन पीटरसन ने टेस्ट मैचों के लिए इंग्लैंड की वापसी के फैसले में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने कहा- कभी नहीं भूलना चाहिए कि पीटरसन ने टीम का नेतृत्व किया और वह लीडर थे। अगर केपी कहते- नहीं, मैं नहीं जाना चाहता, तो यह मामला खत्म हो गया होता।

पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा- ऐसा इसलिए था क्योंकि केपी जाने के लिए तैयार थे और उसने दूसरों को आश्वस्त किया, टीम आई और हमने चेन्नई में शानदार टेस्ट मैच देखा जिसमें भारत ने आखिरी दिन जीत के लिए 380 रनों का पीछा किया।

खबरें और भी हैं...