• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Former Pakistan Paceman Aaqib Javed On Wednesday Accused That The Primary Den Of Match fixing Is In India

रिपोर्ट:आकिब जावेद का आरोप- मैच फिक्सिंग माफियाओं के तार भारत से जुड़े, इसके खिलाफ आवाज उठाने से पाकिस्तान टीम में वापसी नहीं हुई

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज आकिब जावेद ने पाकिस्तान के एक चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि मैच फिक्सिंग के खिलाफ बोलने की वजह से कई बार मुझे जान से मारने की धमकी मिली। (फाइल) - Dainik Bhaskar
पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज आकिब जावेद ने पाकिस्तान के एक चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि मैच फिक्सिंग के खिलाफ बोलने की वजह से कई बार मुझे जान से मारने की धमकी मिली। (फाइल)

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज आकिब जावेद ने बुधवार को यह आरोप लगाया है कि मैच फिक्सिंग माफियाओं के तार भारत से जुड़े हैं। उन्होंने पाकिस्तानी चैनल जियो न्यूज को दिए इंटरव्यू में यह बात कही। 

जावेद ने अपने करियर को लेकर कहा कि मैं लगातार मैच फिक्सिंग के खिलाफ आवाज उठाता रहा। इसलिए टीम से बाहर होने के बाद दोबारा मेरी कभी वापसी नहीं हुई। इसमें शामिल लोगों ने मुझे धमकी दी थी अगर मैं चुप नहीं हुआ तो वे मेरे टुकड़े-टुकड़े कर देंगे। उन्होंने कहा कि अगर आप फिक्सिंग के खिलाफ बोलते हैं तो क्रिकेट में एक मुकाम तक ही जा सकते हैं। इसलिए मैं कभी पाकिस्तान क्रिकेट टीम का हेड कोच नहीं बन पाया। 

पीसीबी ने गलत लोगों की टीम में वापसी कराई

इस पूर्व गेंदबाज ने फिक्सिंग के दोषी खिलाड़ियों की पाकिस्तान टीम में वापसी पर पीसीबी को फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि मोहम्मद आमिर को इंग्लैंड में फिक्सिंग का दोषी पाया गया था। इसके अलावा सलमान बट्ट और मोहम्मद आसिफ को भी सजा हुई थी। लेकिन फिर आमिर की टीम में वापसी हो गई। ऐसी चीजें फिक्सिंग में शामिल लोगों का हौसला बढ़ाती है। 

'क्रिकेटरों को सजा हुई, माफियाओं का कुछ नहीं हुआ'
आकिब ने कहा कि फिक्सिंग की जड़ें बहुत गहरी हैं। जो एक बार इसमें घुस जाता है, वह कभी वापस नहीं लौटता। इसमें शामिल कई क्रिकेटरों को तो सजा हुई। लेकिन माफियाओं का कुछ नहीं हुआ जबकि सजा उनको भी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि क्रिकेट से इस बुराई को तभी खत्म किया जा सकता है। जब इसमें शामिल लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई के साथ आजीवन बैन लगे। 
बता दें कि जावेद इमरान खान की कप्तानी में 1992 में वर्ल्ड कप जीतने वाली पाकिस्तान टीम के सदस्य थे। उन्होंने 22 टेस्ट में 54 और 163 वनडे में 182 विकेट लिए थे। 

खबरें और भी हैं...