• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • ICC Cricket World Cup Recap: England' Eoin Morgan including 4 cricketers have played in World Cup for 2 Countries

क्रिकेट / अब तक 4 क्रिकेटर्स 2 देशों के लिए वर्ल्ड कप खेले, मॉर्गन इनमें इकलौते एक्टिव खिलाड़ी



ICC Cricket World Cup Recap:  England' Eoin Morgan including 4 cricketers have played in World Cup for 2 Countries
इयॉन मार्गन। इयॉन मार्गन।
X
ICC Cricket World Cup Recap:  England' Eoin Morgan including 4 cricketers have played in World Cup for 2 Countries
इयॉन मार्गन।इयॉन मार्गन।

  • इयॉन मॉर्गन ने पहला वर्ल्ड कप आयरलैंड की ओर से 2007 में खेला था
  • केप्लप वेसेल्स दो देशों की ओर से वर्ल्ड कप खेलने वाले पहले क्रिकेटर थे

Dainik Bhaskar

May 30, 2019, 05:15 PM IST

खेल डेस्क. इंग्लैंड के कप्तान इयॉन मॉर्गन अपना चौथी बार वर्ल्ड कप खेल रहे हैं। उन्होंने इंग्लैंड के लिए तीन वर्ल्ड कप खेले। वहीं, आयरलैंड की ओर से एक बार क्रिकेट के इस बड़े टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था। मॉर्गन दो देशों के लिए वर्ल्ड कप में खेलने वाले चौथे खिलाड़ी हैं। उनसे पहले एड जोएस, केप्लर वेसेल्स और एंडरसन कमिंस यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं। वर्ल्ड कप के 44 साल के इतिहास में सबसे ज्यादा टूर्नामेंट खेलने का रिकॉर्ड भारत के सचिन तेंदुलकर और पाकिस्तान के जावेद मियांदाद के नाम है। दोनों ने छह वर्ल्ड कप खेले।

 

इयॉन मॉर्गन (आयरलैंड और इंग्लैंड)
मॉर्गन का जन्म आयरलैंड के डबलिन में हुआ था। उन्होंने आयरलैंड के लिए 16 साल की उम्र में डेब्यू किया था। इसके चार साल बाद वे 2007 वर्ल्ड कप खेलने वेस्टइंडीज गए थे। वे आयरलैंड की वर्ल्ड कप टीम के सबसे युवा क्रिकेटर थे। उनके बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत आयरलैंड ने 2009 में 2011 वर्ल्ड कप के लिए क्वालिफाइ किया था। उसी साल उन्होंने आयरलैंड छोड़कर इंग्लैंड के लिए खेलना शुरू किया। 2011 वर्ल्ड कप में इंग्लिश टीम के लिए उन्होंने तीन मैच में दो अर्धशतक लगाए थे। वे 2015 वर्ल्ड कप टीम का भी हिस्सा थे।

 

केप्लर वेसेल्स (ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका)
दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान केप्लर वेसेल्स दो देशों की ओर से वर्ल्ड कप खेलने वाले पहले क्रिकेटर थे। वेसेल्स ने करियर की शुरुआत ऑस्ट्रेलिया के क्विंसलैंड में की। वे वहां से ऑस्ट्रेलिया की राष्ट्रीय टीम में चुने गए। 1982 में उन्होंने डेब्यू किया था। वेसेल्स को 1983 वर्ल्ड कप की टीम में भी चुना गया था। उस टीम की कप्तानी किम ह्यूज ने की थी। वेसेल्स इसके नौ साल बाद दोबारा वर्ल्ड कप टीम में चुने गए, लेकिन दूसरे देश के कप्तान के तौर पर। 1992 वर्ल्ड कप में वेसेल्स ने दक्षिण अफ्रीका की कप्तानी की थी। उन्हें 1995 में विजडन क्रिकेटर ऑफ द ईयर चुना गया था।

 

एड जॉएस (इंग्लैंड और आयरलैंड)
इंग्लैंड क्रिकेट के इतिहास में कई क्रिकेटर ऐसे रहे जो दूसरे देश से आकर खेले। इनमें एड जोएस इकलौते ऐसे खिलाड़ी हैं, जो इंग्लैंड से खेलने के बाद अपने राष्ट्रीय टीम के लिए खेले। जोएस 2007 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के टॉप ऑर्डर बल्लेबाज थे। वे 2011 वर्ल्ड कप में आयरलैंड की टीम में शामिल थे। आईसीसी से स्पेशल परमिशन लेकर उन्होंने आयरिश टीम को ज्वाइन किया था। जोएस 2015 वर्ल्ड कप भी आयरलैंड के लिए खेले थे।

 

एंडरसन कमिंस (वेस्टइंडीज और कनाडा)
एंडरसन कमिंस का जन्म वेस्टइंडीज के बारबाडोस में हुआ था। उन्होंने ऑलराउंडर के तौर पर 1991 में वेस्टइंडीज के लिए डेब्यू किया था। इसके बाद उन्हें 1992 वर्ल्ड कप टीम में भी शामिल किया गया था। इसके 15 साल बाद कमिंस आश्चर्यजनक रूप से कनाडा की टीम में शामिल थे। 2007 वर्ल्ड कप में वे 40 साल के थे। टीम की कमान जॉन डेविसन के हाथों में थी। कनाडा की टीम ग्रुप दौर में ही बाहर हो गई थी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना